विज्ञापन
विज्ञापन

युद्ध हुआ तो कितनी देर तक टिकेगा पाकिस्तान, जानिए दोनों देशों की सैन्य ताकत

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Tue, 26 Feb 2019 01:40 PM IST
Narendra Modi-Imran Khan
Narendra Modi-Imran Khan
ख़बर सुनें
पुलवामा आतंकी हमले के 12 दिनों बाद भारत ने पाकिस्तान में घुसकर कई आतंकी ठिकानों को नष्ट कर दिया है। वायुसेना ने पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) के क्षेत्र को पार करके पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा के बालाकोट में जैश के सबसे पुराने कैंप पर हमला किया है। कैंप का मुखिया अजहर मसूद का साला यूसुफ अजहर था। 
विज्ञापन
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा था कि अगर भारत हमला करता है तो पाकिस्तान चुप नहीं बैठेगा। पाकिस्तान भी इसका जवाब देगा। पुलवामा में सीआरपीएफ जवानों पर हुए आतंकी हमले के बाद भारत-पाक संबंध और तल्ख हो गए हैं। गौरतलब है कि 1947 में बंटवार के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच दो लड़ाई हो चुकी है। दोनों देशों की सैन्य ताकत का आकलन करते हैं। 

दुनिया भर के देशों की सैन्य ताकत का सालाना आकलन करने वाली संस्था ग्लोबल फायर पावर के मुताबिक पाकिस्तान भारत के सामने कहीं नहीं ठहरता। पाकिस्तान की सैन्य शक्ति हर लिहाज में भारत से आधी है। ग्लोबल फायर पावर के 2018 के इंडेक्स में यह जानकारी सामने आई थी।

पाकिस्तान के पास जहां 1,281 लड़ाकू विमान हैं, वहीं भारत के पास 2,185 लड़ाकू विमान हैं। भारत के पास 4,426 टैंक हैं जबकि पाकिस्तान के पास सिर्फ 2182 टैंक हैं। 136 देशों के इंडेक्स में भारत चौथे स्थान पर है। वहीं इस सूची में पाकिस्तान 17वें स्थान पर है। 

भारत-पाकिस्तान की सैन्य क्षमता
  भारत पाकिस्तान
सैनिक 13.6 लाख 6.37 लाख
टैंक 4426 2182
युद्धपोत 295 197
लड़ाकू विमान 2185 1281
हेलीकॉप्टर 720 328
रक्षा खर्च 41 खरब 23 अरब रुपये 7 खरब 81 अरब रुपये
 

भारत का रक्षा बजट पाक से की गुना ज्यादा

इंटरनैशनल इंस्टिट्यूट ऑफ स्ट्रैटेजिक स्टडीज (आईआईएसएस) के अनुसार भारत ने अपने 14 लाख सक्रिय सैनिकों के लिए 2018 में 58 अरब डॉलर (41 खरब 23 अरब एक करोड़ 70 लाख रुपये) का रक्षा बजट पारित किया था। यह धन राशि भारत की जीडीपी का 2.1 फीसदी है।

वहीं, पिछले साल पाकिस्तान ने अपने 6,53,000 सैनिकों के लिए 11 अरब डॉलर (7 खरब 81 अरब 95 करोड़ रुपये) का रक्षा बजट पास किया था। यह धन राशि पाकिस्तान की जीडीपी का 3.6 फीसदी है। पाकिस्तान को साल 2018 में 10 लाख डॉलर (सात करोड़ 10 लाख रुपये) की सैन्य सहायता भी मिली थी। 

स्टॉकहोम इंटरनैशनल पीस रिसर्च इंस्टिट्यूट ( एसआईपीआरआई) के अनुसार साल 1993 से 2006 के बीच पाकिस्तान ने सेना पर अपनी बजट का 20 फीसदी से अधिक हिस्सा खर्च किया है। इसके मुताबिक साल 2017 में सरकारी खर्च में 16.7 फीसदी हिस्सा सेना पर खर्च किया गया था। वहीं भारत ने उसी अवधि के दौरान अपने  बजट का 12 फीसदी हिस्सा रक्षा पर खर्च किया था, जबकि साल 2017 में यह 9.1 फीसदी था। 
विज्ञापन

Recommended

पीरियड्स है करोड़ों लड़कियों के स्कूल छोड़ने का कारण
Niine

पीरियड्स है करोड़ों लड़कियों के स्कूल छोड़ने का कारण

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा और घर बैठें पाएं प्रसाद : 27-अक्टूबर-2019
Astrology Services

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा और घर बैठें पाएं प्रसाद : 27-अक्टूबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

India News

भाजपा ने मतगणना से पहले ही शुरू की जश्न की तैयारी, पार्टी मुख्यालय में बनाए जा रहे लड्डू

महाराष्ट्र में कल विधानसभा चुनाव के लिए मतगणना होनी है। मतगणना से पहले ही महाराष्ट्र की भाजपा इकाई ने मुंबई में पार्टी मुख्यालय में जीत के जश्न की तैयारी शुरू कर दी है। भाजपा के पदाधिकारियों ने मुख्यालय में 5000 'लड्डू' बनाने शुरू कर दिए हैं।

23 अक्टूबर 2019

विज्ञापन

महाराष्ट्र-हरियाणा के सिर्फ चुनावी नतीजे नहीं पूरा विश्लेषण सुबह 8 बजे से लगातार

अब महाराष्ट्र और हरियाणा चुनाव नतीजों के लिए आपको टीवी के सामने बैठे रहने की जरूरत नहीं है।

23 अक्टूबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree