विज्ञापन
विज्ञापन

पीएम मोदी का पित्रोदा और अय्यर पर हमला- नामदार परिवार के दो 'दरबारी' कर रहे बैटिंग, पढ़ें बड़ी बातें

चुनाव डेस्क, अमर उजाला Updated Wed, 15 May 2019 01:57 PM IST
PM Narendra Modi
PM Narendra Modi - फोटो : अमर उजाला
ख़बर सुनें
झारखंड में बाबा वैद्यनाथ की धरती देवघर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस को निशाने पर लिया। उन्होंने देवघर को रेल और हवाई मार्ग से जोड़े जाने को लेकर भाजपा के विकास कार्य गिनाए। उन्होंने पिछले दिनों 1984 के सिख दंगे पर विवादास्पद बयान देने वाले सैम पित्रोदा और उन्हें 'नीच' कहने वाले मणिशंकर अय्यर को भी निशाने पर लिया। 

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि 

  • विरोधियों के बीच नाखून काटकर शहीद होने की होड़ मची हुई है। 
    विज्ञापन
     
  • कांग्रेस ने नतीजों की तैयार भी शुरु कर दी है। हार के बाद उसका ठीकरा किसके सिर पर फोड़े इसकी तैयारी कांग्रेस कर रही है। नामदार को बचाने के लिए क्या किया जाए इसके लिए वहां अभ्यास चल रहा है। 
     
  • पांचवे चरण के बाद ही नामदार परिवार के दो सबसे करीबी दरबारियों ने अपनी तरफ से बैटिंग शुरु कर दी है। वरना इनकी हिम्मत नहीं है कि कप्तान से पूछे बिना मैच खेलने उतर जाए। एक नामदार के गुरु(सैम पित्रोदा) हैं, उन्होंने सिखों की भावनाओं की मजाक उड़ाते हुए कहा- हुआ तो हुआ।
     
  • दूसरे बल्लेबाज(मणिशंकर अय्यर), गुजरात चुनाव के दौरान हिट विकेट होने के बाद से ही मैदान से बाहर थे। मुझे गाली देने के बाद से छिपे हुए थे। वो भी अब मैदान में पहुंच गए हैं और जमकर मुझे गालियां दे रहे हैं।
     
  • घोटाले का एक दाग हमारी सरकार पर नहीं है और जब ये बात मैं बाबा धाम में कह रहा हूं तो मुझे गर्व हैं कि उनके इस भक्त को ईमानदार सरकार का नेतृत्व करने का देश की जनता ने सौभाग्य दिया है।
     
  • मैं अपने आदिवासी भाई-बहनों को फिर बता दूं कि वोट के लिए ये महामिलावटी किसी को भी ठग सकते हैं। जब तक मोदी है तब तक आपकी जमीन, आपके हक को कोई हाथ नहीं लगा पाएगा।
     
  • बाबाधाम का विकास करने के लिए और यहां सुविधाओं का विकास करने के लिए हम पूर्णतः प्रतिबद्ध हैं। यही कारण हैं कि यहां रेल और रोड के साथ एयरपोर्ट पर भी काम किया जा रहा है।
     
  • राष्ट्र रक्षा जैसे विषयों पर भी कांग्रेस और महामिलावटियों के मुंह पर ताला लग गया है। आतंकवाद ऐसी चुनौती है जिसका कड़ाई से मुकाबला जरूरी है। लेकिन कांग्रेस की नीतियां ऐसी रही हैं कि वो आतंकवाद और नक्सलवाद को कुचल नहीं सकती। 
     
  • कांग्रेस अब देशद्रोह का कानून भी खत्म करना चाहती है। कांग्रेस पत्थरबाज़ों, आतंकियों और उनके समर्थकों, नक्सलियों और उन्हें खाद पानी देने वालों को खुली छूट देना चाहती है। भाजपा इन्हें ऐसा कतई करने नहीं देगी। हम नई रीति, नई नीति पर चल रहे हैं।
 
विज्ञापन
आगे पढ़ें

बिहार में बोले पीएम मोदी- 'नामदारों' के पास कहां से आई करोड़ों की संपत्ति

विज्ञापन

Recommended

देखिये लोकसभा चुनाव 2019 के LIVE परिणाम विस्तार से
Election 2019

देखिये लोकसभा चुनाव 2019 के LIVE परिणाम विस्तार से

जानिए अपने शहर के लाइव नतीजों की पल-पल की खबर
Election 2019

जानिए अपने शहर के लाइव नतीजों की पल-पल की खबर

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

लोकसभा चुनाव 2019 (lok sabha chunav 2019) के नतीजों में किसने मारी बाजी? फिर एक बार मोदी सरकार या कांग्रेस की चुनावी नैया हुई पार? सपा-बसपा ने किया यूपी में सूपड़ा साफ या भाजपा का दम रहा बरकरार? सिर्फ नतीजे नहीं, नतीजों के पीछे की पूरी तस्वीर, वजह और विश्लेषण। 23 मई को सबसे सटीक नतीजों  (lok sabha chunav result 2019) के लिए आपको आना है सिर्फ एक जगह- amarujala.com  Hindi news वेबसाइट पर.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

India News

सुनामी जीत हासिल करने वाले नरेंद्र मोदी कैबिनेट में इन चेहरों को मिल सकती है जगह

लोकसभा चुनाव में सुनामी जीत हासिल करने वाले नरेंद्र मोदी की नई कैबिनेट में इस बार कई नए युवा चेहरों को जगह मिलेगी तो दूसरी ओर कैबिनेट में कुछ बड़े नेताओं की जिम्मेदारी बदले जाने की भी चर्चाएं हैं।

24 मई 2019

विज्ञापन

पूर्व प्रधानमंत्री समेत इन दिग्गजों को भी मिली हार

2019 लोकसभा चुनाव के परिणाम बेहद आश्चर्यजनक रहे। भाजपा ने एक तरफ अकेले दम पर पूर्ण बहुमत हासिल किया वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस खुद को विपक्ष में खड़े होने लायक भी सीटें इकट्ठा नहीं कर पाई।

24 मई 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election