लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

विज्ञापन
Hindi News ›   India News ›   Gujarat Election 2022: From 'Aukat', 'Ravana' to Saddam, arrows of such statements in Gujarat elections

Gujarat Election 2022: ‘औकात’, ‘रावण’ से 'सद्दाम' तक, गुजरात चुनाव में ऐसे चले बयानों के तीर, जिन पर हुआ बवाल

इलेक्शन डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: हिमांशु मिश्रा Updated Thu, 01 Dec 2022 06:02 AM IST
सार

पहले चरण के चुनाव प्रचार में नेताओं के बयानों ने खूब खलबली मचाई। काफी बवाल हुआ जो अब तक जारी है। आज हम आपको ऐसे ही कुछ बयानों के बारे में बताएंगे, जिनकी सियासी गलियारे में खूब चर्चा हुई। 

गुजरात विधानसभा चुनाव 2022
गुजरात विधानसभा चुनाव 2022 - फोटो : अमर उजाला

विस्तार

गुजरात के 19 जिलों की 89 विधानसभा सीटों पर आज पहले चरण का मतदान होना है। कुल 788 प्रत्याशी मैदान में हैं। चुनाव में जीत हासिल करने के लिए राजनीतिक दलों ने हर तरह के प्रयास किए। एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप का लंबा दौर चला।  


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लेकर राहुल गांधी और अरविंद केजरीवाल तक चुनावी मैदान में प्रचार के लिए डटे रहे। इस बीच, नेताओं ने कुछ ऐसे भी बयान दिए, जिनसे सियासी हलचल तेज हो गई। पहले चरण के चुनाव प्रचार में नेताओं के बयानों ने खूब खलबली मचाई। काफी बवाल हुआ जो अब तक जारी है। आज हम आपको ऐसे ही कुछ बयानों के बारे में बताएंगे, जिनकी सियासी गलियारे में खूब चर्चा हुई। 

 

आप के प्रदेश अध्यक्ष ने जब दिया विवादित बयान
गुजरात चुनाव में जिस बयान ने सबसे पहले सुर्खियों बटोरीं वो आम आदमी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष गोपाल इटालिया का था। इटालिया के एक के बाद एक कई वीडियो सामने आए, जिसमें वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनकी मां पर आपत्तिजनक टिप्पणी करते हुए नजर आ रहे थे। वीडियो में कई तरह के अपशब्द उन्होंने पीएम मोदी के लिए कहे। दूसरे वीडियो में उन्होंने पीएम मोदी की मां हीराबेन को नौटंकीबाज कहा था। पीएम मोदी के लिए भी कई तरह के अपशब्दों का प्रयोग किया। इसको लेकर उनके खिलाफ कई एफआईआर भी दर्ज हुई। गोपाल इटालिया को जेल भी जाना पड़ा था। 
 

फिर कांग्रेस ने कराई ‘औकात’ की एंट्री
कांग्रेस ने 12 नवंबर को गुजरात चुनाव के लिए अपना घोषणा पत्र जारी किया। इस दौरान एक टीवी चैनल से बात करते हुए कांग्रेस नेता मधुसूदन मिस्त्री ने कहा कि मोदी कभी पटेल नहीं बन सकते। इसी दौरान उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी पर हमला करते हुए ‘औकात’ शब्द का जिक्र किया। करीब दस दिन बाद प्रधानमंत्री मोदी ने अपनी रैली में मिस्त्री के बयान पर पलटवार किया। मोदी ने कहा, “वो कहते हैं औकात दिखा देंगे। मैं कहता हूं मेरी कोई औकात नहीं है। हमारी औकात बस सेवा देने की है। वो राज खानदान से हैं और हम सेवादार हैं।” भाजपा ने इसे चुनाव में खूब उछाला और पीएम मोदी का अपमान बताया। 
 

कांग्रेस अध्यक्ष ने की ‘रावण’ तुलना
कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने गुजरात में एक चुनावी रैली में पीएम मोदी की तुलना रावण से कर दी। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, 'बीजेपी नगरपालिका तक के चुनाव में कहती है मोदी को वोट दो…क्या मोदी यहां काम करने आएंगे। पीएम हर वक्त अपनी ही बात करते हैं..आप किसी को मत देखो मोदी को देख कर वोट दो। आपकी सूरत कितनी बार देखना। कॉरपोरेशन में भी आपकी सूरत देखना, एमएलए के इलेक्शन में भी आपकी सूरत देखना, एमपी इलेक्शन में भी आपकी सूरत देखना..हर जगह..आपके रावण के जैसे 100 मुख हैं क्या?'   भाजपा ने इसे गुजरात और पीएम मोदी का अपमान बताया। कहा कि कांग्रेस के लोग हमेशा से गुजरातियों का अपमान करते आए हैं। 
 

राहुल गांधी की तुलना सद्दाम से कर डाली
असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने भी गुजरात में खूब चुनाव प्रचार किया। सरमा का राहुल गांधी को लेकर दिया गया बयान भी खूब चर्चा में रहा। पिछले हफ्ते उन्होंने अहमदाबाद की रैली में राहुल गांधी के लुक पर तंज किया।  सरमा ने कहा, कांग्रेस के एक नेता का लुक बदल गया है, जिसके बाद वह सद्दाम हुसैन की तरह दिखने लगे हैं।’

इसके बाद उन्होंने कहा कि 'मैंने कुछ दिन पहले एक इंटरव्यू में देखा कि राहुल गांधी को नए लुक से दिक्कत नहीं हैं।' जिसके बाद हिमंत बिस्वा सरमा ने राहुल को सलाह देते हुए कहा कि अगर आपको अपना लुक बदलना है तो कम से कम वल्लभभाई पटेल या जवाहरलाल नेहरू जैसा बनाइए। गांधीजी की तरह दिखें तो और भी अच्छा है, लेकिन अब आप सद्दाम हुसैन की तरह क्यों दिखते हैं?
 

केजरीवाल को योगी ने नमूना कह डाला
यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी गुजरात में भाजपा के लिए खूब प्रचार किया। इस दौरान सोमनाथ में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए योगी ने आप के संयोजक और दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल को नमूना तक कह डाला। बिना अरविंद केजरीवाल का नाम लिए योगी ने कहा, 'यह जो आम आदमी पार्टी का नमूना आया है न दिल्ली से, यह आतंकवाद का सच्चा हितैषी है। ये राम मंदिर का विरोध करता है। सेना के शौर्य और साहस का सबूत मांगता है। आप लोग इसका कभी विश्वास न करना।' इसका पलटवार करते हुए केजरीवाल ने कहा कि अगर अच्छी शिक्षा और रोजगार चाहिए तो गुजरात के लोगों को मुझे वोट दे दीजिएगा।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00