NSEL मनी लॉन्ड्रिंग केस: ईडी ने जब्त की 177 करोड़ की संपत्ति

एजेंसी, नई दिल्ली/मुंबई Updated Thu, 28 Dec 2017 01:28 AM IST
ED Attaches worth rs 177.33 Crores of Surender Gupta of PD Agro Processors Pvt Ltd & Dunar Foods Ltd
ख़बर सुनें
प्रवर्तन निदेशालय ने नेशनल स्पॉट एक्सचेंज लिमिटेड (एनएसईएल) केस में प्रिवेंशन ऑफ मनी लांड्रिंग एक्ट के तहत 177 करोड़ रुपये से ज्यादा की संपत्ति जब्त की है। ईडी की इस कार्रवाई में दस अचल संपत्तियों को जब्त किया गया है। अब तक इस मामले में 2890 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की जा चुकी है।
ईडी की ताजा कार्रवाई में पीडी एग्रो प्रोसेसर्स प्रा. लिमिटेड और दुनार फूड्स लिमिटेड के सुरेंदर गुप्ता की संपत्तियों को जब्त किया गया है। ये दोनों कंपनियां एनएसईएल की मुख्य डिफाल्टर हैं। जांच एजेंसी के अनुसार पीडी एग्रो प्रोसेसर्स प्राइवेट लिमिटेड ने धान और चावल की फर्जी खरीद दिखाकर एनएसईएल से भारी मात्रा में रकम हासिल कर ली। बाद में इस धनराशि के एक बहुत बड़े हिस्से को दुनार फूड्स के खाते में ट्रांसफर कर दिया। 

ईडी ने मुंबई पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा के साथ मिलकर एनएसईएल एवं अन्य के खिलाफ 2013 में केस दर्ज किया था। इसके अनुसार आरोपियों ने आपराधिक साजिश रचकर एनएसईएल के 13 हजार निवेशकों को 5600 करोड़ रुपये का चूना लगाया था। इस मामले में ईडी ने एनएसईएल एवं 67 अन्य आरोपियों के खिलाफ मार्च, 2015 में 20 हजार पन्नों की चार्जशीट दाखिल की है। 

RELATED

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

India News

बीजेडी से निलंबित सांसद बैजयंत पांडा ने पार्टी से दिया इस्तीफा, उठाए कई सवाल

बैजयंत जय पांडा ने बीजू जनता दल (बीजेडी) से इस्तीफा दे दिया है। ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक को लिखे पत्र में पांडा ने कहा है कि पार्टी की राजनीति के गिरते स्तर का हवाला दिया है।

28 मई 2018

Related Videos

जानिए ये उपचुनाव किसके लिए हैं ‘अग्नि परीक्षा’

सोमवार को देश की चार लोकसभा सीटों के लिए मतदान हुआ। ये सीट सियासी दलों के लिए काफी महत्वपूर्ण मानी जा रही हैं या यूं कहें कि ये उपचुनाव सियासी पार्टियों के लिए किसी अग्नि परीक्षा से कम नहीं।

28 मई 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे कि कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स और सोशल मीडिया साइट्स के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज़ नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज़ हटा सकते हैं और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डेटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy और Privacy Policy के बारे में और पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen