विज्ञापन
विज्ञापन

कर्नाटक सरकार को बचाने की कोशिश नाकाम, नहीं माने कांग्रेस के बागी विधायक नागराज

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, बंगलूरू/मुंबई Updated Mon, 15 Jul 2019 06:12 AM IST
एमटीबी नागराज (फाइल फोटो)
एमटीबी नागराज (फाइल फोटो) - फोटो : पीटीआई
ख़बर सुनें
कर्नाटक में विधायकों के इस्तीफे से शुरू हुए 'नाटक' को करीब एक सप्ताह बीत गया है, आज कांग्रेस के बागी विधायक एमटीबी नागराज को मनाने की भी कोशिशें की गईं, लेकिन कोई हल नहीं निकला। नागराज ने शनिवार को जी परमेश्वर, सिद्धारमैया और डीके शिवकुमार के साथ मुलाकात की थी। इस दौरान ने अपने तेवर नरम करने के संकेत दिए थे, लेकिन बाद में वह यह कहते हुए चले गए कि त्यागपत्र वापस लेने का सवाल ही नहीं उठता है।  
विज्ञापन
कांग्रेस-जदएस गठबंधन के नेताओं ने शनिवार को नागराज से बातचीत की थी ताकि कर्नाटक में एचडी कुमारस्वामी नेतृत्व वाली सरकार को बचाने के लिए उन्हें मनाया जा सके। बता दें कि नागराज और सुधाकर ने एक साथ 10 जुलाई को विधानसभा अध्यक्ष केआर रमेश कुमार को इस्तीफा दिया था। 

अपने फैसले पर अडिग हूं : नागराज

शहर से रवाना होने से पहले होस्कोटे के विधायक नागराज ने मीडिया से कहा कि वह चिकबल्लापुर के विधायक के सुधाकर से बातचीत करने के बाद अपना इस्तीफा वापस लेने पर अंतिम फैसला लेना चाहते हैं। लेकिन, बाद में नागराज ने मुंबई में कहा कि उनके त्यागपत्र वापस लेने का सवाल ही नहीं उठता है और वह अपने फैसले पर अडिग हैं। 

नागराज ने कहा कि इस्तीफा देने वाले सभी विधायक एकजुट हैं। उन्होंने इससे इनकार किया कि विशेष विमान में भाजपा के वरिष्ठ नेता आर अशोक उनके साथ थे। इससे भी मना किया कि उनके इस्तीफे के पीछे भगवा पार्टी का दबाव है। हालांकि, नागराज ने स्वीकार किया कि अगर सुधाकर मान गए तो वह अपना इस्तीफा वापस ले लेंगे, लेकिन यह भी कहा कि वह अपने त्यागपत्र पर अब अडिग हैं। 

बागी विधायक सोमशेखर ने कहा इस्तीफा वापस लेने की बातें बेबुनियाद

इससे पहले दिन में, कांग्रेस विधायक और पूर्व मंत्री एचके पाटिल ने कहा था, ‘नागराज को जरूर सुधाकर के मुंबई में होने की जानकारी मिली होगी और मुझे लगता है कि वह अन्य विधायकों को वापस लाने के लिए गए होंगे।’ अन्य विधायकों को इस्तीफा वापस लेने के लिए मनाने के लिए नागराज के मुंबई जाने संबंधी खबरों के बारे में कांग्रेस के बागी विधायक एसटी सोमशेखर ने कहा कि इस तरह के दावे बेबुनियाद हैं। उन्होंने कहा कि 12 बागी विधायक मुंबई में हैं और सुधाकर दिल्ली में हैं और जल्द ही उनके साथ जुड़ेंगे । 

मुंबई के लिए रवाना होने से पहले नागराज ने कहा, ‘सुधाकर ने अपना फोन बंद कर लिया है और पिछले दो दिन से उनसे कोई संपर्क नहीं हो पाया है। सुधाकर को समझा-बुझा कर, मैं उन्हें वापस लाने की कोशिश करूंगा। क्योंकि हम दोनों ने इस्तीफा दिया था इसलिए हम एक साथ रहना चाहते हैं। मैंने कांग्रेस नेताओं को इसकी जानकारी दे दी है।’ 

कुमारस्वामी द्वारा विधानसभा में विश्वास मत हासिल करने को लेकर अचानक घोषणा करने के एक दिन बाद गठबंधन के नेताओं ने नागराज के साथ एक के बाद एक बैठकें की। इन बैठकों में सिद्धारमैया, कुमारस्वामी और मंत्री डीके शिवकुमार भी थे। 

विधानसभा अध्यक्ष पर लगाया था इस्तीफा स्वीकार न करने का आरोप

नागराज कांग्रेस के उन पांच बागी कांग्रेस विधायकों में शामिल हैं, जिन्होंने विधानसभा अध्यक्ष केआर रमेश कुमार पर उनका इस्तीफा स्वीकार नहीं करने का आरोप लगाते हुए सुप्रीम कोर्ट का रुख किया है। 

सत्तारूढ़ गठबंधन में अध्यक्ष को छोड़कर कुल 116 विधायक (कांग्रेस के 78, जद(एस) के 37 और बसपा के एक) हैं। दो निर्दलीय विधायकों के समर्थन के साथ 224 सदस्यीय सदन में भाजपा के विधायकों की संख्या 107 है।

बागी विधायकों का इस्तीफा मंजूर करने के डर के चलते कांग्रेस-जदएस गठबंधन सरकार पर खतरे के बादल मंडरा रहे हैं। अगर 16 विधायकों के इस्तीफे मंजूर किए जाते हैं तो गठबंधन के विधायकों की संख्या घटकर 100 रह जाएगी।
विज्ञापन

Recommended

फैशन इंडस्ट्री दे रही है खास मौके, इन्वर्टिस संग करें खुद को तैयार
Invertis university

फैशन इंडस्ट्री दे रही है खास मौके, इन्वर्टिस संग करें खुद को तैयार

अपनी संतान की लंबी आयु के लिए इस जन्माष्टमी मथुरा में संतान गोपाल पाठ और हवन करवाएं - 24 अगस्त 2019
Astrology Services

अपनी संतान की लंबी आयु के लिए इस जन्माष्टमी मथुरा में संतान गोपाल पाठ और हवन करवाएं - 24 अगस्त 2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

India News

अमित शाह ने मुस्लिम महिलाओं से मांगी माफी, जानिए क्या है वजह

तीन तलाक विरोधी कानून को मुस्लिम समाज के लिए एक बड़े सुधार के तौर पर देखा जा रहा है।

18 अगस्त 2019

विज्ञापन

उत्तराखंड में बारिश का कहर, नदिया बनीं सैलाब, हर तरफ तबाही का मंजर

बारिश से उत्तराखंड में तबाही का आलम है। बारिश की वजह से सड़कें टूट चुकी हैं। पुल के ऊपर से पानी बह रहा है। कई पहाड़ दरक गए हैं। मकान के अंदर घुसकर पानी ने तबाही मचाई है।

18 अगस्त 2019

Related

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree