कार की चपेट में आया मासूम

Solan Updated Sat, 03 Nov 2012 12:00 PM IST
कार की चपेट में आया मासूम
बद्दी (सोलन)। ढेला के एक निजी स्कूल में पढ़ने वाले पहली कक्षा के बच्चे की इंडिका कार की चपेट में आने से दर्दनाक मौत हो गई है। हालांकि जिस समय यह दुर्घटना हुई उस दौरान बच्चे की माता भी उसके साथ ही थी। पुलिस कार चालक के खिलाफ गिरफ्तार करने के बाद शव को कब्जे में ले लिया। नालागढ़ चिकित्सालय में पोस्टमार्टम के बाद बच्चे के अंतिम संस्कार के लिए परिजनों को सौंप दिया है।
कांगड़ा जिले के जयसिंहपुर तहसील के नारंगपुर गांव के संजीव कुमार बद्दी में ट्रैक्टर बनाने वाली कंपनी में कार्यरत है। संजीव कुमार की पत्नी सुषमा देवी थाना पंचायत के नारंगपुर गांव में एक निजी स्कूल में कार्यरत है। सुषमा के पांच वर्र्षीय बेटा संतोष कुमार और चार वर्षीय अरमान ढेला गांव के एक निजी स्कूल में पढ़ते हैं। दोपहर 12 बजे जब यह दोनों बच्चे निजी बस से आए तो सुषमा ने इन बच्चों के साथ सड़क पार करा रही थी। बस के पीछे से सड़क पार करते हुए अरमान का हाथ तो पकड़ा हुआ था लेकिन संतोष कुमार इन दोनों से आगे चल रहा था। जैसे ही संतोष सड़क क्रास करने लगा तो दूसरी ओर से तेज रफ्तारी में आई इंडिका ने इसे टक्कर मार दी। बच्चे की सिर सड़क पर लगते ही वह बेहोश हो गया। बेहोशी की हालत में उसे बद्दी के एक निजी चिकित्सालय पहुंचाया गया। जहां पर चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। सूचना मिलते ही पुलिस ने चिकित्सालय में पहुंची तो शव को अपने कब्जे में लेने के बाद नालागढ़ चिकित्सालय में पोस्टमार्टम कराया। दोपहर बाद बच्चों को अंतिम संस्कार के लिए परिजनों को सौंप दिया है। वहीं डीएएसपी अमित शर्मा ने घटना की पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि पिंजौर निवासी अमित अग्रवाल को गिरफ्तार कर उसके खिलाफ धारा 279 और 304 के तहत मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है।

मां की हल्की सी चूक से बच्चे की हुई मौत
बद्दी (सोलन)। कांगड़ा के जयसिंहपुर निवासी संजीव कुमार की पत्नी की हल्की सी चूक से अपने बच्चे के लिए भारी पड़ गई । निजी स्कूल में स्वयं कार्यरत होने के बावजूद वह अपने बच्चों को खुद घर कर छोड़ती थी। महिला पहले तो बस के पीछे से सड़क पार कर रही थी और बच्चे का हाथ भी नहीं पकड़ रखा था। ऐसे में बच्चा गाड़ी से टकरा गया। संजीव कुमार और सुषमा बेटे की मौत से सदमे में हैं। इस मामले की जांच कर रहे एएसआई दुर्गा सिंह ने बताया कि ट्रैक्टर बनाने वाली कंपनी में तैनात संजीव कुमार के जब उन्होंने बयान लेना चाहा तो वह यह बताने में असमर्थ रहा कि उसकी पत्नी कौन से निजी स्कूल में कार्य करती है तथा उसका बेटा कहां पर पढ़ता था? यही हाल उसकी पत्नी सुषमा का रहा। पुलिस को उसके बयान दर्ज करने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ी। महिला यह नहीं बता पा रही थी कि यह हादसा हुआ कैसे?

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

बीजेपी के इस दांव से खतरे में पड़ी कांग्रेस की सुरक्षित सीट सोलन

हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनाव महज कुछ ही दिनों की बात रह गई है। ऐसे में 68 सीटों पर प्रत्याशी अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। अमर उजाला टीवी की टीम हिमाचल प्रदेश में जनता का मूड जानने के लिए पहुंची। देखिए इस महासंग्राम की GROUND REPORT

7 नवंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls