उपनिदेशक के बयान पर भड़के शिक्षक

Una Updated Fri, 07 Dec 2012 05:30 AM IST
ऊना। प्राथमिक स्कूलों में मिड-डे-मील योजना को लेकर तनाव और बढ़ता जा रहा है। अब आरंभिक शिक्षा उपनिदेशक के उस बयान पर संघ के पदाधिकारी भड़क उठे हैं, जिसमें उन्हाेंने दोपहर का भोजन पकाने के लिए लकड़ियों का प्रयोग करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने की बात कही है। उपनिदेशक के इस बयान पर प्राथमिक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष विनय कुमार शर्मा, महासचिव राकेश चंद्र शर्मा, कोषाध्यक्ष रवि कुमार, प्रवक्ता महेश शारदा, वरिष्ठ उपाध्यक्ष विजय शर्मा, लेखाकार लखविंद्र सिंह और प्रदेश प्रवक्ता सर्वजीत सिंह राणा ने कहा कि कठिन परिस्थितियों में भी शिक्षक जेब से पैसा खर्च कर इस योजना को चला रहे हैं, लेकिन अधिकारी उन्हें शाबाशी देने की बजाय धमकाने का काम कर रहे हैं। विभाग की ओर से ऐसा कोई पत्र नहीं आया है, जिसमें कहा गया हो कि मिड-डे-मील पकाने के लिए रसोई गैस का प्रयोग अनिवार्य है।
अब जबकि सिलेंडर का मूल्य 435 रुपये से लेकर 1290 रुपये तक जा पहुंचा है, ऐसे में विभाग की ओर से प्रति डाइट ईंधन खर्च मात्र 40 पैसे देकर शिक्षकाें पर इसी खर्च में योजना को चलाने का दबाव बनाकर उनका उत्पीड़न किया जा रहा है। उन्हाेंने विभाग की ओर से खाद्य वस्तुओं के दामों में भी कोई बढ़ोतरी न किए जाने पर भी कड़ा ऐतराज जताया है। अधिकारियों की ओर से बनाए जा रहे फालतू दबाव के चलते अब शिक्षक इस योजना को बंद करने पर विचार कर रहे हैं। उन्होंने दावा किया कि प्रदेश के 70 फीसदी स्कूलों में लकड़ियां जलाकर ही मिड-डे-मील पकाया जा रहा है।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

सुषमा स्वराज जी सुनिए, ये रोता हुआ नौजवान आपसे कुछ कह रहा है

सऊदी अरब के दम्माम में फंसे युवक सुनील राणा ने वीडियो बनाकर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मदद की गुहार लगाई है।

2 दिसंबर 2017