विज्ञापन

फांसी की खबर सुन निर्भया केस के चारों दोषियों की उड़ी नींद, ठीक से नहीं खा रहे खाना

जितेंद्र भारद्वाज, अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Tue, 10 Dec 2019 02:16 PM IST
Tihar Jail
Tihar Jail - फोटो : AmarUjala
ख़बर सुनें
निर्भया के साथ दरिंदगी की सारी हदें पार करने वाले तिहाड़ जेल में बंद चारों दोषियों की नींद उड़ गई है। मीडिया में चल रही फांसी की खबरें दोषियों तक पहुंच रही हैं। हालांकि अभी उन्हें अलग सेल में रखा गया है, लेकिन दिनचर्या के दौरान जब वे दूसरे कैदियों से मिलते हैं, तो कोई न कोई उनके सामने फांसी का जिक्र कर देता है। नतीजा, वे अब घबराने लगे हैं। चारों दोषी ठीक से खाना नहीं खा पा रहे हैं।
विज्ञापन
जेल के विश्वस्त सूत्रों के अनुसार जिस सेल में ये दोषी बंद हैं, वहां की जा रही अतिरिक्त सुरक्षा व्यवस्था ने भी इन्हें बेचैन कर दिया है। इनके सेल में सीसीटीवी लगाने के अलावा देर रात तक जेलकर्मी भी वहां आते रहते हैं। रात का खाना भी सेल में ही पहुंचाया जा रहा है। इन सबके चलते चारों दोषियों को भी अब यह लगने लगा है कि उन्हें जो खबर मिल रही है, वह सही है।

एक दोषी मंडोली से तिहाड़ शिफ्ट

बता दें कि अभी तक चारों दोषियों के डेथ वारंट जारी नहीं हुए हैं, लेकिन बताया जा रहा है कि इन पर किसी भी वक्त साइन हो सकते हैं। निर्भया के चार दोषियों में से एक पवन को मंडोली की जेल नंबर-14 से तिहाड़ की जेल नंबर-2 में शिफ्ट कर दिया गया है। इसी जेल में निर्भया के चार दोषियों में से दो अक्षय और मुकेश भी बंद हैं। चौथे आरोपी विनय शर्मा को जेल नंबर-4 में रखा गया है। तिहाड़ की जेल नंबर 3 में फांसी दी जाती है। सूत्रों के मुताबिक, फांसी वाले प्लेटफार्म पर कई बदलाव किए जा रहे हैं। खासतौर से लीवर खींचने के उपकरण और लकड़ी वाले फट्टे को भी बदलने की बात कही गई है।

लीवर के हैंडल और शॉफ्ट, जैसे उपकरण जो पानी आने के कारण जाम हो चुके थे, उन्हें दोबारा से खोलकर ठीक किया जा रहा है। फांसी का प्लेटफार्म खुले में स्थित है और इस वजह से यहां बरसात का पानी आता रहता है। लंबे समय से यहां कोई फांसी नहीं दी गई है, इसलिए लीवर आदि उपकरण जंग खा चुके हैं। रस्सी का ऑर्डर भी दे दिया गया है।

देर रात तक चक्कर काटते रहते हैं चारों 

फांसी की खबर सुनकर चारों दोषी अपने अपने सेल में देर रात तक चक्कर काटते रहते हैं। अब इनका खाना भी अलग से आता है, प्रतिदिन सेल की मैनुअल जांच हो रही है, इन सबके चलते ये चारों इतना तो समझ गए हैं कि अब किसी भी वक्त कोई आदेश आ सकता है। सूत्र बताते हैं कि दोषी अक्षय और पवन तो खाना ठीक से नहीं पा रहे हैं। इन चारों को जेल मैनुअल के हिसाब से ही खाना दिया जा रहा है। दो सप्ताह पहले तक दोषी मुकेश और विनय शर्मा की जो डाइट थी, अब उसमें कुछ बदलाव देखा गया है।

जब भी कोई सुरक्षाकर्मी इनके सेल में पहुंचता है, तो ये तुरंत खड़े हो जाते हैं। उसके बाद बहुत धीमी आवाज में पूछते हैं कि कोई आदेश आया है। रूटीन से हटकर की जा रही मेडिकल जांच ने भी इनकी चिंता बढ़ा दी है। सुरक्षाकर्मी की रिपोर्ट पर एक दिन में कई बार मेडिकल जांच हो सकती है। यदि इनके व्यवहार में कोई बड़ा बदलाव नजर आता है, तो डॉक्टर बिना कोई देरी किए सेल में पहुंच जाता है।

सूत्र बताते हैं कि अभी तक किसी भी दोषी को कोई दवा नहीं दी गई है, लेकिन इन्हें तरल पदार्थ और ठोस भोजन इस तरह से दिया जा रहा है कि इनका रक्तचाप संतुलन में रहे। जेल में डेथ वारंट पहुंचने के बाद इनके परिजनों को सूचित किया जाएगा।
 
विज्ञापन

Recommended

आईआईटी से कम नहीं एलपीयू, जानिए कैसे
LPU

आईआईटी से कम नहीं एलपीयू, जानिए कैसे

मौनी अमावस्या पर गया में कराएं तर्पण, हर तरह के ऋण से मिलेगी मुक्ति : 24 जनवरी 2020
Astrology Services

मौनी अमावस्या पर गया में कराएं तर्पण, हर तरह के ऋण से मिलेगी मुक्ति : 24 जनवरी 2020

विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

India News

राष्ट्रीय बाल पुरस्कार विजेताओं से मिले पीएम मोदी, बोले- आपके साहसिक कार्यों से मुझे प्रेरणा मिलती है

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज नई दिल्ली में अपने आवास पर राष्ट्रीय बाल पुरस्कार विजेता 49 बच्चों से मुलाकात की। उन्होंने कहा कि आपके काम से मुझे भी प्रेरणा मिलती है। मैं आपनी कहानी सोशल मीडिया पर शेयर करूंगा।

24 जनवरी 2020

विज्ञापन

चीन से फैले कोरोनावायरस की चपेट में केरल की नर्स, चीन में भारतीयों के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी

तेजी से फैल रहे कोरोनावायरस से चीन में हाहाकार मच गया है। अब तक इस वायरस से मरने वालों की संख्या बढ़कर 25 हो गई है। इसी बीच सऊदी अरब के अल हयात अस्पताल में केरल की नर्स भी कोरोनावायरस की चपेट में आ गई है।

24 जनवरी 2020

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us