कसाब को फांसी समाज के भ्रमित वर्ग को सबक

Una Updated Thu, 22 Nov 2012 12:00 PM IST
मैडी (ऊना)। मुंबई हमले का दोषी मोहम्मद आमिर अजमल कसाब दुनिया भर में आतंक का पर्याय बन गया था। उसे कानून के मुताबिक फांसी दिया जाना यह साबित करता है कि ऐसी मानसिकता के लोगों का यही उचित अंत है। यह शब्द हैं कालेज छात्रा शारदा शर्मा के। बुधवार को आतंकी कसाब को फांसी दिए जाने की खबर से यहां मुंबई हमले में मारे गए लोगों के परिजनों को राहत मिली वहीं, देशभर में इस निर्णय को सराहा गया। गुप्त तरीके से खूंखार आतंकवादी को फांसी दिए जाने की खबर ने हर आदमी को कहीं न कहीं राहत दी और चर्चा का विषय भी। कानूनी प्रक्रिया में उलझकर वर्षों से विवादित रहे कसाब का अंत हो गया। डा. सुनील दत्त शर्मा का कहना है कि ऐसे आतंकवादियों को सजा से समाज के भ्रमित वर्ग को सबक मिलेगा। प्रो केके पराशर का कहना था कि आतंकवाद सभ्य समाज और मानवता के नाम पर कलंक है। सैकड़ों लोगों की जिंदगियों से खेलने वाले ऐसे आतंकियों का ऐसा ही अंत होना चाहिए। युवाओं अनिल शर्मा, राजूू, रविदत्त, पूनम शर्मा, कमल शर्मा, दिनेश कुमार, सुरिंद्र शर्मा, सरिता शर्मा, विपन कुमार, पवन कुमार, अश्वनी शर्मा, संजीव वशिष्ठ, सुनील रियात, अजय शर्मा, सुनील गौतम, गुरदेव सिंह, जगतार सिंह, कुक्कू, प्रकाश चंद का कहना है कि मुंबई में आतंकवादी हमले ने देश के आम आदमी की आत्मा को आहत किया था। इस दौरान मारे गए लोगों से सबकी भावनाएं जुड़ी हुई थीं। कसाब को फांसी ने देश के हर आदमी को आज राहत दी है। भले ही कानूनी प्रक्रिया के कारण इसमें देरी हुई हो, लेकिन ऐसे लोगों को यह एक सबक है। आतंकवाद के विरुद्ध देश हमेशा एकजुट है।
अफजल गुरु को भी जल्द मिले सजा
गगरेट (ऊना)। मुंबई हमले के दोषी अफजल कसाब को आखिर 4 साल के लंबे इंतजार के बाद फांसी पर लटकाए जाने से प्रत्येक वर्ग ने चैन की सांस ली है। क्षेत्र के सामाजिक एवं सांस्कृतिक संगठनों के लोग एवं लोकमंच के अध्यक्ष दीपक डढवाल, प्रेम सिंह, विशाल कुमार, नरेंद्र ठाकुर ने कहा कि अब आतंकवाद के जनक पाकिस्तान को भी सबक सिखाने की जरूरत हैं। मुख्य आतंकवादी संगठनों के मुख्य सरगना पाकिस्तान में रहकर विभिन्न आतंकवादी वारदातों को अंजाम देने की साजिश रचते रहते हैं। क्षेत्र के युवाओं राकेश लखनपाल, संजीव पराशर, प्रणव शर्मा, उदय शर्मा, धैर्य, तुषार, अरविंद चक्रवर्ती ने कहा कि प्रत्येक आतंकवादी के साथ ऐसा ही सलूक किया जाना चाहिए तथा 26/11 के शहीदों के लिए आज सच्ची श्रद्धांजलि देनी चाहिए। अब प्रत्येक भारतीय को आतंक वाद के खिलाफ एकजुटता से लड़ाई लड़कर इसे जड़ से उखाड़ फेंकने की जरूरत है। इन्होंने संसद पर हमले के आरोपी अफजल गुरु को भी जल्द सजा देने की मांग की है।

Spotlight

Related Videos

सुषमा स्वराज जी सुनिए, ये रोता हुआ नौजवान आपसे कुछ कह रहा है

सऊदी अरब के दम्माम में फंसे युवक सुनील राणा ने वीडियो बनाकर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मदद की गुहार लगाई है।

2 दिसंबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper