नावर में पिछले चुनाव की तुलना में अधिक वोटिंग

Rampur Updated Tue, 06 Nov 2012 12:00 PM IST
जुब्बल (शिमला)। जुब्बल कोटखाई और नावर क्षेत्र में पिछले चुनाव की तुलना में अधिक मतदान हुआ है। विधानसभा क्षेत्र में कुल 78.71 फीसदी मतदान हुआ है। अधिक मतदान का होना कांग्रेस और भाजपा अपने लिए फायदेमंद मान रही है। जुब्बल कोटखाई में 127 पोलिंग बूथों पर कुल 63851 मतदाता थे। इनमें से 50256 मतदाताओं ने मतदान किया। जबकि, वर्ष 2007 चुनाव में 76.77 प्रतिशत मतदान हुआ था। कुल 44988 वोटरों ने वोट डाले थे। जुब्बल क्षेत्र के 52 पोलिंग बूथों पर कुल 26372 मतदाता थे। इनमें से 20900 मत पड़े हैं। जबकि, वर्ष 2007 के चुनाव में कुल 29893 मतों में से 22895 मत पड़े थे। जुब्बल रोहित ठाकुर का गृह क्षेत्र है। जुब्बल सेे दो अन्य प्रत्याशी बसपा के राम लाल केश्टा तथा निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में लोकिंद्र चौहान भी मैदान में हैं।
जबकि, कोटखाई क्षेत्र के 57 पोलिंग बूथों पर मतदाताओं की संख्या 27963 थी। यहां 22250 मत पड़े हैं। जबकि, वर्ष 2007 के चुनाव में कोटखाई के कुल 28901 मतों में से 22093 मत पड़े थे। कोटखाई बागवानी मंत्री नरेंद्र बरागटा का गृह क्षेत्र है। कोटखाई से वह इकलौते प्रत्याशी मैदान में हैं।
पुनर्सीमांकन के बाद रोहडू से जुब्बल कोटखाई में शामिल हुए नावर क्षेत्र के 18 पोलिंग बूथों पर मतदाताओं की संख्या 9516 थी। यहां 7100 मत पड़े हैं। जबकि, वर्ष 2007 के चुनाव में कुल 9500 मतों में से 6800 मत पड़े थे। जुब्बल कोटखाई पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह का निर्वाचन क्षेत्र रहा है। जुब्बल कोटखाई विधानसभा क्षेत्र में हुआ भारी मतदान किसे कितना लाभ पहुंचाता है, इसका पता तो 20 दिसंबर को चुनावी नतीजे आने के बाद ही लग पाएगा।

Spotlight

Most Read

Jharkhand

चारा घोटाला: चाईबासा कोषागार मामले में कोर्ट ने सुनाया फैसला, तीसरे केस में लालू दोषी करार

रांची स्थित विशेष सीबीआई अदालत ने चारा घोटाले के तीसरे मामले में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और आरजेडी के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को दोषी करार दिया है। साथ ही पूर्व सीएम जगन्नाथ मिश्रा को भी दोषी ठहराया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: आपने आज तक नहीं देखा होगा ऐसा डांस! चौंक जाएंगे देखकर

सोशल मीडिया पर अक्सर आपको कई चीजें वायरल होते हुए मिल जाती हैं लेकिन फिर भी कई चीजें ऐसी होती हैं जो वायरल तो हो रही हैं लेकिन आप तक नहीं पहुंच पातीं।

24 जनवरी 2018