लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

विज्ञापन
Hindi News ›   India News ›   Cattle smuggling case CBI announces reward on TMC MP Abhishek Banerjees confidant vinay mishra

Cattle Smuggling Case: ममता के भतीजे के कथित विश्वासपात्र पर सीबीआई ने रखा इनाम, जानें पूरा मामला

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, कोलकाता Published by: निर्मल कांत Updated Wed, 29 Jun 2022 06:22 PM IST
सार

केंद्रीय एजेंसी ने आरोप लगाया है कि मिश्रा ने लोकसेवकों की ओर से अवैध रिश्वत लेने के लिए एक बिचौलिए की कड़ी के रूप में काम किया और सेल कंपनियों के जरिए धन के बदले अपने कनेक्शन का उपयोग करने वाले तस्करों को संरक्षण और सुरक्षा प्रदान करता किया।

सीबीआई
सीबीआई - फोटो : फाइल

विस्तार

सीबीआई ने टीएमसी सांसद अभिषेक बनर्जी के कथित विश्वासपात्र विनय मिश्रा की गिरफ्तारी के लिए कार्रवाई योग्य जानकारी देने वाले को एक लाख रुपये के इनाम की घोषणा की है, वह पशु तस्करी मामले में वांछित है। अधिकारियों ने बुधवार को यह जानकारी दी। 


कोयला चोरी के आरोप में रखा जा चुका इनाम
अधिकारियों ने बताया कि केंद्रीय एजेंसी ने कुछ महीने पहले पश्चिम बंगाल के आसनसोल में ईस्टर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड की खदानों से कोयला चोरी के मामले में भी मिश्रा के खिलाफ इसी तरह का इनाम जारी किया था।


आरोपी ने 2020 में ली वनुआटू की नागरिकता
उन्होंने बताया कि सीबीआई ने मिश्रा के खिलाफ रेड नोटिस की मांग करते हुए इंटरपोल का रुख किया है और उसे प्रशांत महासागर के द्वीप देश वनुआटू से वापस लाने का प्रयास किया जा रहा है, जहां की उसने कथित तौर पर 2020 में नागरिकता ली।

अभिषेक बनर्जी का करीबी माना जाता है मिश्रा: अधिकारी
सीबीआई ने पशु तस्करी मामले में पिछले साल दायर सप्लीमेंट्री चार्जशीट में मिश्रा को सह-आरोपी के रूप में नामित किया था। अधिकारियों ने कहा कि मिश्रा को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे और तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के सांसद अभिषेक बनर्जी का करीबी माना जाता है।

केंद्रीय एजेंसी ने आरोप लगाया है कि मिश्रा ने लोकसेवकों की ओर से अवैध रिश्वत लेने के लिए एक बिचौलिए की कड़ी के रूप में काम किया और सेल कंपनियों के जरिए धन के बदले अपने कनेक्शन का उपयोग करने वाले तस्करों को संरक्षण और सुरक्षा प्रदान करता किया।

पशु तस्करी  रैकेट में शामिल अन्य के खिलाफ भी चार्जशीट
आसनसोल में स्पेशल सीबीआई कोर्ट में दायर अपनी चार्जशीट में एजेंसी ने मिश्रा को 'पहले ही फरार' बताया है। सीबीआई ने भारत-बांग्लादेश सीमा पर चल रहे पशु तस्करी रैकेट में कथित संलिप्तता के लिए तत्कालीन बीएसएफ कमांडेंट सतीश कुमार और छह अन्य पर भी चार्जशीट दायर की है। 
विज्ञापन

अधिकारियों ने कहा कि मिश्रा और कुमार के अलावा एजेंसी ने मास्टरमाइंड इनामुल हक, अनारुल शेख, गोलम मुस्तफा तानिया सान्याल, बादल कृष्ण सान्याल और रशीदा बीबी के खिलाफ कथित तौर पर बांग्लादेश में पशुओं की तस्करी के लिए आपराधिक साजिश का हिस्सा होने के आरोप में चार्जशीट दायर की है। 

इनामुल हक अवैध व्यापार का मास्टरमाइंड : सीबीआई
स्पेशल कोर्ट के समक्ष चार्जशीट में सीबीआई ने आरोप लगाया है कि हक इस अवैध व्यापार का आयोजक था और कुमार के साथ मिलीभगत से दो अन्य आरोपियों द्वारा उनकी सहायता की गई थी जिन्हें मुर्शिदाबाद और मालदा में तैनात किया गया था। 

सीबीआई के प्रवक्ता आर.सी.जोशी ने कहा था कि जांच के दौरान पशुओं की कथित रूप से अवैध रूप से सीमा पार से बिक्री, संबंधित आवाजाही, विवरण और अवैध धन के इस्तेमाल के जुड़े सबूत मिले हैं। 

2020 में सीबीआई ने अपने हाथ में लिया था मामला
उन्होंने कहा कि यह भी आरोप है कि तीन अन्य आरोपियों ने गलत तरीके से अर्जित धन को नियमित करने के लिए काल्पनिक व्यावसायिक गतिविधियों में मदद की। सीबीआई ने 21 सितंबर, 2020 को चार आरोपियों के खिलाफ पशुओं के अवैध सीमा पार व्यापार के आरोप में मामला अपने हाथ में लिया था।  
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00