लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

विज्ञापन
Hindi News ›   India News ›   159 deaths due to cancer every hour in the country, 20 percent patients in India

Cancer in India: देश में हर घंटे कैंसर से 159 मौत, भारत में 20 फीसदी मरीज

अमर उजाला ब्यूरो, नई दिल्ली। Published by: Amit Mandal Updated Sat, 10 Dec 2022 03:54 AM IST
सार

विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक वर्तमान में दुनिया के 20 फीसदी कैंसर मरीज भारत से हैं। इस बीमारी के कारण हर साल 75,000 हजार लोगों की मौत होती है।

प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर - फोटो : Pixabay

विस्तार

भारत में कैंसर बहुत तेजी से अपने पांव पसार रहा है। इस बीमारी के कारण देश में हर घंटे में 159 लोगों की मौत हो रही है। हालात कितने खराब हैं, इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि कैंसर जांच केंद्रों के जरिये बीते आठ साल में इस बीमारी से जुड़े लगभग 30 करोड़ गंभीर मामले सामने आए हैं।



स्वास्थ्य राज्यमंत्री डॉ. भारती पवार ने  लोकसभा में प्रश्नकाल के दौरान बताया कि राष्ट्रीय कैंसर रजिस्ट्री कार्यक्रम के मुताबिक साल 2020 में करीब 14 लाख लोगों की इस बीमारी से मौत हुई। इसके मरीजों की संख्या में प्रतिवर्ष 12.8 फीसदी की बढ़ोतरी हो रही है। एक अनुमान के मुताबिक साल 2025 में यह बीमारी 15,69,793 की जिंदगी लील लेगी। उन्होंने बताया कि कैंसर जांच केंद्रों के जरिये ओरल कैंसर के 16 करोड़, ब्रेस्ट कैंसर के 8 करोड़ और सर्वाइकल कैंसर के 5.53 करोड़ मामले सामने आए हैं।


विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक वर्तमान में दुनिया के 20 फीसदी कैंसर मरीज भारत से हैं। इस बीमारी के कारण हर साल 75,000 हजार लोगों की मौत होती है। कई मामलों में मरीज इलाज तक नहीं करा पाते हैं और बड़ी संख्या में लोग इस बीमारी को शुरुआती चरण को नहीं पहचान पाते। कीटनाशकों के व्यापक प्रयोग, अनियमित दिनचर्या, धूम्रपान और गुटका-तंबाकू के बढ़ते सेवन के कारण इस बीमारी की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है।

जागरुकता और शुरुआती पहचान जरूरी
डॉ. पवार ने कहा कि इस बीमारी की बढ़ती संख्या से सरकार बेहद चिंतित है। शुरुआती स्तर पर इस बीमारी की पहचान के लिए कई स्तर पर प्रयास हो रहे हैं। कैंसर जांच केंद्र के अलावा स्वास्थ्य कल्याण केंद्रों की संख्या में लगातार बढ़ोतरी की जा रही है। सरकार का लक्ष्य अगले तीन सालों में 15 लाख स्वास्थ्य केंद्र स्थापित करने का है। जागरुकता के माध्यम से इस बीमारी से बचने के उपाय बताए जा रहे हैं। सरकार कई माध्यमों से मरीजों को आर्थिक मदद मुहैया कराती है।

  • 14 लाख की मौत वर्ष 2020 में
  • 16 करोड़ ओरल कैंसर के मामले मिले

 

विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00