लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

विज्ञापन
Hindi News ›   India News ›   Rahul gandhi urges opposition to unite against bjp and rss

अपील: राहुल गांधी का विपक्ष को मंत्र, एकजुट रहेंगे तो आरएसएस और भाजपा हमें नहीं दबा सकेंगे

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: प्रशांत कुमार Updated Tue, 03 Aug 2021 12:12 PM IST
सार

लोकसभा चुनाव से पहले भाजपा सरकार को घेरने के लिए विपक्ष धीरे-धीरे एकजुट हो रहा है। विपक्षी दलों के नेता एक दूसरों से भेंट-मुलाकात कर रहे हैं। इसी सिलसिले में राहुल गांधी की अगुआई में विपक्षी दलों की बैठक हुई। बैठक में 14 दलों के नेता शामिल हुए। हालांकि, आम आदमी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी इससे दूरी बनाए दिखे। 

राहुल गांधी का साइकिल मार्च
राहुल गांधी का साइकिल मार्च - फोटो : सोशल मीडिया
ख़बर सुनें

विस्तार

कांग्रेस नेता राहुल गांधी की ओर से नाश्ते पर बुलाई गई बैठक के बाद विपक्षी नेता साइकिलों से संसद भवन पहुंचे। कंस्टीट्यूशन क्लब में आयोजित राहुल गांधी की अगुवाई में 14 दलों के नेता शामिल हुए। शिवसेना, एनसीपी, आरजेडी और सीपीआई समेत दलों के नेताओं के साथ राहुल गांधी ने सरकार को घेरने की रणनीति पर चर्चा की। इस दौरान राहुल गांधी ने विपक्षी नेताओं से एकजुट रहने की अपील की। उन्होंने कहा कि यदि हम लोग विपक्ष  के तौर पर एकजुट रहेंगे तो फिर आरएसएस और भाजपा हमारी आवाज को दबा नहीं सकेंगे। 



बैठक में राहुल गांधी के अलावा राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे, लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी, पार्टी के वरिष्ठ नेता केसी वेणुगोपाल, जयराम रमेश एवं कई सांसद, तृणमूल कांग्रेस के नेता कल्याण बनर्जी, समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता रामगोपाल यादव, शिवसेना नेता संजय राउत, राजद के मनोज झा, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रफुल्ल पटेल समेत 14 दलों के नेता शामिल हुए।


नाश्ते पर हुई इस बैठक में कुल 16 पार्टियों को न्यौता दिया गया था, लेकिन बसपा और आम आदमी पार्टी के नेता इस बैठक में शामिल नहीं हुए। इन दोनों पार्टियों के इस बैठक में शामिल नहीं होने के कारण का फिलहाल पता नहीं चल पाया है।

इस बैठक को लेकर खड़गे ने कहा कि संसद में सरकार को घेरने की साझा रणनीति पर चर्चा के लिए यह बैठक बुलाई गई थी। उन्होंने यह भी कहा कि विपक्षी दल एकजुट हैं।

कांग्रेस और अन्य विपक्षी दलों के नेताओं के साथ नाश्ते पर ऐसे समय बैठक की है जब पेगासस और कुछ अन्य मुद्दों को लेकर पिछले कई दिनों से संसद के दोनों सदनों में गतिरोध बना हुआ है। 19 जुलाई से मॉनसून सत्र आरंभ हुआ था। लेकिन, अब तक दोनों सदनों की कार्यवाही बाधित रही है।

विपक्षी दलों का कहना है कि पेगासस जासूसी मुद्दे पर पहले चर्चा कराने के लिए सरकार के तैयार होने के बाद ही संसद में गतिरोध खत्म होगा। संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने विपक्ष की मांग को खारिज करते हुए शुक्रवार को लोकसभा में कहा था कि यह कोई मुद्दा ही नहीं है।
विज्ञापन
 
सरकार का विपक्ष पर तीखा हमला
राहुल गांधी के साइकिल मार्च में कांग्रेस के अधीर रंजन चौधरी, कार्ति चिदंबरम, गौरव गोगोई समेत अन्य नेता इस मार्च में दिखाई दिए। बता दें कि संसद में पेगासस जासूसी कांड, महंगाई समेत अन्य मुद्दों को लेकर विपक्षी दलों के सांसदों का हंगामा लगातार जारी है। विपक्ष सरकार से इन मुद्दों पर जवाब की मांग कर रहा है, सरकार विपक्ष की मांगों को बेबुनियाद बता रही है। सरकार का कहना है कि संसद नहीं चलने देने से विपक्ष लोकतंत्र और जनता का  अपमान कर रहा है।   
 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00