लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

विज्ञापन
Hindi News ›   India News ›   Mumbai: 68 CBI employees coronavirus infected, Infected people taking the vaccine are recovering in five days, BMC s plan for oxygen crisis

आमची मुंबई : सीबीआई के 68 कर्मियों को हुआ कोरोना, टीका लेने वाले संक्रमित पांच दिन में हो रहे ठीक

एजेंसी, मुंबई। Published by: योगेश साहू Updated Sun, 09 Jan 2022 12:50 AM IST
सार

मुंबई में दूसरी लहर की तुलना में इस बार संक्रमण दर 12 फीसदी अधिक है लेकिन मृत्यु दर काफी कम है, जबकि रोजाना 20 हजार से अधिक लोग कोरोना संक्रमित हो रहे हैं। लेकिन टीका लगवाने वाले मरीजों के भर्ती होने का आंकड़ा महज 4 फीसदी है।

प्रतीकात्मक तस्वीर।
प्रतीकात्मक तस्वीर। - फोटो : अमर उजाला

विस्तार

केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) के मुंबई कार्यालय के 68 कर्मचारी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। एक अधिकारी ने बताया कि बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) से बांग्रा-कुर्ला कॉम्पलेक्स में काम करने वाले 235 कर्मचारियों की कोविड जांच करवाने के लिए कहा गया था। इसके बाद 68 कर्मचारियों में संक्रमण की पुष्टि हुई है।

 

ओमिक्रॉन का कहर 
कोरोनारोधी टीके की खुराक न लेने वालों के लिए कोविड-19 का ओमिक्रॉन स्वरूप घातक साबित हो रहा है। आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक मुंबई के अस्पतालों में 96 फीसदी ऐसे मरीज ऑक्सीजन सपोर्ट पर है जिन्होंने अभी तक टीके की एक भी खुराक नहीं ली है। जबकि जिन्होंने कोरोनारोधी टीका लगवाया है उनमें अधिकांश लोगों को अस्पताल में भर्ती होने की जरूरत नहीं पड़ रही है। मुंबई में कोरोना की दूसरी लहर के हीरो रहे बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) आयुक्त इकबाल सिंह चहल का कहना है कि बृहस्पतिवार तक अस्पतालों में ऑक्सीजन बेड पर भर्ती 1900 कोरोना मरीजों में से 96 फीसदी मरीज ऐसे हैं जिन्होंने टीका नहीं लगवाया है। 



बीएमसी के पास 1150 मीट्रिक टन लिक्विड ऑक्सीजन का स्टॉक
कोरोना की दूसरी लहर में मुंबई में ऑक्सीजन के प्रबंधन के लिए सुप्रीम कोर्ट ने भी बीएमसी की तारीफ की थी। इस बार भी बीएमसी ने पिछली बार की तुलना में तीन गुना अधिक 690 मीट्रिक टन प्रतिदिन ऑक्सीजन आपूर्ति की व्यवस्था की है। बीएमसी के अतिरिक्त आयुक्त सुरेश काकानी कहते हैं कि इसके लिए हमने 1150 मीट्रिक टन लिक्विड ऑक्सीजन की व्यवस्था कर ली है। हालांकि मौजूदा समय में 10 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की भी आवश्यकता नहीं है। जबकि दूसरी लहर के दौरान प्रतिदिन 235 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की खपत थी।
 

टीका लेने वाले संक्रमित पांच दिन में हो रहे ठीक  
मुंबई में टीका लगवाने के बाद जो कोरोना संक्रमित हो रहे है उनमें से ऐसे बहुत कम मरीज हैं जिन्हें अस्पताल में भर्ती होना पड़ रहा है। अगर मरीज भर्ती भी हो रहा है तो पांच दिन में उसे अस्पताल से छुट्टी मिल जाती है। बीएमसी अधिकारियों के अनुसार मुंबई में लगभग पूरी पात्र आबादी को टीका लगाया जा चुका है, जबकि 89 फीसदी लोगों को कोरोनारोधी टीके की दूसरी खुराक भी दी जा चुकी है। बीएमसी आयुक्त चहल कहते हैं कि जिन्होंने दोनो खुराक ली है उन्हें न तो अस्पताल में भर्ती होने की और न ही ऑक्सीजन बेड की जरूरत पड़ रही है।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00