साढ़े चार किलो चरस के साथ दो धरे

Shimla Bureau Updated Fri, 12 Jan 2018 10:53 PM IST
ख़बर सुनें
अमर उजाला ब्यूरो
चौंतड़ा (मंडी)। बसों के बाद अब ट्रकों में भी चरस की तस्करी शुरू हो गई है। मंडी जोगिंद्रनगर मार्ग पर चौंतड़ा के समीप पुलिस ने गश्त के दौरान साढ़े चार किलो चरस की खेप ट्रक से बरामद की है। खाली ट्रक मंडी से पठानकोट की ओर जा रहा था। पुलिस ने मौके पर ही चालक और एक अन्य को गिरफ्तार कर छानबीन शुरू कर दी है। वहीं, पुलिस हर पहलू को ध्यान में रखकर जांच कर रही है।
पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक पुलिस चौकी घट्टा के प्रभारी सब इंस्पेक्टर कुलदीप कुमार की अगुवाई में पुलिस गश्त पर थी। रात को हिमाचल के नंबर के ट्रक को रोका गया, लेकिन चालक और उसमें बैठा अन्य व्यक्ति हड़बड़ा गए। इस दौरान जब पुलिस ने चेकिंग शुरू की तो ट्रक से साढ़े चार किलोग्राम चरस बरामद की। ट्रक पधर इलाके से किसी का बताया जा रहा है। पुलिस ने ट्रक चालक रंगीला राम पुत्र गणपत राम निवासी ग्वाली के साथ ट्रक में सवार संजय राम पुत्र गोविंद राम निवासी थरडूखोड को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस चौकी प्रभारी कुलदीप कुमार ने इसकी पुष्टि की है। गिरफ्तारी के बाद दोनों को अदालत ले जाया गया, जहां से उन्हें 15 जनवरी तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। इस चरस तस्करी के तार पंजाब से जुड़े हुए बताए जा रहे हैं।
तो पठानकोट में होनी थी डिलीवरी
ऐसा माना जा रहा है कि नशे कि यह खेप पठानकोट में बिकनी थी। इसकी कीमत करीब तीन लाख है। जबकि, पंजाब में इसकी कीमत 5 से 6 लाख रुपये आंकी जाती है। पुलिस फिलहाल इसके सौदागरों और क्रेताओं तक पहुंचने के लिए जुट गई है। पुलिस चौकी प्रभारी कुलदीप ने बताया कि नशे का कारोबार करने वालों को किसी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा।

दो माह में एक दर्जन से अधिक मामले पकड़े
तस्करी का पड़ोसी राज्यों से सीधा कनेक्शन
अमर उजाला ब्यूरो
मंडी। छोटी काशी मंडी चरस माफिया के चंगुल में है। युवा पीढ़ी सबसे अधिक नशे की चपेट में आ रही है। चरस माफिया नशे की डोज पहुंचाकर युवा पीढ़ी को खोखला करने में कोई कसर नहीं छोड़ रहा है। पुलिस की सख्ती के बावजूद चरस तस्करी के मामले बढ़ते जा रहे हैं। दो माह में मंडी जिले में ही करीब एक दर्जन चरस तस्करी के मामले सामने आ चुके हैं। शुक्रवार को भी साढ़े चार किलोग्राम चरस बरामद हुई है। इससे पहले पकड़े गए मामलों में सभी आरोपी 18 से 35 वर्ष की आयु के हैं। जबकि, अधिकतर आरोपी मूलत: कुल्लू जिले से संबंध रखते हैं। हाल में ऐसे तीन बड़े मामले सामने आए हैं। इसमें पकड़े गए आरोपी युवा और अधिकतर कुल्लू से ही संबंध रखते हैं। इस काले कारोबार में युवाओं को पोर्टर के रूप में इस्तेमाल किया जा रहा है। नशे का यह कारोबार कुल्लू के साथ ही मंडी जिले के चौहर वैली, करसोग और जंजैहली वैली में खूब फलफूल रहा है। यहां यह देश के बाहरी राज्यों के लिए नशे की खेप सप्लाई हो रही है।
शार्टकट तरीके से पैसे कमाने की चाह बनी कारोबार का कारण
पुलिस की मानें तो शार्टकट तरीके के साथ ही पैसे कमाने की चाह के अलावा युवा नशे की जरूरतों को भी पूरा करने के लिए इस काले कारोबार में फंस रहे हैं। अधिकतर युवा या तो कुल्लू अथवा फिर पर्यटक हैं। हाल ही में कई पर्यटकों से चरस बरामद की गई है। यहां तक विदेशी पर्यटकों से भी कई बार किलो के हिसाब से पुलिस चरस बरामद हो चुकी है।
यह हैं मामले
-24 नवंबर को 4.460 किग्रा चरस बिंद्रावणी में कुल्लू और कागड़ा के युवकों से बरामद
-14 दिसंबर को आइटीआई मंडी गेट के सामने मेें वोल्वो बस में कुल्लू के व्यक्ति से पकड़ी चरस।
-07 दिसंबर को पंडोह में कुल्लू के ही एक युवा से चरस बरामद
-02 लांगना में कांगड़ा के चार लोगों से तीस ग्राम चरस पकड़ी
-09 जनवरी को 886 ग्राम औट थाना के तहत चरस बरामद
-05 जनवरी को पधर थाना क्षेत्र में 41 ग्राम चरस पकड़ी
-11 जनवरी 2017 को दो युवको से 533 ग्राम चरस बरामद
-12 जनवरी 4.5 किलोग्राम चरस पकड़ी

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News App अपने मोबाइल पे|
Get all crime news in Hindi. Stay updated with us for all breaking hindi news.

Spotlight

Most Read

Deoria

आठवीं की छात्रा ने मिड-डे-मील में मिलाया विषाक्त पदार्थ

आठवीं की छात्रा ने मिड-डे-मील में मिलाया विषाक्त पदार्थ

17 जुलाई 2018

Related Videos

VIDEO: उड़कर मकान की छत पर जा पहुंची कार

हिमाचल प्रदेश के मंडी जिले के एक गांव में अजीबो गरीब हादसा देखने को मिला।

4 मार्च 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen