लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

विज्ञापन
Hindi News ›   India News ›   Aryan khan drugs case NCB responded to the allegations of Prabhakar sail, said- instead of social media, sail should go to the court  

आर्यन खान केस: समीर वानखेड़े ने मुंबई पुलिस कमिश्नर को लिखा पत्र, गलत मंशा से कार्रवाई पर रोक लगाने की मांग

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, मुंबई Published by: सुभाष कुमार Updated Sun, 24 Oct 2021 08:34 PM IST
सार

वानखेड़े ने लिखा कि उन्हें यह सूचना मिली है कि कुछ अंजान लोगों के द्वारा अपराध क्रमांक 94/2021 से जुड़े होने के कारण उनपर गलत आरोप लगाकर कानूनी कार्रवाई करने के मंशा की खबर सामने आई है।

एनसीबी के क्षेत्रीय निदेशक समीर वानखेड़े
एनसीबी के क्षेत्रीय निदेशक समीर वानखेड़े - फोटो : अमर उजाला
ख़बर सुनें

विस्तार

आर्यन खान ड्रग केस मामले में एनसीबी के क्षेत्रीय निदेशक समीर वानखेड़े ने मुंबई पुलिस कमिश्नर को पत्र लिखा है। समीर वानखेड़े ने इस पत्र में पुलिस कमिश्नर से यह सुनिश्चित करने का अनुरोध किया है कि उन्हें गलत उद्देश्यों से फंसाने के लिए कोई भी कार्रवाई न की जाए। वानखेड़े ने आगे लिखा कि उन्हें यह सूचना मिली है कि कुछ अंजान लोगों के द्वारा अपराध क्रमांक 94/2021 से जुड़े होने के कारण उनपर गलत आरोप लगाकर कानूनी कार्रवाई करने के मंशा की खबर सामने आई है।


वानखेड़े ने यह भी कहा कि कुछ बड़े चेहरों द्वारा मीडिया में उन्हें जेल भेजने और पद से हटवाने की भी बातें भी की गई है। इस बात का ध्यान रखा जाना चाहिए कि एनसीबी के डिप्टी डायरेक्टर जनरल मुथा अशोक जैन ने प्रभाकर सैल द्वारा लगाए गए आरोपों के मामले को पहले ही डायरेक्टर जनरल को भेज दिया है। आपसे अनुरोध है कि गलत उद्देश्य और आरोपों के आधार पर कोई भी कार्रवाई न की जाए। 

 

हाई प्रोफाईल आर्यन खान ड्रग्स केस में लगातार नए मोड़ सामने आ रहे हैं। पंच गवाह होने का दावा करने वाले प्रभाकर सैल के 18 करोड़ रुपए की डील और सादे कागजों पर साइन लेने के आरोपों पर एनसीबी ने अपना बयान जारी किया है। 

एनसीबी के अधिकारी मुथा अशोक जैन ने कहा है कि अपराध क्रमांक 94/2021 में गवाह प्रभाकर सैल द्वारा जारी एक हलफनामा सोशल मीडिया के माध्यम से उनके पास पहुंचा है। इस बयान में प्रभाकर सैल ने दो अक्तूबर 2021 को अपने क्रियाकलापों का विवरण दिया है। वह इस केस में गवाह हैं और यह केस अब कोर्ट के समक्ष है। अगर प्रभाकर सैल को इस मामले से जुड़ी किसी बात का जिक्र करना ही है, तो उन्हें न्यायलय के समक्ष जाना चाहिए न कि सोशल मीडिया पर। उनके द्वारा जांच से जुड़े कई अन्य आरोप भी लगाए गए हैं, जो कि  पूरी तरह निराधार हैं। हमारे मुंबई जोन के जोनल ऑफिसर समीर वानखेड़े ने इन सभी आरोपों को निराधार बताया है। क्योंकि गवाह प्रभाकर सैल द्वारा लगाए गए आरोप मामले की जांच से जुड़ें हैं, इसलिए आगे की जरूरी कार्रवाई के लिए इस मामले को एनसीबी के डायरेक्टर जनरल को भेजा जा रहा है।   

प्रभाकर सैल ने 18 करोड़ में डील होने के आरोप लगाएं थे
आर्यन खान ड्रग्स केस में गवाह होने का दावा करने वाले और खुद को गोसावी का बॉडीगार्ड बताने वाले प्रभाकर सैल ने आज सुबह एक हलफनामा दिया था। प्रभाकर का आरोप था कि उसने केपी गोसावी और सैम डिसूजा को आपस में बात करते सुना था कि 'आप 25 करोड़ रुपये का बम डाल दो। चलो 18 करोड़ में सौदा तय करते हैं और समीर वानखेड़े को आठ करोड़ रुपये दे देते हैं'। प्रभाकर सैल के अनुसार गोसावी ने ही उसे पंच बनने को भी कहा था, इसके बाद एनसीबी ने उससे दस सादे कागज पर साइन करवाएं थे।
विज्ञापन

ड्रग्स केस में शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान की गिरफ्तारी के दिन एक अनजान शख्स ने उसके साथ सेल्फी खिंची थी जो काफी वायरल हुई थी।उस शख्स की पहचान के.पी गोसावी के रूप में हुई थी। अपनी पहचान उजागर होने के बाद से ही गोसावी फरार चल रहा है। 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00