लाखों श्रद्धालुओं ने किया मां को नमन

Una Updated Mon, 23 Jul 2012 12:00 PM IST
चिंतपूर्णी (ऊना)। सावन अष्टमी मेले के तीसरे दिन चिंतपूर्णी माता के दर्शनों हेतु श्रद्धालुओं का सैलाब उमड़ पड़ा। भरवाईं से लेकर चिंतपूर्णी तक का सारे क्षेत्र में अत्यधिक भीड़ हो जाने के कारण पैदल चलना भी आसान नहीं रहा। पूरा मेला क्षेत्र दर्शन करने पहुंचे लगभग डेढ़ लाख श्रद्धालुओं से खचाखच भरा था। जबकि माता के दर्शनों को घंटों तक श्रद्धालु लंबी लाइनों में डटे रहे। माता के दर्शन के लिए श्रद्धालुओं को सात से आठ घंटे तक लाइन में खडे़ रहना पड़ा।
छोटे- छोटे बच्चे उठाए माता-पिता व बुजुर्गों को खासी दिक्कताें का सामना करना पड़ा। क्षेत्र में स्थित होटल व सराय श्रद्धालुओं से खचाखच भरी हुई हैं। कई बार तो श्रद्धालुओं को ठहरने के लिए खासी मशक्कत करनी पड़ रही है। वहीं दूसरी ओर मेले में भी बढ़ोतरी दर्ज की जा रही है। माता के दर्शन के लिए लगी लाइनें नया बस स्टैंड पार कर गई। मेले के दौरान दर्शन के लिए मंदिर भी रात को केवल आधा घंटे के लिए ही बंद किया जा सका।
मंदिर के आसपास 300 मीटर की परिधि में लंगर लगाने की अनुमति न देने से सफाई व्यवस्था में व्यापक सुधार देखने को मिल रहा है। लेकिन प्रशासन द्वारा मेले से मात्र कुछ ही दिन पहले ही यह निर्णय लेने से जिन श्रद्धालुओं ने जगह किराए पर ली थी, उन्होंने लंगर का सामान भी यहां पहुंचा दिया है। उन्हें खासी मुश्किलों का सामना करना पड़ा।
मेला अधिकारी राकेश शर्मा ने बताया कि सावन अष्टमी मेले के दौरान व्यापक प्रबंध किए गए हैं। मंदिर के आसपास ज्यादा भीड़ जमा न हो और सफाई व सुरक्षा व्यवस्था बनी रहे। इसलिए मंदिर से 300 मीटर की परिधि गृह में लंगर लगाने की अनुमति नहीं दी गई।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाले के तीसरे केस में लालू यादव दोषी करार, दोपहर 2 बजे बाद होगा सजा का ऐलान

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

सुषमा स्वराज जी सुनिए, ये रोता हुआ नौजवान आपसे कुछ कह रहा है

सऊदी अरब के दम्माम में फंसे युवक सुनील राणा ने वीडियो बनाकर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मदद की गुहार लगाई है।

2 दिसंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls