लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

विज्ञापन
Hindi News ›   India News ›   CM mamata banerjee delhi visit today live updates, protest against Tripura issue, Abhishek banerjee

त्रिपुरा हिंसा पर सियासी बवाल: गृह मंत्रालय के बाहर टीएमसी का धरना, अमित शाह से उनके घर प्रतिनिधिमंडल ने की मुलाकात

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: संजीव कुमार झा Updated Mon, 22 Nov 2021 12:47 PM IST
सार

आज शाम ममता बनर्जी दिल्ली पहुंच रही हैं जहां वे विपक्ष के कई नेताओं से मुलाकात करने वाली हैं। इस दौरान मोदी सरकार को घेरने के लिए वे रणनीति भी तैयार करेंगी।

गृह मंत्रालय के बाहर टीएमसी सांसदों का प्रदर्शन
गृह मंत्रालय के बाहर टीएमसी सांसदों का प्रदर्शन - फोटो : ANI
ख़बर सुनें

विस्तार

संसद के शीतकालीन सत्र के पहले पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी दिल्ली में खेला करने की तैयारी कर रही हैं। आज शाम ममता बनर्जी दिल्ली पहुंच रही हैं जहां वह विपक्ष के कई नेताओं से मुलाकात करने वाली हैं। इस दौरान मोदी सरकार को घेरने के लिए वे रणनीति भी तैयार करेंगी। इसके अलावा त्रिपुरा के मुद्दे पर धरना देने के लिए टीएमसी के 16 सांसद भी दिल्ली पहुंच चुके हैं। इन सभी सांसदों ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मिलने का वक्त मांगा है।



इस बीच टीएमसी का एक प्रतिनिधिमंडल शाह के घर भी पहुंचा। यहां त्रिपुरा में कथित पुलिस बर्बरता को लेकर टीएमसी सांसदों ने अमित शाह से मुलाकात की। सांसद कल्याण बनर्जी ने बताया कि हमने उन्हें विस्तार से बताया कि कैसे नेताओं को गिरफ्तार किया गया और सांसदों को पीटा गया। उन्होंने कहा कि उन्होंने कल त्रिपुरा के सीएम से फोन पर बात की थी और राज्य से रिपोर्ट मांगेंगे।


वहीं, ताजा जानकारी के अनुसार त्रिपुरा मुद्दे पर तृणमूल कांग्रेस द्वारा दी गई अवमानना याचिका पर सुप्रीम कोर्ट सुनवाई करने के लिए तैयार हो गया है। मामले की सुनवाई कल यानी मंगलवार को होगी। टीएमसी ने अपनी अवमानना याचिका में कहा है कि सुप्रीम कोर्ट के आदेशों को बावजूद त्रिपुरा में निकाय चुनावों को दौरान हालात खराब हो रहे हैं, ऐसे में सुप्रीम कोर्ट त्रिपुरा के अफसरों के खिलाफ अवमानना कार्यवाही करे।

बता दें कि त्रिपुरा में  तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) की राज्य सचिव सयानी घोष  की गिरफ्तारी के बाद से भाजपा और टीएमसी के बीच तकरार लगातार जारी है। तृणमूल कांग्रेस आरोप लगा रही है कि भाजपा त्रिपुरा में उनके बड़े नेताओं की रैली नहीं होने दे रही है। 

गृह मंत्रालय के बाहर ममता के सांसदों का प्रदर्शन
इससे पहले त्रिपुरा मुद्दे पर गृह मंत्रालय के बाहर ममता बनर्जी के सांसदों का प्रदर्शन किया। टीएमसी नेताओं ने करीब चार घंटे तक यहां धरना दिया। प्रदर्शन के दौरान टीएमसी सांसद सुखेंदु शेखर रॉय ने कहा कि त्रिपुरा की सरकार को बर्ख़ास्त किया जाना चाहिए। त्रिपुरा में गुंडा राज कायम किया गया है। गृह मंत्री से हम मिलना चाहते थे लेकिन उन्होंने हमें समय नहीं दिया है। 

अभिषेक बनर्जी की रैली को नहीं मिली अनुमति
पुलिस सूत्रों ने कहा कि अभिषेक की अगरतला में एक रैली आयोजित करने की योजना थी, जिसे कोविड के वर्तमान हालात को देखते हुए अनुमति नहीं दी गई है। हालांकि पार्टी ने एक ट्विटर पोस्ट में कहा कि 'हमारे राष्ट्रीय महासचिव अभिषेक बनर्जी हमारे कार्यकर्ताओं के साथ खड़े होने के लिए सोमवार सुबह त्रिपुरा पहुंचेंगे। रविवार को उन्हें उतरने की अनुमति नहीं दी गई। त्रिपुरा में एक निरंकुश शो चला रहा है और हम अंत लड़ेंगे।'

निकाय चुनाव के लिए भाजपा और टीएमसी की रैली पर रोक
त्रिपुरा पुलिस ने सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी)  राज्य में आगामी निकाय चुनावों के लिए अगरतला में रैलियों के लिए अनुमति देने से इनकार कर दिया है। पुलिस ने तृणमूल की युवा शाखा की अध्यक्ष सयानी घोष की गिरफ्तारी का जिक्र करते हुए कहा कि दोनों पक्षों के बीच तनाव को देखते हुए यह फैसला लिया गया है।

शनिवार रात टीएमसी राज्य सचिव सयानी घोष को किया गया था गिरफ्तार 
पश्चिम बंगाल तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) की राज्य सचिव सयानी घोष को शनिवार रात यहां हुई एक सभा के दौरान मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब को धमकी देने के आरोप में हत्या के प्रयास की धाराओं में गिरफ्तार कर लिया गया। पहले उन्हें थाने में पूछताछ के लिए बुलाया गया और फिर गिरफ्तारी की गई। यह घटना टीएमसी के राष्ट्रीय महासचिव अभिषेक बनर्जी के उत्तर पूर्वी राज्य के प्रस्तावित दौरे से एक दिन पहले हुई है।

जानें क्यों हो रहा बवाल
वहीं पश्चिमी त्रिपुरा के एडिशनल एसपी बीजे रेड्डी ने बताया कि शायनी घोष को अगरतला पुलिस ने इसलिए गिरफ्तार किया है क्योंकि वह भाजपा कार्याकर्ताओं को जान से मारने की कोशिश कर रही थीं। भाजपा के ये कार्यकर्ता एक पब्लिक मीटिंग में थे। सबूत के आधार पर आईपीसी की धारा 307, 153 के तहत केस दर्ज किया गया है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00