लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

विज्ञापन
Hindi News ›   Maharashtra ›   Former Maharashtra Home Minister Anil Deshmukh and Sachin vaze appeared before Chandiwal Commission on Wednesday

अनिल देशमुख की मुश्किलें बढ़ीं: सचिन वाजे ने कहा - देशमुख ने मेरे परिवार को मारने की दी थी धमकी

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, पुणे Published by: रोमा रागिनी Updated Wed, 09 Feb 2022 10:55 PM IST
सार

महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख की मुश्किलें बढ़ गई है। सचिन वाजे ने कहा कि उसने देशमुख के निर्देश पर बार से वसूली की थी। उसने देशमुख पर परिवार को जान से मारने की धमकी देने का भी आरोप लगाया है।

अनिल देशमुख और सचिन वाजे चांदीवाल कमीशन के समक्ष प्रस्तुत
अनिल देशमुख और सचिन वाजे चांदीवाल कमीशन के समक्ष प्रस्तुत - फोटो : ANI
ख़बर सुनें

विस्तार

महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख और बर्खास्त पुलिस अधिकारी सचिन वाजे बुधवार को चांदीवाल कमीशन के सामने प्रस्तुत हुए। वहीं एफिडेविट में वाजे ने खुलासा किया कि उसने देशमुख के निर्देश पर बार से वसूली की थी। वाजे ने देशमुख पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं।


100 करोड़ रुपये के रंगदारी मामले में महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख की मुश्किलें एक बार फिर से बढ़ गई हैं। सचिन वाजे ने एफिडेविट में कहा कि अनिल देशमुख ने उसके परिवार को मारने की धमकी दी थी। उसने यह भी आरोप लगाया कि देशमुख ने उस पर और पूर्व मुंबई पुलिस कमिश्नर परम बीर सिंह पर वसूली के फर्जी केस दर्ज करवाए थे। अनिल देशमुख पर आरोप है कि वाजे को शहर के बार और रेस्तरां से प्रति माह 100 करोड़ रुपये से अधिक की वसूली करने का निर्देश दिया था। मनी लॉन्ड्रिंग का यह केस मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह द्वारा लगाए 100 करोड़ की वसूली मामले से ही जुड़ा हुआ है। देशमुख के खिलाफ मुंबई पुलिस के बर्खास्त API सचिन वाजे ने भी वसूली का आरोप लगाया है। ये पैसे सचिन वाजे ने मुंबई के कई रेस्तरां और बार ऑनर्स से लिए गए और देशमुख के निजी सचिव संजीव पलांडे और निजी सहायक कुंदन शिंदे को दिए थे। 


इससे पहले राज्य द्वारा नियुक्त एक सदस्यीय उच्च स्तरीय जांच समिति को वाजे ने बताया कि अनिल देशमुख ने पैसे की मांग नहीं की थी। अब देशमुख कि मुश्किलें कम होने की बजाय और बढ़ गई हैं। इससे पहले जनवरी में देशमुख जब चांदीवाला आयोग के सामने पेश हुए थे तो उन्होंने कहा था कि ''जब एंटीलिया मामले की जांच मुंबई पुलिस से लेकर एटीएस को सौंपने की बात चल रही थी, तब परमबीर सिंह नहीं चाहते थे कि ऐसा हो। वह उस वक्त थरथरा रहे थे। साथ ही मना रहे थे कि हमें ऐसा नहीं करना चाहिए। अनिल देशमुख और सचिन वाजे दोनों ही फिलहाल जेल में बंद हैं.
 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00