140 देशों पर जारी रिपोर्ट में दावा, भारत की 51 फीसदी महिलाओं में खून की कमी

लंदन/एजेंसियां  Updated Tue, 07 Nov 2017 03:58 AM IST
51 Percent Indian women were affected by anaemia report says
ख़बर सुनें
भारत में कुपोषित लोगों की बड़ी संख्या हैं। सोमवार को जारी द ग्लोबल न्यूट्रिशन रिपोर्ट, 2017 के मुताबिक में यह चेतावनी देते हुए दावा किया गया है कि मां बनने में सक्षम देश की आधी से ज्यादा महिलाएं खून की कमी की बीमारी एनीमिया की मरीज हैं। 
भारत समेत 140 देशों पर जारी इस रिपोर्ट में कुपोषण के तीन प्रकारों को खंगाला गया है। पहला बचपन में वृद्धि का रुक  जाना, दूसरा मां बनने में सक्षम महिलाओं में खून की कमी और तीसरा वयस्क महिलाओं का मोटापा। हालिया आंकड़ों के मुताबिक पांच साल से कम उम्र के 38 फीसदी बच्चे कुपोषण के शिकार हैं। इससे उम्र की तुलना में उनकी लंबाई कम होती है और मस्तिष्क की क्षमता पर भी प्रतिकूल असर पड़ता है।

 पांच साल से कम उम्र के 21 फीसदी बच्चों का वजन उनकी लंबाई के अनुपात में कम है। वहीं मां बनने में सक्षम 51 फीसदी महिलाएं एनीमिया की मरीज हैं। इस बीमारी में मां और बच्चे की सेहत पर बुरा असर पड़ता है। रिपोर्ट के मुताबिक 22 फीसदी वयस्क महिलाएं ज्यादा वजन की शिकार हैं।
आगे पढ़ें

भारतीय गर्भवती महिलाओं पर जीवाणु का खतरा ज्यादा 

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

India News

शपथ से पहले कुमारस्वामी ने कांग्रेस से मनवाई अपनी शर्त, जल्द करेंगे ये दो बड़े ऐलान

कुमारस्वामी ने कांग्रेस को इस बात के लिए राजी कर लिया है।

23 मई 2018

Related Videos

महामारी ना बन जाए ‘निपाह’ समेत पांच बड़ी खबरें

अमर उजाला टीवी पर देश-दुनिया की राजनीति, खेल, क्राइम, सिनेमा, फैशन और धर्म से जुड़ी से जुड़ी खबरें। देखिए LIVE BULLETINS - सुबह 7 बजे, सुबह 9 बजे, 11 बजे, दोपहर 1 बजे, दोपहर 3 बजे, शाम 5 बजे और शाम 7 बजे।

23 मई 2018

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen