Hindi News ›   India News ›   Congress Leader KC Venugopal slammed Modi Government over second wave of Coronavirus and vaccination policy after CWC meeting

कांग्रेस का आरोप: मोदी सरकार की असंवेदनशीलता का परिणाम है कोरोना की दूसरी लहर

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: गौरव पाण्डेय Updated Mon, 10 May 2021 07:20 PM IST

सार

कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) की बैठक पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी की अगुवाई में हुई। इस दौरान देश में कोरोना महामारी के चलते बने हालात पर चिंता जताई गई और केंद्र सरकार की नीतियों की आलोचना की गई। पढ़िए बैठक से संबंधित प्रमुख बातें...
केसी वेणुगोपाल
केसी वेणुगोपाल - फोटो : एएनआई (फाइल)
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) की बैठक के बाद पार्टी नेता केसी वेणुगोपाल ने कहा कि कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर एक बड़ी आपदा है और यह केंद्र की मोदी सरकार की असंवेदनशीलता और अकर्मठता का सीधा नतीजा है। यह सरकार की ओर से वैज्ञानिक सलाह को नजरअंदाज करने का सीधा परिणाम है।

विज्ञापन


वेणुगोपाल ने कहा कि कांग्रेस कार्य समिति मोदी सरकार की टीकाकरण रणनीति को लेकर बेहद चिंतित है। उन्होंने कहा कि टीका आपूर्ति पर्याप्त नहीं है, इसके बाद भी सरकार तथ्यों को स्वीकार करने से इनकार करप रही है। उन्होंने कहा कि टीके की मूल्य निर्धारण नीति अपारदर्शी और भेदभावपूर्ण और आर्थिक रूप से विपरीत है।


कांग्रेस नेता ने कहा कि सरकार ने उन राज्यों पर 18 से 45 वर्ष आयु वाले लोगों के टीकाकरण की जिम्मेदारी राज्यों पर डाल दी है, जो पहले से ही कई वित्तीय संकटों का सामना कर रहे हैं। वेणुगोपाल ने कहा कि  अनिवार्य पंजीकरण और आकर टीका न लगवाने की सुविधा से लाखों लोग टीकाकरण से वंचित हो रहे हैं और होते रहेंगे।
 
गलतियों का प्रायश्चित करें प्रधानमंत्री: सीडब्ल्यूसी
सीडब्ल्यूसी ने कहा कि प्रधानमंत्री को अपनी गलतियों का प्रायश्चित करना चाहिए। उन्हें व्यक्तिगत एजेंडे पर चलने और समस्याओं से बेखबर होने के स्थान पर जनता की सेवा के लिए प्रतिबद्ध होना चाहिए। सीडब्ल्यूसी ने टीकाकरण नीति पर चिंता जताते हुए कहा कि आपूर्ति अपर्याप्त है और मूल्य निर्धारण नीति अपारदर्शी व भेदभावपूर्ण है।

इसके साथ ही कांग्रेस कार्य समिति ने कोविड-19 वैश्विक महामारी से मरने वालों के सरकारी आंकड़ों, मौत के मामलों को कथित तौर पर दर्ज न किए जाने को लेकर सवाल उठाए। सीडब्ल्यूसी ने कहा कि समाधान चुनौतियां का सामना करने में हैं, सच छिपाने में नहीं। सीडब्ल्यूसी ने कहा कि यह स्थिति मोदी सरकार की नाकामी का सबूत है। 

इस संबंध में पेश पारित किए गए एक प्रस्ताव में दावा किया गया है, ‘18 से 44 साल आयुवर्ग की भारत की युवा आबादी को कोरोना निरोधक टीका लगाने की जिम्मेदारी से भारत सरकार ने अपना पल्ला झाड़ लिया है और इसका सारा आर्थिक बोझ राज्यों के ऊपर जबरन लाद दिया है।’

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की ओर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लिखे गए एक पत्र का हवाला देते हुए कांग्रेस कार्य समिति ने कहा कि सिंह के रचनात्मक सुझावों पर विचार करना तो दूर, इस ‘अहंकारी’ सरकार ने जो रवैया अपनाया वो निंदनीय है।

सीडब्ल्यूसी ने आरोप लगाया, ‘कोरोना से होने वाली मौतों के आंकडे को सामने रखने की बजाय सरकार उस पूरे आंकड़े को छुपाने का एक कुत्सित प्रयास कर रही है... आज इस चुनौतीपूर्ण माहौल में आंकड़ों को दबाना, छुपाना या फिर शमशान घाट के चारों तरफ दीवार बनाना, हल नहीं है।’

सेंट्रल विस्टा परियोजना को बताया आर्थिक अपराध
वहीं, सेंट्रल विस्टा परियोजना का उल्लेख करते हुए प्रस्ताव में दावा किया गया कि यह जनता के पैसे की आपराधिक बर्बादी है। सीडब्ल्यूसी ने कहा, राष्ट्रीय एकता और राष्ट्रीय संकल्प से ही कोरोना महामारी से लड़ा जा सकता है, बिल्कुल एकजुट होकर। इसके लिए प्रधानमंत्री को अपनी गलतियां स्वीकार कर नए सिरे से कोरोना से लड़ने के लिए स्वयं को और अपनी सरकार को समर्पित करना होगा।

कार्य समिति के प्रस्ताव में कहा गया है, ‘कांग्रेस पार्टी कोरोना 19 महामारी में हर प्रकार के रचनात्मक कदम, जो सरकार उठाएगी, में उसके साथ सदैव खड़ी रहेगी।’ उसने कोरोना संकट में भारत की मदद करने वाले देशों और संगठनों का भी आभार प्रकट किया।

हार के कारणों का पता लगाने के लिए बनेगा समूह
कांग्रेस ने चार राज्यों और एक केंद्रशासित प्रदेश के विधानसभा चुनावों में पार्टी के निराशाजनक प्रदर्शन के कारणों का पता लगाने के लिए अगले 48 घंटे के भीतर एक समूह गठित करने का फैसला किया है। पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने सीडब्ल्यूसी की बैठक में यह प्रस्ताव किया कि हार के कारणों का पता लगाने के लिए एक समूह का गठन किया जाएगा।

सोनिया गांधी ने कहा कि इन परिणामों से स्पष्ट है कि कांग्रेस में चीजों को दुरुस्त करना होगा। केसी वेणुगोपाल ने कहा कि अगले 48 घंटे के भीतर समूह का गठन कर दिया जाएगा और यह जल्द से जल्द अपनी रिपोर्ट देगा। वेणुगोपाल ने यह भी कहा, ‘इस समूह की रिपोर्ट के आधार पर आगे कदम उठाया जाएगा और जवाबदेही तय की जाएगी।’
 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00