22 दिन प्रचार 05 साल का राज

Solan Updated Thu, 11 Oct 2012 12:00 PM IST
22 दिन प्रचार 05 साल का राज
सोलन। महज 22 दिन का प्रचार पांच साल का राज तय करेगा। नए प्रत्याशियों के लिए अग्निपरीक्षा होगी। जिला में पहली बार चुनाव लड़ रहे आठ अहम उम्मीदवार चुनावी मैदान में हैं। कवर करने के लिए काफी बड़े क्षेत्र हैं। प्रदेश का सबसे बड़े विधानसभा क्षेत्र अर्की के अलावा सोलन, दून, नालागढ़ और कसौली में डोर टू डोर तक पहुुंचना किसी चुनौती से कम नहीं है। कारण यह है कि इस बार विधानसभा चुनावों के लिए बीते चुनाव के मुकाबले प्रचार के लिए काफी कम समय है। अब इस कम समय में नामांकन के दिन सहित स्टार प्रचारकों के लिए भी प्रत्याशियों को दिन गुजारने होंगे।

विधानसभा चुनावों में ये नए चेहरे
सोलन से दोनों प्रत्याशी कांग्रेस के धनीराम शांडिल और बीजेपी की कुमारी शीला वैसे तो पहले कई चुनाव लड़ चुके हैं, लेकिन विधानसभा चुनाव दोनों के लिए पहले होंगे। नालागढ़ से भाजपा प्रत्याशी केएल ठाकुर, दून से कांग्रेस प्रत्याशी रामकुमार चौधरी, आजाद प्रत्याशी परमजीत सिंह पम्मी, अर्की से कांग्रेस प्रत्याशी संजय अवस्थी, आजाद प्रत्याशी आशा परिहार, कसौली से कांग्रेस प्रत्याशी विनोद सुल्तानपुरी नए चेहरे हैं। इसके अलावा अन्य दलों ने भी नए चेहरे चुनावी समर में उतारे हैं।

विस क्षेत्र महिलाएं पुरुष वोटरों की संख्या
अर्कीं 37701 39198 76899
नालागढ़ 34980 38088 73068
सोलन 33918 37294 71212
कसौली 26729 29939 56668
दून 24757 27499 52256

ऐसे बीत रहा दिन
भोर होते ही भागमभाग शुरू हो रही है। प्रत्याशियों की पहले समर्थकों के साथ पहले बैठक। उसके बाद फील्ड में रवानगी। मतदाताओं से वोट मांगने की अपील। नाराज चल रहे समर्थकों का मान मनुहार। कार्यकर्ताओं को एकजुटता का पाठ पढ़ाना। जहां वोटर दिखे, वहां गाड़ी को ब्रेक लगना और वोट मांगना । उसके गंतव्य तक पहुुंचाने आदि कामों के बाद थक हार देर रात की बैठकों में कार्यकर्ताओं से फीडबैक लेना और अगले दिन के प्रचार की रणनीति तैयार करना दिनचर्या बन गई है।

हम तो पहले से सक्रिय हैं
भाजपा के जिला अध्यक्ष राजीव सहजल के अनुसार समय कम हैं, लेकिन भाजपा चुनावों के लिए पहले से तैयार हो चुकी थी। लिहाजा भाजपा का मिशन रिपीट सफल होगा। वहीं कांग्रेस जिला अध्यक्ष राहुल ठाकुर ने कहा कि भाजपा तो अभी भी टिकटों के फेर में उलझी है। कांग्रेस की जीत तो तय है।

फ्लैश बैक 2007
वर्ष 2007 के चुनावों के दौरान सितंबर माह के पहले सप्ताह में आचार संहिता लग गई थी। मतदान 03 नवंबर को हुआ और परिणाम 19 दिसंबर को घोषित हुआ, लेकिन इस बार आचार संहिता अक्तूबर माह में लगी और चुनाव 04 नवंबर को है। मतगणना के बाद 28 दिसंबर को परिणाम घोषित होंगे। बीते चुनाव और इस बार के चुनावों में मतदान के लिए दिन बेहद कम हैं।

Spotlight

Most Read

Kanpur

बाइकवालाें काे भी देना हाेगा टोल टैक्स, सरकार वसूलेगी 285 रुपये

अगर अाप बाइक पर बैठकर आगरा - लखनऊ एक्सप्रेस वे पर फर्राटा भरने की साेच रहे हैं ताे सरकार ने अापकी जेब काे भारी चपत लगाने की तैयारी कर ली है। आगरा - लखनऊ एक्सप्रेस वे पर चलने के लिए सभी वाहनों को टोल टैक्स अदा करना होगा।

16 जनवरी 2018

Related Videos

बीजेपी के इस दांव से खतरे में पड़ी कांग्रेस की सुरक्षित सीट सोलन

हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनाव महज कुछ ही दिनों की बात रह गई है। ऐसे में 68 सीटों पर प्रत्याशी अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। अमर उजाला टीवी की टीम हिमाचल प्रदेश में जनता का मूड जानने के लिए पहुंची। देखिए इस महासंग्राम की GROUND REPORT

7 नवंबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper