लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

विज्ञापन
Hindi News ›   India News ›   militant fired on Assam Rifles troops from Indo-Myanmar Border

Myanmar border Firing: अरुणाचल और नगालैंड में म्यांमार सीमा पार से गोलीबारी, असम राइफल्स का जेसीओ घायल

एन. अर्जुन, अमर उजाला, तेजपुर Published by: सुरेंद्र जोशी Updated Tue, 09 Aug 2022 07:41 PM IST
सार

असम के तेजपुर स्थित रक्षा जनसंपर्क अधिकारी ने बताया कि गोलीबारी में सेना के एक जेसीओ के हाथ में मामूली चोट आई है। किसी अन्य क्षति की फिलहाल सूचना नहीं है। 

assam rifles
assam rifles - फोटो : social media
ख़बर सुनें

विस्तार

पूर्वोत्तर के दो राज्यों में मंगलवार भारत-म्यांमार सीमा पर सुबह आतंकवादियों ने असम राइफल्स के शिविर पर हमले किए गए। इसके बाद आतंकवादियों और सु्रक्षाबलों में जबरदस्त मुठभेड़ हुई। सुरक्षाबलों और आतंकवादियों में पहली मुठभेड़ अरुणाच प्रदेश के पंगसौ दर्रे में हुई, जबकि गोलीबारी की दूसरी घटना नगालैंड के नोकलाक जिले में घटी। यह घटना पूर्वोत्तर के आतंकी संगठनों द्वारा स्वतंत्रता दिवस के बहिष्कार के आह्वान के कुछ दिनों में हुई है। 



जानकारी के मुताबिक, आतंकियों ने मंगलवार सुबह अरुणाचल प्रदेश के चांगलांग जिले के तिराप इलाके में भारत-म्यांमार सीमा पार से असम राइफल्स के जवानों पर गोलीबारी की गई। सुरक्षाबलों ने जवाबी कार्रवाई की। एक जेसीओ के घायल होने की खबर है।


सूत्रों से मिली खबर के मुताबिक ‘नेशनल सोशलिस्ट काउंसिल ऑफ नागालैंड’ (एनएससीएन-केवाईए) और ‘यूनाइटेड लिबरेशन फ्रंट ऑफ असम’ उल्फा (आई) के आतंकियों के एक समूह ने असम राइफल्स कैंप पर गोलीबारी की। उग्रवादियों ने शिविर पर हमला करने के लिए रॉकेट से चलने वाले ग्रेनेड और लाथोड बमों का उपयोग किया। जिसके बाद असम राइफल्स के जवानों ने जवाबी गोलीबारी की और उग्रवादियों पर तोबड़तोड़ गोलिया बरसाईं।

इसी तरह से मंगलवार को नागालैंड में आतंकवादियों ने भारत-म्यांमार सीमा पर नगालैंड के नोकलाक जिले के दान पांग्शा इलाके में असम राइफल्स के जवानों पर हमला किया। इसके बाद, क्षेत्र में असम राइफल्स के जवानों और आतंकवादियों के बीच भारी गोलाबारी हुई।

सुरक्षाबलों ने इन हमलों को अंजाम देने वाले उग्रवादियों का पता लगाने के लिए भारत-म्यांमार सीमा पर पास एक बड़ा अभियान शुरू किया है। बता दें कि पंगसौ दर्रा अरुणाचल प्रदेश के सबसे दूरस्थ इलाकों में शामिल है। पूर्वोत्तर के अधिकतर उग्र समूहों के कैंप म्यांमार के जंगलों में ही हैं।

 

खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00