Hindi News ›   India News ›   China constructing Illegal Bridge over Pangong Lake flash point in Ladakh with Indian Army at rapid pace shows satellite images news and updates

टकराव: भीषण ठंड के बीच भी पैंगोंग झील पर तेजी से पुल बना रहा चीन, पूरा हुआ तो भारत के लिए पैदा होगी बड़ी चुनौती

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, लेह Published by: कीर्तिवर्धन मिश्र Updated Tue, 18 Jan 2022 06:33 PM IST

सार

अगर 400 मीटर लंबा यह पुल पूरा होता है, तो भारत के हिस्से वाली जगह पर चीन अपना इन्फ्रास्ट्रक्चर खड़ा करने में सफल हो जाएगा और इसके जरिए इलाके में उसका दावा भी मजबूत होगा।
पैंगोंग झील
पैंगोंग झील - फोटो : Social media
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

चीन और भारत के बीच लद्दाख स्थित एलएसी पर तनाव बढ़ना अब लगभग तय माना जा रहा है। दरअसल, दोनों देशों की सेनाओं के बीच टकराव वाली पैंगोंग झील पर चीन ने पुल बनाने के काम में जबरदस्त तेजी दिखाई है। सैटेलाइट तस्वीरों से खुलासा हुआ है कि चीन ने लगभग आठ मीटर चौड़े पुल का निर्माण तेजी से किया है और वह भीषण ठंड के बीच भी इस पुल को जल्द से जल्द पूरा कर लेना चाहता है। 
विज्ञापन


चीन का यह 400 मीटर लंबा पुल अगर पूरा हो जाता है, तो यह भारत के लिए चिंता का विषय बन सकता है। दरअसल, इससे भारत के हिस्से वाली जगह पर चीन अपना इन्फ्रास्ट्रक्चर खड़ा करने में सफल हो जाएगा और इसके जरिए इलाके में उसका दावा भी मजबूत होगा। इतना ही नहीं यह पुल भी चीन की सेना को भारत पर नजर रखने में रणनीतिक बढ़त देगा। 





किस जगह पर है पैंगोंग लेक पर बना यह पुल?
यह पुल पैंगोंग झील के उत्तरी किनारे पर स्थित चीनी सेना के बेस से दक्षिण की तरफ है। 2020 में भारत के साथ टकराव के दौरान चीन ने इस जगह पर अपने अस्थायी अस्पताल और गोदाम बना लिए थे। 16 जनवरी तक की सैटेलाइट तस्वीरों पर गौर किया जाए, तो सामने आता है कि चीन की ओर से पुल के खंभे बनाने का काम जारी है और इसके स्लैब को बिछाने में क्रेन्स की मदद ली जा रही है। 

निर्माण का दायरा देखते हुए साफ है कि चीन इस पुल को कुछ ही महीनों में पूरा कर लेगा। इससे उसे रुतोग तक सड़क मार्ग भी मिल जाएगा, जो कि क्षेत्र में चीन का सैन्य केंद्र है। बताया जाता है कि इस पुल की वजह से पैंगोंग के उत्तरी किनारे पर मौजूद चीनी सेना को पैंगोंग झील का चक्कर लगाकर रुतोग जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। नया पुल तैयार हो जाने के बाद चीनी सेना का दो सौ किलोमीटर लंबा सफर महज 150 किमी का रह जाएगा। 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00