बैठक न होने पर भड़के कर्मचारी

Rampur Updated Thu, 09 Aug 2012 12:00 PM IST
रिकांगपिओ (किन्नौर)। एक वर्ष से कर्मचारी महासंघ की प्रशासन के साथ कोई बैठक न होने से जनजातीय जिला किन्नौर में कार्य कर रहे कर्मचारियों में सरकार के प्रति रोष है। अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ किन्नौर के अध्यक्ष जगत नेगी ने बताया कि मुख्य सचिव ने किन्नौर अराजपत्रित कर्मचारी संघ को सात अगस्त को किन्नौर में जिला स्तरीय संयुक्त सलाहकार समिति की बैठक आयोजन करने का आश्वासन दिया था। लेकिन, मुख्य सचिव ने जनजातीय जिला किन्नौर के कर्मचारियों को समय देने के बाद भी किन्नौर नहीं पहुंच पाए। इससे ऐसा प्रतीत होता है कि मुख्य सचिव ने भी जनजातीय जिला किन्नौर में कार्यरत सरकारी कर्मचारियों को राज्य स्तरीय संयुक्त सलाहकार की बैठक में लालीपाप देकर इन कर्मचारियों से अपना पल्ला झाड़ा है। सात अगस्त को आयोजित होने बाली बैठक न होने से सामाजिक एवं नागरिक अधिकारिता विभाग महासंघ किन्नौर से अध्यक्ष संजोग मेहता, चालक-परिचालक महासंघ अध्यक्ष किन्नौर चंद्र गौपाल, महामंत्री बीर सिंह नेगी, स्वास्थ्य कार्यकर्ता एवं पर्यवेक्षक महासंघ किन्नौर अध्यक्ष विनय सिंह, प्राथमिक सहायक अध्यापक महासंघ अध्यक्ष सुरेंद्र नेगी, पैट अध्यक्ष टिकम सिंह नेगी, अनुबंध कर्मचारी, अधिकारी महासंघ अध्यक्ष डा. राकेश राणा, पशु पालन विभाग कर्मचारी महासंघ अध्यक्ष हरदेव सिंह नेगी, अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ कल्पा इकाई के अध्यक्ष राजा पद्म, महामंत्री रूपेंद्र नेगी व पंचायती राज सचिव महासंघ अध्यक्ष बाबूराम नेगी सहित कई संघों के अध्यक्षों में संयुक्त सलाहकार समिति की बैठक न होने से जिला प्रशासन और प्रदेश सरकार रोष है। संयुक्त सलाहकार समिति की बैठक में ही जनजातीय क्षेत्रों में कार्य करने वालों की समस्याओं पर मंथन किया जाता है, लेकिन ऐसा लगता है कि जिला प्रशासन और प्रदेश सरकार को दुर्गम क्षेत्रों में कार्यरत कर्मचारियों की परवाह तक नहीं है।
किन्हीं प्रशासनिक कारणों से प्रदेश मुख्य सचिव के साथ संयुक्त सलाहकार समिति की बैठक नहीं हो पाई है। जल्द ही जेसीसी बैठक करवा कर जनजातीय क्षेत्रों में कार्यरत कर्मचारियों की समस्याओं को जल्द सुलझा लिया जाएगा।
—जगत नेगी अध्यक्ष अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ किन्नौर।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

भारतीय डाक में निकलीं 2,411 नौकरियां, ऐसे करें अप्लाई

करियर प्लस के इस बुलेटिन में हम आपको देंगे जानकारी लेटेस्ट सरकारी नौकरियों की, करेंट अफेयर्स के बारे में जिनके बारे में आपसे सरकारी नौकरियों की परीक्षाओं या इंटरव्यू में सवाल पूछे जा सकते हैं और साथ ही आपको जानकारी देंगे एक खास शख्सियत के बारे में।

24 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls