हड़प लिया 129 श्रमिकों का ईएसआई फंड

बद्दी (सोलन)/ब्यूरो Updated Sat, 15 Dec 2012 04:16 PM IST
irregularity in esi fund of 129 employees
औद्योगिक क्षेत्र बद्दी में श्रमिकों के हितों से खिलवाड़ किया जा रहा है। कंपनियां पगार से ईएसआई फंड तो काट रहीं हैं, लेकिन उसे राज्य बीमा निगम में जमा नहीं करवाया जा रहा है। इस गोरखधंधे में कई श्रमिकों को ईएसआई सेवा से महरूम रहना पड़ रहा है।

इसका खुलासा कर्मचारी राज्य बीमा निगम की टीम ने एक उद्योग में छापेमारी के दौरान किया है। ईएसआई एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर आगामी कार्रवाई के लिए कोर्ट में मामला पेश किया है। श्रमिकों की शिकायत पर कर्मचारी राज्य बीमा निगम ने यह कार्रवाई की है।

शिकायत थी कि एक उद्योग ईएसआई के रूप में पैसा तो ले रहा है, लेकिन यह सरकारी पैसा निगम को नहीं दे रहा। इस पर ईएसआईसी के क्षेत्रीय निदेशक बीएस नेगी ने नालागढ़ के सामाजिक सुरक्षा अधिकारी अमीचंद के नेतृत्व में चार अधिकारियों की टीम गठित कर संबंधित उद्योग में छापामारी की।

नहीं हो सके रिकॉर्ड इधर-उधर
अचानक हुई छापामारी में उद्योगों के कर्मचारियों को अपना रिकॉर्ड इधर-उधर करने और पूरा करने का मौका नहीं मिला। टीम ने मौके पर कंपनी का रिकॉर्ड चैक किया। इसमें पाया कि एक कंपनी के 129 मजदूरों का ईएसआई फंड उनके वेतन से अप्रैल से कट रहा है, लेकिन अभी तक वह निगम के कार्यालय में जमा नहीं हुआ। यही नहीं, 56 कामगार ऐसे पाए गए जो ईएसआई के तहत पंजीकृत नहीं थे। टीम ने कंपनी के रिकॉर्ड कब्जे में लेकर निगम के उपनिदेशक को सौंप दिए।

श्रमिकों के साथ किया धोखा : नेगी
उपनिदेशक सी नेगी ने रिकॉर्ड कब्जे में लेने की पुष्टि की व कहा कि संबंधित कंपनी ने श्रमिकों के पैसे का दुरुपयोग कर उनके साथ धोखा किया। इससे उन्हें कई सुविधाओं से वंचित रहना पड़ा। निगम ने ईएसआई एक्ट के तहत धारा 85 (जी), 85 (ई), 85 (ए) तथा आईपीसी 406 व 409 के तहत मामला दर्ज कर आगामी कार्रवाई को कोर्ट में पेश कर दिया है।

Spotlight

Most Read

Kushinagar

गंदगी के बीच खड़ा होकर पकड़ना पड़ता बस

पडरौना। यात्री प्रतीक्षालय ऐसा कि वहां पर बैठकर इंतजार नहीं किया जा सकता। गंदगी चारों तरफ फैली रहती है, जिससे वहां पर खड़ा होना मुश्किल रहता है। गंदगी के बीच ही खड़ा होकर लोगों को बस पकड़ना पड़ता है।

20 जनवरी 2018

Related Videos

बीजेपी के इस दांव से खतरे में पड़ी कांग्रेस की सुरक्षित सीट सोलन

हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनाव महज कुछ ही दिनों की बात रह गई है। ऐसे में 68 सीटों पर प्रत्याशी अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। अमर उजाला टीवी की टीम हिमाचल प्रदेश में जनता का मूड जानने के लिए पहुंची। देखिए इस महासंग्राम की GROUND REPORT

7 नवंबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper