एक के बाद एक वारदात से सनसनी

Rampur Updated Tue, 20 Nov 2012 12:00 PM IST
रोहड़ू। क्षेत्र में सनसनी फैलाने वाले अपराध में संलिप्त लोगों का सुराग न मिलना लगातार पुलिस की मुश्किलें बढ़ा रहा है। तीन हत्याओं को अंजाम देने वाले अपराधी अभी भी पुलिस गिरफ्त से बाहर हैं। अब चिड़गांव पुलिस थाना के तहत जिताटा गांव के जंगल में फिर एक गले सड़े शव के मिलने से सनसनी फैल गई है। बडियारा के समीप दो दिन पहले खाली घर में छत से लटकी युवती के मामले की पुलिस जांच कर ही रही थी कि इस घटना स्थान से कुछ दूरी पर जिताटा गांव के साथ जंगल में एक अज्ञात व्यक्ति का गला सड़ा शव मिला है। लोगों का कहना है कि व्यक्ति की मौत संदिग्ध परिस्थितियों में हुई है। हालांकि, अभी पुलिस इसकी मौत का कारण स्पष्ट नहीं कर रही है। इससे पहले दो अक्तूबर 2012 को चिड़गांव पुलिस थाना के तहत बडियारा में ही पब्बर नदी से एक महिला की पुलिस ने सिरकटी लाश बरामद की थी। महिला की पहचान तक नहीं हो सकी है। पुलिस ने हत्या का मामला भी दर्ज किया है। पुलिस थाना रोहड़ू के तहत इस साल 22 फरवरी 2012 को सियाओ कैंची के समीप टैक्सी चालक मुनीश की निर्मम हत्या हुई है। अभी तक हत्यारे का सुराग नहीं मिला है। जुब्बल पुलिस थाना के तहत तीसरी हत्या छह नवंबर 2012 को छाजपुर में कश्मीरी युवक की हुई है। युवक का शव भी जंगल के साथ फेंका गया था। फेरी लगाने वाले कश्मीरी युवक की मौत के पीछे किसका हाथ रहा, पुलिस के पास इसका भी कोई जवाब नहीं है। डीएसपी राज कुमार चंदेल का कहना है कि हत्या के तीनों मामलों की जांच चल रही है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद अज्ञात शव की जांच भी होगी। उन्होंने कहा कि पुलिस आरोपियों का सुराग तलाशने की पूरी कोशिश कर रही है।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

भारतीय डाक में निकलीं 2,411 नौकरियां, ऐसे करें अप्लाई

करियर प्लस के इस बुलेटिन में हम आपको देंगे जानकारी लेटेस्ट सरकारी नौकरियों की, करेंट अफेयर्स के बारे में जिनके बारे में आपसे सरकारी नौकरियों की परीक्षाओं या इंटरव्यू में सवाल पूछे जा सकते हैं और साथ ही आपको जानकारी देंगे एक खास शख्सियत के बारे में।

24 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls