राजनीति से बिगड़ रहा महासंघ का स्वरूप

Mandi Updated Wed, 21 Nov 2012 12:00 PM IST
मंडी। हिमाचल प्रदेश अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ जिला इकाई की ओर से स्थापना दिवस के उपलक्ष्य पर मंगलवार को एनजीओ भवन भ्यूली में बैठक आयोजित की गई। इसमें महासंघ की गतिविधियों व भावी रणनीति पर गहन चरचा की गई। बैठक की अध्यक्षता महासंघ के प्रदेश महामंत्री एनआर ठाकुर ने की।
बैठक को संबोधित करते हुए एनआर ठाकुर ने कहा कि महासंघ का 47वां स्थापना दिवस मनाते हुए आज हमें गर्व महसूस हो रहा है। 47 वर्षों के लंबे पड़ाव में महासंघ ने कई उतार चढ़ाव देखे हैं। इस बीच कभी सरकार महासंघ के आगे झुकती रही तो कभी महासंघ को सरकार के आगे नतमस्तक होना पड़ा। उन्होंने कहा कि महासंघ की वर्तमान प्रणाली में सुधार लाने और भविष्य की रणनीति बनाने से पहले हमें महासंघ के इतिहास को समझने की जरूरत है।
उन्होंने कहा कि महासंघ के नेताओं द्वारा सक्रिय राजनीति में रुचि दिखाने से महासंघ का स्वरूप बिगड़ने लगा है। महासंघ के कई टुकड़े करने में कर्मचारी नेता ही अहम भूमिका निभा रहे हैं। एनआर ठाकुर ने कहा कि कुछ स्वार्थी तत्वों ने महासंघ को कमजोर करने में अपनी पूरी ताकत लगा दी है। जो महासंघ कभी सब सरकारों के लिए चुनौती का प्रतीक था, वही आज अपने अस्तित्व की जंग लड़ रहा है। उन्होंने कर्मचारी नेताओं से आत्म केंद्रित, स्वार्थ सिद्धि सोच और सक्रिय राजनीति में दखल देने से दूर रहने का आह्वान किया ताकि महासंघ के गैर राजनीतिक स्वरूप को बचाया जा सके। बैठक में कर्मचारियों ने दिवंगत कर्मचारी नेताओं को याद कर श्रद्धांजलि अर्पित की। इस मौके पर कर्मचारियों ने महासंघ को मजबूत करने का संकल्प लिया। बैठक में महासंघ के अतिरिक्त महासचिव चेत राम ठाकुर, संगठन सचिव अमरजीत शर्मा, उपप्रधान अशोक ठाकुर, मुख्य प्रेस सचिव मुनीष, उप सचिव सतीश ठाकुर व सदर इकाई के वरिष्ठ उप प्रधान रविंद्र शर्मा आदि कर्मचारी मौजूद थे।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाले के तीसरे केस में लालू यादव दोषी करार, दोपहर 2 बजे बाद होगा सजा का ऐलान

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: हिमाचल में भारी बर्फबारी, कड़ी मशक्कत के बाद निकाले जा रहे हैं वाहन

जम्मू कश्मीर और हिमाचल के कई इलाकों में जमकर बर्फबारी हो रही है। बर्फबारी की वजह से दोनों ही राज्यों में पारा काफी ज्यादा गिर गया है और जगह जगह रास्ते बंद हो गए हैं।

14 दिसंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls