इंटरसिटी चलने वाली ओवरनाइट एक्सप्रेस ट्रेनों की बढ़ेगी स्पीड, 250 KMPH होगी रफ्तार

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Tue, 13 Feb 2018 11:25 AM IST
Railway is planning to run overnight inter city train at the speed of 250 kilometer per hour
ख़बर सुनें
अगर आप एक शहर से दूसरे शहर की यात्रा करते हैं तो आपके लिए भारतीय रेलवे खुशखबरी लाया है। रेलवे अब ओवरनाइट इंटरसिटी ट्रेनों की रफ्तार 200-250 किलोमीटर प्रति घंटा करने की योजना बना रहा है। इस साल अप्रैल में हाई स्पीड कॉरिडोर्स की घोषणा होने वाली है। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने रेलवे बोर्ड को निर्देश दिया है कि वो ऐसे कॉरिडोर की पहचान करें और इसपर आने वाले खर्च को आधा करने पर काम करें।
एक सूत्र ने बताया कि रेलमंत्री की योजना अप्रैल में 10,000 किलोमीटर के नए हाई-स्पीड कॉरिडोर की घोषणा करना है जिसपर कि 200-250 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से ट्रेने दौड़ाई जा सकें। योजना यह है कि ट्रेन अपने गंतव्य स्थान पर समय से पहुंच जाए जिससे कि यात्री को ऑफिस पहुंचने के लिए पर्याप्त समय मिल सके। 

एक अधिकारी ने बताया कि रेलवे हाई-स्पी‍ड कॉरिडोर को बनाने में आने वाली लागत को आधा करने पर काम कर रहा है। इस समय प्रति किलोमीटर हाई-स्पीड कॉरिडोर बनाने में 100 करोड़ रुपए का खर्च आता है। रेलवे की कोशिश है कि वह इसे घटाकर आधे या उससे कम पर ले आए। इसके लिए कई योजनाओं पर काम जारी है। जिसमें सिंगल पिलर पर दो ट्रैक का कॉरिडोर बनाना और रेलवे की मौजूदा जमीन पर नए ट्रैक बिछाने की योजना शामिल है।

सीनियर अधिकारी ने कहा- इससे भूमि अधिग्रहण की कीमत में कमी आएगी जो कि नया कानून आने के बाद से किसी भी प्रोजेक्ट पर आने वाला सबसे ज्यादा खर्च है। इस समय मुंबई और पुणे के बीच चलने वाली इंटरसिटी ट्रेन तीन घंटे का समय लेती है। अगर इस यात्रा के समय को कम करके एक या डेढ़ घंटे तक कर दिया जाएगा तो उम्मीद है कि यात्री हाई-स्पीड ट्रेनों को चुनेंगे।

RELATED

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

India News

लोकसभा-विधानसभा चुनाव साथ कराने पर यह है चुनाव आयोग की सबसे बड़ी 'टेंशन'

वर्ष 2019 में यदि लोकसभा और विधानसभाओं के चुनाव एक साथ कराए गए, तो चुनाव आयोग को करीब 24 लाख इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) की जरूरत पड़ेगी।

27 मई 2018

Related Videos

गुजरात की 'बैट वुमेन', 400 चमगादड़ों को बनाया अपना परिवार

जहां एक तरफ केरल से शुरू हुए निपाह वायरस का खौफ पूरे भारत में है। वहीं दूसरी तरफ एक बुजुर्ग महिला ने चमगादड़ों को अपना परिवार बना लिया है। अहमदाबाद से करीब 50 किमी दूर स्थित राजपुर गांव की शांताबेन प्रजापति अपने घर में 400 चमगादड़ों के साथ रहती है।

27 मई 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे कि कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स और सोशल मीडिया साइट्स के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज़ नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज़ हटा सकते हैं और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डेटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy और Privacy Policy के बारे में और पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen