Hindi News ›   Jharkhand ›   Congress slammed RPN Singh over his resignation and joining BJP saying cowards can not fight our battles

सियासत: आरपीएन सिंह के भाजपा में जाने से बिफरी कांग्रेस, कहा- हम जो युद्ध लड़ रहे हैं वो कायरों के लिए नहीं है

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: गौरव पाण्डेय Updated Tue, 25 Jan 2022 06:52 PM IST

सार

कांग्रेस में लंबा समय गुजारने के बाद आरपीएन सिंह ने मंगलवार को भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए। उनके इस्तीफे को लेकर कांग्रेस पार्टी की ओर से सख्त प्रतिक्रिया आई है।
RPN Singh
RPN Singh - फोटो : Social Media
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

पूर्व केंद्रीय मंत्री आरपीएन सिंह मंगलवार को कांग्रेस का साथ छोड़ने के कुछ समय बाद ही भाजपा में शामिल हो गए। कांग्रेस पार्टी ने सिंह के इस्तीफे पर सख्त प्रतिक्रिया दी है और कहा है कि जो युद्ध कांग्रेस लड़ रही है उसे केवल बहादुरी से लड़ा जा सकता है, कायर यह जंग नहीं लड़ सकते। उत्तर प्रदेश समेत पाच राज्यों में विधानसभा चुनाव से ठीक पहले सिंह के इस्तीफे से कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है। कुशीनगर से पूर्व सासंद सिंह ने ट्विटर पर इस फैसले की जनकारी दी और इसे अपने लिए नई शुरुआत बताया। 

विज्ञापन


'कांग्रेस की लड़ाई बहादुरों के लिए है कायरों के लिए नहीं'
कांग्रेस की प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने एक प्रेस वार्ता के दौरान आरपीएन सिंह को एक कायर करार दिया। उन्होंने कहा, 'कांग्रेस पूरे देश में जो लड़ाई लड़ रही है, खास तौर पर उत्तर प्रदेश में, वह सरकारी संसाधनों और इसकी एजेंसियों के खिलाफ है। यह विचारधारा और सत्य की लड़ाई है और इस तरह का युद्ध लड़ने के लिए आपके अंदर साहस और समर्पण होना चाहिए। मुझे नहीं लगता कि यह लड़ाई कायरों के लिए है। जैसा कि प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा आप एक कायर होकर इस लड़ाई में शामिल नहीं हो सकते हैं।' 


अब कमल खिलाएंगे आरपीएन : पडरौना के 'कुंवर साहेब' के बारे में अहम बातें, जानें पूर्वांचल में कितना है इनका सियासी प्रभाव

इस विधानसभा सीट से सिंह को टिकट दे सकती है भाजपा
57 वर्षीय आरपीएन सिंह पिछड़ी जाति सैंथवार-कुर्मी से आते हैं। इस्तीफा देने से पहले कांग्रेस में वह झारखंड के प्रभारी की जिम्मेदारी संभाल रहे थे। कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए उन्हें अपने स्टार प्रचारकों में भी शामिल किया था। अब भाजपा में शामिल होने के बाद माना जा रहा है कि पार्टी उन्हें कुशीनगर की पडरौना विधानसभा सीट से टिकट दे सकती है।यहां से वह 1996-2009 के दौरान विधायक रहे थे। वह 2003 से 2006 तक अखिल भारतीय कांग्रेस समिति (एआईसीसी) के सचिव भी रहे हैं।

RPN Singh Joins BJP: स्वामी प्रसाद मौर्य के खिलाफ सीएम योगी का बड़ा प्लान, जानिए अब पडरौना में कौन पड़ेगा भारी?

आरोप: झारखंड सरकार गिराने की कोशिश कर रहे थे सिंह
उधर, कांग्रेस विधायक अंबा प्रसाद ने दावा किया है कि आरपीएन सिंह भाजपा के साथ मिलकर एक साल से अधिक समय से झारखंड की सरकार को कमजोर करने की कोशिशों में लगे हुए थे। प्रसाद ने एक ट्वीट में कहा, पिछले एक साल से ज्यादा समय से भाजपा के साथ सांठ-गांठ कर आरपीएन सिंह झारखंड की कांग्रेस-जेएमएम सरकार को अपदस्थ कराने की कोशिश कर रहे ते। पार्टी नेतृत्व को लगातार इस बारे में आगाह भी किया गया था। उनके भाजपा में चले जाने से झारखंड का हर सच्चा कांग्रेसी प्रसन्न है।

वहीं, आरपीएन सिंह के भाजपा में शामिल होने के बाद कांग्रेस ने अविनाश पांडे को झारखंड का प्रभारी नियुक्त किया है। 
 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00