लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

विज्ञापन
Hindi News ›   India News ›   Citizenship Amendment Act across country FIR filed against 10 thousands miscreants 17 killed in UP

CAA: देशभर में उपद्रवियों पर कार्रवाई, 10 हजार के खिलाफ एफआईआर, यूपी में 17 की मौत

ब्यूरो, अमर उजाला, नई दिल्ली/लखनऊ/पटना। Published by: योगेश साहू Updated Sun, 22 Dec 2019 05:26 AM IST
सार

  • यूपी-बिहार में आगजनी, देशभर में उपद्रवियों पर कार्रवाई
  • सीसीटीवी से पहचाने जा रहे उपद्रवी, भेजे जा रहे वसूली नोटिस
  • सोशल मीडिया पर 13,101 विवादित पोस्ट के खिलाफ बड़ी कार्रवाई
  • पाकिस्तान से आए तीन हिंदुओं को गुजरात में मिली नागरिकता

protest against caa
protest against caa - फोटो : अमर उजाला
ख़बर सुनें

विस्तार

नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ शनिवार को यूपी, दिल्ली और बिहार समेत देशभर में हिंसा और प्रदर्शन हुए। विरोध की आग में यूपी के रामपुर, कानपुर और मुजफ्फरनगर सबसे ज्यादा झुलसे। रामपुर में जहां हिंसक प्रदर्शनों के दौरान एक व्यक्ति की मौत हो गई। वहीं, कानपुर में उपद्रवियों ने एक पुलिस चौकी में घुसकर वाहनों को आग लगा दी।



यूपी के 21 जिलों में इंटरनेट शनिवार रात 12 बजे तक बंद रहे, जबकि लखनऊ समेत 15 जिलों में इंटरनेट और एसएमएस सेवाएं सोमवार तक बंद रहेंगी। फिरोजाबाद में दो और मेरठ में एक के शव मिले हैं। इसी के साथ यूपी हिंसा में मरने वालों की संख्या 17 हो गई। वहीं, बिहार में राजद द्वारा बुलाए गए बंद के दौरान कई जगहों पर हिंसक प्रदर्शनों के दौरान राष्ट्रीय राजमार्ग पर जाम लगा दिया गया और ट्रेेनें रोकी गईं।


राजद कार्यकर्ताओं ने पटना और हाजीपुर में आगजनी की। पटना के फुलवारी शरीफ में दो गुटों की झड़प में 13 लोगों को गोली। तेजस्वी यादव बंद के समर्थन में सड़क पर उतरे। वहीं, दिल्ली में जामिया मिल्लिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी के छात्रों ने गेट के बाहर प्रदर्शन किया।

पश्चिम बंगाल के कोलकाता में जादवपुर और प्रेसीडेंसी यूनिवर्सिटी के छात्रों का एक समूह ने प्रदर्शन किया। महाराष्ट्र के मुंबई और तमिलनाडु के चेन्नई में भी लोग सड़कों पर उतरे। उत्तराखंड के हल्द्वानी और असम के गुवाहाटी में लतासिल प्लेग्राउंड में महिलाओं ने प्रदर्शन किया। वहीं, अब तक हुए प्रदर्शनों में रेलवे की 88 करोड़ रुपये की संपत्ति क्षतिग्रस्त हुई है। 

यूपी से लेकर कर्नाटक तक कार्रवाई
इस बीच, यूपी समेत देशभर में उपद्रवियों पर कार्रवाई भी शुरू कर दी गई है। यूपी में अब तक 10,900 से ज्यादा एफआईआर दर्ज की गई है। 705 गिरफ्तारी की गई। वहीं, दिल्ली में 15 लोग, प. बंगाल में अब तक 600 से ज्यादा लोग गिरफ्तार किए गए। महाराष्ट्र में सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने और उपद्रव करने के लिए हिंगोली जिले में 20 लोगों को हिरासत में लिया गया जबकि 130 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किए गए।

कर्नाटक के बंगलूरू में आठ मामले दर्ज किए गए। मंगलूरू में शनिवार को कर्फ्यू में ढील दी गई। सोमवार से यहां कर्फ्यू हटा लिया जाएगा। हालांकि, धारा 144 लागू रहेगी। मेघालय में नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ हुए प्रदर्शनों के आठ दिन बाद इंटरनेट सेवाएं शनिवार को बहाल कर दी गईं। इसे 12 दिसंबर को बंद किया गया था।

यूपी: रामपुर में पुलिस जीप समेत सात वाहन फूंके, कानपुर में चौकी के सामने सिपाहियों को मारी गोली

रामपुर में हाथीखाने के चौराहे पर हिंसक प्रदर्शन में कई पुलिस वाले घायल हो गए। भीड़ ने पुलिस की जीप समेत सात दोपहिया वाहन फूंक दिए। पुलिस को आंसू गैस के गोले और रबर की बुलेट का इस्तेमाल करना पड़ा। कानपुर में दूसरे दिन भी हुई हिंसा में यतीमखाना के पास उपद्रवियों ने पुलिस चौकी के सामने दो सिपाहियों को गोली मार दी।

भीड़ ने यतीमखाना चौकी में खड़ी दो कारें व दो बाइकों में भी आग लगा दी और पास में खड़ी सौ से अधिक गाड़ियां तोड़ दीं। पथराव में 20 से अधिक पुलिसकर्मी व मीडियाकर्मी घायल हुए हैं। उपद्रवियों पर लाठी चार्ज कर आंसू गैस के गोले छोड़े, तब वे पीछे हटे। संभलपुर और अमरोहा में भी प्रदर्शन की खबरें हैं। मुजफ्फरनगर में पथराव हुआ है। इस बीच, बवाल से निपटने के लिए यूपी सरकार को केंद्र से आईटीबीपी की पांच कंपनियां और दी गई हैं।

सीसीटीवी से पहचाने जा रहे उपद्रवी, भेजे जा रहे वसूली नोटिस
यूपी पुलिस ने उपद्रवियों की पहचानकर उन्हें जुर्माने का वसूली नोटिस भेजना शुरू कर दिया है। जुर्माना नहीं चुकाने पर संपत्ति कुर्क होगी। उपद्रवियों की पहचान सीसीटीवी फुटेज से की जा रही है। उधर, लखनऊ  हिंसा के मामले में पकड़ गए आधा दर्जन से ज्यादा लोगों का पश्चिम बंगाल से कनेक्शन सामने आया है।

पुलिस सूत्रों के अनुसार, लखनऊ में हिंसा के दौरान इन्हें बंगाल से बुलाया गया था। पुलिस महानिदेशक ओम प्रकाश सिंह ने बताया, प्रदर्शन में एनजीओ और बाहरी तत्व शामिल हो सकते हैं। हम जांच करा रहे हैं और किसी को छोड़ा नहीं जाएगा।

सोशल मीडिया पर बड़ी कार्रवाई

13,101 विवादित पोस्ट के खिलाफ कार्रवाई की गई। इस मामले में 63 एफआईआर दर्ज की गई और 102 लोग गिरफ्तार किए गए, जबकि 442 लोगों पर पाबंदी लगा दी गई।

यूपी का हाल
  • 10,900 के खिलाफ एफआईआर, 705 गिरफ्तार
  • 4500 पर निरोधात्मक कार्रवाई, 263 पुलिसकर्मी घायल
  • 57 पुलिसकर्मी गोली लगने से घायल, 405 देसी तमंचे बरामद
  • बिहार: 13 लोगों को लगी गोली
  • दिल्ली: 15 गिरफ्तारी अब तक
  • प. बंगाल: 600 से ज्यादा लोग गिरफ्तार
  • महाराष्ट्र: 130 के खिलाफ केस दर्ज
  • कर्नाटक: 08 मामले दर्ज किए गए

भीम आर्मी के मुखिया गिरफ्तार, 15 लोग 14 दिन की न्यायिक हिरासत में

दिल्ली में दरियागंज में हिंसा भड़काने के आरोप में शनिवार दोपहर भीम आर्मी के चीफ चंद्रशेखर सहित 15 लोगों को गिरफ्तार कर अदालत में पेश किया, जहां से उन्हें 14 दिन की न्यायिक हिरासत में तिहाड़ जेल भेज दिया गया। पुलिस ने हिरासत में लिए 16 नाबालिगों को छोड़ दिया। सीमापुरी समेत कई इलाकों में सीआरपीएफ के जवानों ने फ्लैग मार्च किया।

10 दिनों में तीन करोड़ परिवारों से संपर्क साधेगी भाजपा
भाजपा ने लोगों को नए नागरिकता कानून के फायदे बताने के लिए अगले 10 दिनों में व्यापक स्तर पर घर-घर अभियान की योजना बनाई है। भाजपा इस दौरान तीन करोड़ से अधिक परिवारों के साथ संवाद करेगी। भाजपा नेता इस दौरान 250 से अधिक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करेंगे। हर जिले में कानून के समर्थन में रैलियां और कार्यक्रम भी किए जाएंगे।

पाकिस्तान से आए तीन हिंदुओं को गुजरात में मिली नागरिकता

नागरिकता कानून के खिलाफ चल रहे विरोध-प्रदर्शन के बीच संशोधित कानून के तहत अल्पसंख्यकों को भारतीय नागरिकता देने की शुरुआत हो गई है। एक दशक से गुजरात में शरणार्थी शिविर में रह रहे तीन हिंदुओं को शनिवार को नागरिकता दी गई। राजकोट सीट से लोकसभा सदस्य मोहन कुडांरिया ने मोरबी के वावड़ी गांव में आयोजित समारोह में हरसिंह सोढा, सरूपसिंह सोढा और प्रभातसिंह सोढा को नागरिकता प्रमाण पत्र दिया।

कुंडारिया ने कहा कि मोरबी में रह रहे ऐसे हजारों शरणार्थियों को जल्द ही नागरिकता मिलेगी। प्रमाणपत्र मिलने के बाद हरसिंह ने कहा, हम 2007 में पाकिस्तान से भारत आए और आज भारतीय नागरिक बन गए। इसके लिए मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह का शुक्रगुजार हूं। नागरिकता संशोधन कानून पड़ोसी देशों में सताए गए अल्पसंख्यकों के लिए बहुत बड़ी राहत है।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00