कहीं सूख न जाए बंजार के खेत

Kullu Updated Sat, 08 Dec 2012 05:30 AM IST
कुल्लू। बंजार घाटी की एकमात्र सिंचाई कूहल से चार महीनों से पर्याप्त पानी न मिलने के कारण किसान परेशान हैं। दो महीनों से सूखे की मार झेल रहे इलाके के किसानों की इस समस्या और उनके फसल के नुकसान के दर्द को किसी ने नहीं समझा है।
बंजार के खेत-खलियान सिंचाई से प्यासे न हो इसके लिए हिम ऊर्जा विभाग ने हाइड्रम सिस्टम भी लगाए थे। लेकिन वह भी शो पीस बने हुए हैं। कुछ हाइड्रम तीर्थन नदी में आई बाढ़ से बह जाने से इनका नामोनिशान तक मिट गया है। बंजार की एक मात्र मंगलौर-खंडेरी कूहल की सुध लेने वाला कोई नहीं है। ऐसे में इस कूहल से सिंचित होने वाले खेत-खलियानों में महीनों से पानी नहीं पहुंचा है। इसका असर मंजा, खंड़ेरी, रतवाह तथा सीहड़ा गांव के लोगों को भुगतना पड़ रहा है। किसानों की सैकड़ों बीघा भूमि सूखे की मार झेल रही है। बंजार के पर्यावरण चिंतक दौलत भारती का कहना है कि एक मात्र मंगलौर-खंडेरी सिंचाई कूहल में किसानों के खेतों को पानी नहीं आना चिंता का विषय है। कहा कि कूहल किसानों की सुविधा के लिए निकाली है तो इसमें पानी की नियमित रूप से सप्लाई होनी चाहिए। कहा कि बंजार इलाके में सिंचाई सुविधा का हाल बेहाल है।
उन्होंने कहा कि अगर यहां के किसान किसी तरह से सब्जी का उत्पादन कर रहे हैं तो वह उनकी कड़ी मेहनत का नतीजा है। कहा कि दशक पूर्व यहां सिंचाई सुविधा को लेकर हिम ऊर्जा विभाग ने हाइड्रम सिस्टम लगाए थे। इसमें कुछ नदी-नालों में आई बाढ़ की वजह से बह गए तो कुछेक विभागीय अनदेखी के चलते मात्र शोपीस बने हुए हैं। ग्रामीण श्याम दास, केवल राम, प्रेम दास तथा नार सिंह ने कहा कि कूहल में पानी की सप्लाई बंद रहने से कूहल का लाभ किसानों को नहीं मिल पा रहा। कहा कि विभाग को इस ओर ध्यान देना चाहिए।

ढंग से काम कर रही है कूहल
सिंचाई कूहल सही ढंग से काम कर रही है। विभाग किसानों की मांग के तहत की पानी की सप्लाई करता है। किसानाें को और पानी की आवश्यकता है तो विभाग से इस बारे में बात की जा सकती है।
बीएल गुप्ता एक्सइएन आईपीएच शमशी कुल्लू दो

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

बर्फ से ढकी हिमाचल की सड़कों पर पहली बार चली ये खास मशीन

हिमाचल प्रदेश ऊंचे इलाकों में बर्फबारी लगातार हो रही है। इस कारण रास्ते जाम हो गए हैं। इस हालात से निपटने के लिए पहली बार स्नो कटर का इस्तेमाल हो रहा है यहां के जलोड़ी दर्रा नेशनल हाईवे पर।

17 दिसंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls