दम है तो 21 से पहले कराएं चुनाव

Una Updated Sun, 17 Jun 2012 12:00 PM IST


मैहतपुर (ऊना)। स्थानीय औद्योगिक क्षेत्र के उद्योगपतियों में अध्यक्ष पद की कुर्सी को लेकर छिड़ी जंग में शब्दबाण छोड़ते हुए उद्योग संघ के संभावित अध्यक्ष अनिल सपाटिया ने दूसरे गुट को चुनौती देते हुए कहा कि अगर अध्यक्ष पद पर काबिज रहने का शौक रखते हैं तो 21 जून तक जनरल हाउस बुलाकर संघ का चुनाव कराएं। अन्यथा जनरल हाउस द्वारा आमराय से मनोनीत पांच सदस्यीय कोर कमेटी ही अगले एक साल के लिए संघ का संचालन करेगी।
शनिवार को पत्रकारों से बातचीत के दौरान जनरल हाउस से मनोनीत अध्यक्ष अनिल सपाटिया, महासचिव अशोक शर्मा, कन्वेनर विजय ला, कोषाध्यक्ष अनिल शर्मा ने कहा कि चुनाव के लिए जनरल हाउस ही सुप्रीम है। उन्हें हाउस में अपने दावे को पुख्ता करना चाहिए। सपाटिया गुट की मानें तो उनका चयन संघ के संविधान के मुताबिक ही होगा और जैसा जनरल हाउस चाहेगा, वैसा ही निर्णय लिया जाएगा। उन्होंने उद्योगपतियों में आपसी भाईचारे को कायम रखने की सलाह देते हुए सभी से अपील की है कि वह जिसे चाहे अध्यक्ष बना सकते हैं।
सपाटिया गुट ने सवाल उठाया कि किस आधार पर दूसरा गुट दो साल के लिए काबिज होने का दावा पेश कर रहा है? कार्यकारिणी के कार्यकाल को एक से बढ़ाकर दो साल करने बारे उन्होंने कहा कि सर्कुलर के मुताबिक यह मुद्दा चरचा के लिए आया जरुर था, लेकिन इस बाबत किसी प्रकार का कोई संशोधन हाउस में हुआ ही नहीं है।कुल 117 सदस्यों में 80 सदस्यों ने उनकी टीम को समर्थन व्यक्त किया है। 85 हजार के खर्च बारे सपाटिया ने कहा कि इसका हिसाब खुद वही लोग दें, जो हिसाब मांग रहे हैं। यह उन्हीं के कार्यकाल में यह खर्च हुआ है। ग्रीन बैल्ट को विकसित करना, आपसी भाईचारा कायम करना, जातपात एवं सियासी मतभेदों से ऊपर उठकर समूचे औद्योगिक क्षेत्र को बुंलदी की ओर ले जाना ही उनकी टीम का मुख्य लक्ष्य होगा।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाले के तीसरे केस में लालू यादव दोषी करार, दोपहर 2 बजे बाद होगा सजा का ऐलान

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

सुषमा स्वराज जी सुनिए, ये रोता हुआ नौजवान आपसे कुछ कह रहा है

सऊदी अरब के दम्माम में फंसे युवक सुनील राणा ने वीडियो बनाकर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मदद की गुहार लगाई है।

2 दिसंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls