नाटक के जरिये जताया विरोध

Solan Updated Sun, 05 Aug 2012 12:00 PM IST
नाटक के जरिये जताया विरोध
सोलन । राहुल (जीतेंद्र्र बीसीए फर्स्ट) के परिवार में खुशियां का माहौल है। वे अपनी बहन के साथ 12वीं कक्षा में पास हो गया है। उच्च शिक्षा के लिए कालेज पढ़ना चाहता है। मामूली सा किसान परिवार आर्थिक रूप से बेहद कमजोर है। नतीजतन सिर्फ एक की पढ़ाई का ही खर्चा उठाया जा सकता है। फैसला राहुल को कालेज पढ़ाने का फैसला लिया जाता है। जैसे-तैसे करके एडमिशन हो जाती है। कालेज में राजनीति के माहौल को वे समझने की कोशिश करता है। फीस बढ़ोतरी होने के कारण वो एक धरने का हिस्सा बन जाता है। वहीं उच्च अधिकारी इसे दबाने की कोशिश करते हुए पुलिस का सहारा लेते हैं, प्रदर्शन के दौरान पुलिस के लाठी चार्ज में राहुल घायल हो जाता है। अस्पताल में दाखिल राहुल को देख उसके घरवाले परेशान हो उठते हैं। नाटक का असली मकसद फीस बढ़ोतरी के प्रस्ताव को ठेस पहुंचाना था। इसमें दिखाया कि एक साधारण परिवार छात्र की पढ़ाई का बोझ कैसे उठाए? इसी चिंता में उसे छात्र राजनीति से जुड़ना पड़ा। विरोध उसके परिवार के लिए भी दर्द लेकर आया। यह नाटक एसएफआई द्वारा फ्रेशर के लिए दी गई पार्टी में पेश किया गया।
नाटक का थीम फीस बढ़ोतरी के प्रस्ताव का विरोध करना था, जिसे एसएफआई अजय भट्टी, प्रवीण कुमार, दीपक, पंकज, अभित ने हिस्सा लिया। फ्रेशर के लिए रखे इस विशेष समारोह में स्टेज संचालन नितिश ठाकुर और मोहित राज ने किया।


टेंशन नहीं लेने का....मस्त बाबा रहने का
इस समारोह में किन्नौरी नाट्ी टेंशन नहीं लेने का... मस्त बाबा रहने का और शिमला नाटी रोहडू जानी मेरी अम्मिये ने खूब रंग बिखेरे। पंजाबी तड़का में गिद्दे बिच जद में नच्चा... ने खूब धमाल मचाया। इस आयोजन में प्रियंका, किरण, अंबिका, सिलकी, सीमा, अन्नू, प्रीति, प्रतिमा, सूर्या, ज्योति, दीपा, मोहित, कपिल, मंजू, कृष्णा और अमित मौजूद रहे।

संस्कृति को भी बचाना मकसद: मोहित
जिला अध्यक्ष मोहित वर्मा ने कार्यक्रम में मौजूद विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए कहा कि छात्र राजनीति करते वक्त एसएफआई का मकसद सिर्फ राजनीति मुद्दों को ही उठाना नहीं है, बल्कि संस्कृति को भी बचाना है।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी पुलिस भर्ती को लेकर युवाओं में जोश, पहले ही दिन रिकॉर्ड रजिस्ट्रेशन

यूपी पुलिस में 22 जनवरी से शुरू हुआ फॉर्म भरने का सिलसिला पहले दिन रिकॉर्ड नंबरों तक पहुंच गया।

23 जनवरी 2018

Related Videos

बीजेपी के इस दांव से खतरे में पड़ी कांग्रेस की सुरक्षित सीट सोलन

हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनाव महज कुछ ही दिनों की बात रह गई है। ऐसे में 68 सीटों पर प्रत्याशी अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। अमर उजाला टीवी की टीम हिमाचल प्रदेश में जनता का मूड जानने के लिए पहुंची। देखिए इस महासंग्राम की GROUND REPORT

7 नवंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper