1915 के शहीदों की याद में होगा समागम

Una Updated Wed, 20 Jun 2012 12:00 PM IST
मैहतपुर (ऊना)। देश की आजादी के लिए वतन पर मर मिटने वाले सिख शहीदों की याद में पहली जुलाई 2012 को सोलन जिला के डगशई कैंट में भव्य समागम होगा। शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के सौजन्य से होने वाले इस समागम में तख्त केसगढ़ साहिब के जत्थेदार ज्ञानी त्रिलोचन सिंह, जत्थेदार अवतार सिंह प्रधान शिरोमणि गुरुद्वारा प्रंबधक कमेटी, सरदार सुच्चा सिंह लंहगा साबका कैबिनट मंत्री पंजाब समेत अनेक प्रमुख लोग शिरकत करेंगे। शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी हिमाचल प्रदेश के सदस्य दिलजीत सिंह भिंडर ने बताया कि 13 मई 1915 को जब मुल्क की आजादी की कोशिशें चल रही थीं, उस दौरान अनेक सिखों ने इस आजादी के लिए विभिन्न प्रकार की यातनाएं सही और कालेपानी की सज़ा काटी। किसी के अंग भंग कर उन्हें तड़पने के लिए छोड़ दिया गया। आजादी के उन्हीं परवानों की याद में यह समागम आयोजित होगा। भिंडर के मुताबिक 1915 में आजादी के दौरान शहीद हुए अनेक सिखों का नाम तक युवा पीढ़ी नहीं जानती, लेकिन देश की आजादी के लिए जो महान काम उन शहीदों ने किया है, उसे याद करना, उन्हें श्रद्धांजलि देना भी उनके लिए किसी सम्मान से कम नहीं होगा। एसजीपीसी मेंबर भिंडर ने बताया कि इस महान समागम में हजूरी जत्था तख्त केसगढ़ साहिब भाई कुलदीप सिंह, इलाही कीर्तन जत्था भाई जरनैल सिंह सुमनडाढी जत्था समेत शिरोमणि गुरुद्वारा प्रंबधक कमेटी से भी रागी टाड़ी जत्थे वीर शहीदों की गाथाओं को गाकर सुनाएंगे। दिलजीत सिंह भिंडर ने प्रदेश के प्रत्येक जिला से सिख संगतों के साथ साथ बाकी लोगों से भी इस समागम में बढ़चढ़ का पहुंचने की अपील की है।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

सुषमा स्वराज जी सुनिए, ये रोता हुआ नौजवान आपसे कुछ कह रहा है

सऊदी अरब के दम्माम में फंसे युवक सुनील राणा ने वीडियो बनाकर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मदद की गुहार लगाई है।

2 दिसंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls