लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

विज्ञापन
Hindi News ›   India News ›   Online gaming: ED raids company, freezes Rs 68 crore worth of deposits

Online gaming: मोबाइल गेम कंपनी पर ईडी का छापा, 68 करोड़ रुपये जब्त, ऐसे कर रही थी धोखाधड़ी

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: Amit Mandal Updated Tue, 27 Sep 2022 08:13 PM IST
सार

ईडी ने कोडा पेमेंट्स इंडिया प्राइवेट लिमिटेड (CPIPL) के तीन परिसरों की तलाशी ली और कहा कि कंपनी ने अब तक 2,850 करोड़ रुपये एकत्र किए हैं, जिसमें से 2,265 करोड़ रुपये बाहर भेजे गए हैं।  

प्रवर्तन निदेशालय
प्रवर्तन निदेशालय - फोटो : social media
ख़बर सुनें

विस्तार

प्रवर्तन निदेशालय ने मोबाइल गेम चलाने वाली एक कंपनी और उससे संबंधित संस्थाओं पर छापा मारने के बाद 68 करोड़ रुपये से अधिक की जमा राशि को जब्त कर लिया है। इस कंपनी ने कथित तौर पर बच्चों सहित कई लोगों को धोखा देकर उनसे अनधिकृत भुगतान निकालकर इन्हें सिंगापुर स्थानांतरित कर दिया। संघीय जांच एजेंसी ने एक बयान में कहा कि उसने मनी लॉन्ड्रिंग जांच के तहत कोडा पेमेंट्स इंडिया प्राइवेट लिमिटेड (CPIPL) के तीन परिसरों की तलाशी ली और कहा कि कंपनी ने अब तक 2,850 करोड़ रुपये एकत्र किए हैं, जिसमें से 2,265 करोड़ रुपये बाहर भेजे गए हैं।  



ईडी ने कहा कि कंपनी ने गरेना फ्री फायर, तीन पत्ती गोल्ड, कॉल ऑफ ड्यूटी जैसे मोबाइल गेम चलाए और कंपनी के खिलाफ कई पुलिस प्राथमिकियों के बाद उसके खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग का मामला दर्ज किया गया। आरोप है कि कोडा पेमेंट्स इंडिया प्राइवेट लिमिटेड वेब / गेमर्स से मोनेटाइजिंग और पैसा कमाने के नाम पर पैसे लेता था जिसमें अधिकतर बच्चे शामिल थे। ईडी ने कहा कि इन गेम यूजर्स को डिजिटल टोकन बेचे गए जिसका इस्तेमाल खेलने के अनुभव को बढ़ाने के लिए किया जाता था। 


गरेना और कोडा पेमेंट्स इंडिया प्राइवेट लिमिटेड जैसे गेम डेवलपर्स ने जानबूझकर भुगतान तंत्र को इस तरह से डिजाइन किया है कि पहले सफल लेनदेन के बाद, एक नोटिफिकेशन पॉप-अप होती है जो बिना किसी प्रमाणीकरण के बाद के भुगतान करने की अनुमति मांगती है। ईडी ने कथित धोखाधड़ी के तौर-तरीकों के बारे में बताते हुए कहा कि चूंकि बच्चे इन तकनीकी शर्तों से अवगत नहीं हैं, इसलिए वे नियमित रूप से नोटिफिकेशन पर क्लिक करते हैं और बिना किसी प्रमाणीकरण के भविष्य के सभी भुगतान करने की मंजूरी दे देते हैं। 'फ्री फायर' बनाने वाली गरेना की भारत में कोई कंपनी या उपस्थिति नहीं है और यह सिंगापुर से संचालित होती है। 

 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00