मंडी में कांग्रेस और भाजपा के बीच मुकाबला बराबर

Mandi Updated Fri, 21 Dec 2012 05:32 AM IST
मंडी। हिमाचल के चुनावी समर में कांग्रेस ने सत्ता में वापसी की है। वहीं कांग्रेस और भाजपा के बीच मुकाबला बराबरी पर छूटा है। जिले की दस में से पांच सीटों पर कांग्रेस तो पांच पर भाजपा ने जीत हासिल की है। मतदाताओं ने सारे पूर्वानुमानों को गलत साबित करते हुए दोनों ही दलों को बराबर का मौका दिया है। मंडी जिले में इस बार कांग्रेस के दिग्गज नेता कौल सिंह ठाकुर, मनसा राम, अनिल शर्मा, सोहन लाल ठाकुर और प्रकाश चौधरी ने जीत दर्ज की है तो भाजपा के तीनों मंत्री जय राम ठाकुर, गुलाब सिंह ठाकुर और महेंद्र सिंह जीत का परचम फहराने में कामयाब रहे। वहीं नाचन से भाजपा के उम्मीदवार विनोद कुमार पहली बार जीत दर्ज कर विधान सभा की दहलीज पार करने में कामयाब रहे, मगर वीरभद्र सिंह के करीबी रंगीला राम राव सरकाघाट में भी कर्नल इंद्र सिंह से हार गए हैं। जोगिंद्रनगर में लोनिवि मंत्री गुलाब सिंह ने अपने ही भतीजे सुरेंद्रपाल को भी चुनावी जंग में पछाड़ दिया है, जबकि नाचन में टेकचंद डोगरा और धर्मपुर में कांटे के मुकाबले में महेंद्र सिंह ठाकुर से हारे चंद्रशेखर भी वीरभद्र समर्थक माने जाते हैं। 2007 में भाजपा ने मंडी जिले की दस में से छह और निर्दलीय समेत सात पर भगवा फहराया था। वहीं कांग्रेस को सदर, बल्ह और द्रंग में ही जीत नसीब हुई थी। इस बार भले ही कांग्रेस ने वापसी की है, मगर अपने परंपरागत किले पर पूरी तरह से कब्जा नहीं कर पाई है। इस बार के चुनाव में कांग्रेस को दो सीटों का इजाफा हुआ है, जबकि भाजपा को निर्दलीय समेत दो सीटों का नुकसान हुआ है। इस बार के चुनाव में रोचक पहलू यह रहा कि दोनों ही दलों के दिग्गज तमाम घेराबंदियों और भितरघात के आघात के बावजूद भी अपने-अपने गढ़ बचाने में कामयाब रहे। सबसे ज्यादा घमासान राजनीति के चाण्क्य रहे पं. सुखराम के गढ़ सदर विस क्षेत्र में था। जहां भाजपा के मंडलाध्यक्ष श्याम लाल ठाकुर बगावत कर निर्दलीय रूप से चुनाव मैदान में उतरे थे। वहीं कांग्रेस के प्रत्याशी अनिल शर्मा की घेराबंदी के लिए सबसे अधिक नौ उम्मीदवार चुनाव मैदान में थे। भाजपा के डीडी ठाकुर की ओर से अभी नहीं तो कभी नहीं का नारा भी नहीं चल पाया। उधर, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष एवं मुख्यमंत्री पद के दावेदार कौल सिंह ठाकुर अपने ही गढ़ में घिर गए थे, मगर भितरघात के बावजूद भी वे आठवीं बार जीत का परचम फहराने में कामयाब रहे। वहीं भितरघात से आहत महेंद्र सिंह भी धर्मपुर में जीत का छक्का लगाने में कामयाब रहे। मंडी जिले की हिमाचल की सियासत में अहम भूमिका रही है, मगर यह पहला मौका है, जब मंडी में कांग्रेस और भाजपा के बीच बराबरी पर छूटा है।

Spotlight

Most Read

Jammu

बॉर्डर पर पाकिस्तान ने फिर की ना'पाक' हरकत, RS सेक्टर में सीजफायर का उल्लंघन

बॉर्डर पर पाकिस्तान ने एक बार फिर से नापाक हरकत की है। जम्मू-कश्मीर में आरएस पुरा सेक्टर में पाकिस्तान की ओर से सीजफायर का उल्लंघन किया है।

19 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: हिमाचल में भारी बर्फबारी, कड़ी मशक्कत के बाद निकाले जा रहे हैं वाहन

जम्मू कश्मीर और हिमाचल के कई इलाकों में जमकर बर्फबारी हो रही है। बर्फबारी की वजह से दोनों ही राज्यों में पारा काफी ज्यादा गिर गया है और जगह जगह रास्ते बंद हो गए हैं।

14 दिसंबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper