बौद्ध धर्म के इतिहास पर अंतरराष्ट्रीय गोष्ठी

Kullu Updated Mon, 13 Aug 2012 12:00 PM IST
केलांग। प्रदेश के जनजातीय क्षेत्र लाहौल घाटी में बौद्ध धर्म के इतिहास को खंगालने के लिए दो दिवसीय अंतरराष्ट्रीय अखिल भारतीय परिसंवाद गोष्ठी का आयोजन किया गया। लाहौल महाबौद्धी सभा ने इस संगोष्ठी का आयोजन किया। अंतरराष्ट्रीय परिसंवाद गोष्ठी में देश के अलावा विदेशों से आए बौद्ध धर्म के जानकारों ने अपने विचारों और शोध कार्याें से आम जनमानस को रूबरू करवाया।
शशुर गोंपा के मठाधीश कुंगा रिपोंछे ने दीप प्रज्ज्वालित कर संगोष्टी का विधिवत शुभारंभ किया। इस दौरान लामाओं ने पवित्र धुनों का मंगलाचरण गाया। लाहौल महाबौद्धी सभा के महासचिव नवांग उपासक ने परिसंवाद गोष्ठी में शरीक हुए बुद्धिजीवियों का स्वागत किया। परिसंवाद के पहले सत्र में डा. टशी पलजोर ने लाहौल में छम नृत्य, थुबतल ज्ञलसन नेगी ने लाहौल में ज्योतिष प्रथा, अमेरिका से आए नन एनी कलदन वांगमों ने लाहौल में अपने बौद्ध धर्म के अनुभवों को सांझा किया। इतिहासकार छेरिंग दोरजे ने धर्म पर अपना शोध पत्र प्रस्तुत किया। पनगां बौद्ध बिहार के मुखिया लामा ज्ञुरमेद दोरजे ने लुलजुंग लिंगपा की जीवनी पर प्रकाश डाला। कलजंग छोकिद ने बौद्ध धर्म और भोटी भाषा को लेकर अपना लेख पेश किया। इस भाषा के भीतर देश की पुरातन संस्कृति और इतिहास का रहस्य छुपा है। परिसंवाद गोष्ठी के दूसरे सत्र में बुद्ध धर्म को लेकर विद्वानों और आम जनमानस के बीच खुली चर्चा की गई।
इस मौके एसपी लाहौल सुनील कुमार, एसडीएम केलांग राजकृष्ण ठाकुर, सीएमओ डा. शमशेर पुजारा समेत कई अधिकारी मौजूद रहे। परिसंवाद गोष्टी के आयोजक शास्त्री वांगचुग ने बताया कि उन्होंने दो धर्मों के संगम स्थली त्रिलोकनाथ मंदिर के इतिहास को लेकर एक शोध पत्रिका प्रकाशित की है। जिसको लेकर धर्म में रूचि रखने वाले बुद्विजीवियों ने विशेष दिलचस्पी दिखाई है।

बाक्स-
केलांग। बौद्ध धर्म के इतिहास को लेकर केलांग में आयोजित हो रही अंतरराष्ट्रीय परिसंवाद गोष्ठी में विद्वानों की ओर से पेश किए गए तमाम शोध पत्रों को अब किताब का शकल दिया जाएगा। काईस बौद्ध स्कूल के प्रधानाचार्य डा. टशी पलजोर ने बताया कि संस्था इन शोध पत्रों को लेकर जल्द ही एक पुस्तक प्रकाशित करेगी। जो आने वाली पीढ़ी के लिए बौद्ध धर्म को समझने और जानने के लिए मददगार साबित होगी।

Spotlight

Most Read

Kanpur

बाइकवालाें काे भी देना हाेगा टोल टैक्स, सरकार वसूलेगी 285 रुपये

अगर अाप बाइक पर बैठकर आगरा - लखनऊ एक्सप्रेस वे पर फर्राटा भरने की साेच रहे हैं ताे सरकार ने अापकी जेब काे भारी चपत लगाने की तैयारी कर ली है। आगरा - लखनऊ एक्सप्रेस वे पर चलने के लिए सभी वाहनों को टोल टैक्स अदा करना होगा।

17 जनवरी 2018

Related Videos

बर्फ से ढकी हिमाचल की सड़कों पर पहली बार चली ये खास मशीन

हिमाचल प्रदेश ऊंचे इलाकों में बर्फबारी लगातार हो रही है। इस कारण रास्ते जाम हो गए हैं। इस हालात से निपटने के लिए पहली बार स्नो कटर का इस्तेमाल हो रहा है यहां के जलोड़ी दर्रा नेशनल हाईवे पर।

17 दिसंबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper