कांगड़ा में कांग्रेस

Kangra Updated Fri, 21 Dec 2012 05:32 AM IST
दस सीटों पर वीरभद्र के समर्थक काबिज
मेजर की हार से जिला को सियासी नुकसान
भाजपा की चूक का बखूबी उठाया फायदा
अमर उजाला ब्यूरो
धर्मशाला। हिमाचल की सत्ता में अहम भागेदारी निभाते आए कांगड़ा के लगभग साढ़े नौ लाख मतदाताओं ने अपना फैसला सुना दिया है। प्रदेश के इस सबसे बड़े जिला में कांग्रेस ने 10 अहम सीटें हासिल कर सत्ता की दहलीज पर कदम रख दिया है। दिलचस्प तो यह है कि कांग्रेस के कद्दावर जीएस बाली को छोड़ चुनकर आए सभी नौ विधायक कांग्रेस प्रदेश प्रमुख वीरभद्र सिंह के खासमखास हैं।
वीरभद्र सिंह के सिपहसालारों में सुधीर शर्मा, सुजान सिंह पठानिया, नीरज भारती, यादवेंद्र गोमा, किशोरी लाल, संजय रतन, अजय महाजन और जगजीवन पाल शामिल हैं। पालमपुर से वरिष्ठ कांग्रेसी बीबीएल बुटेल भी हालांकि वीरभद्र के करीबी रहे हैं। एक अरसे तक अलग रहे बुटेल के वीरभद्र से मतभेद भी अब पुरानी बात हो गए हैं। लिहाजा सरकार के मुखिया की दौड़ में शामिल वीरभद्र सिंह को एक बार फिर कांगड़ा मजबूती देगा। मगर इस बीच सत्ता के लिए एक हुए वीरभद्र के पुराने सहयोगी दिग्गज मेजर विजय सिंह मनकोटिया की हार से कांगड़ा को सियासी नुकसान झेलना पडे़गा। कांग्रेस में मंत्री पद के दावेदार मेजर मनकोटिया 22364 वोट हासिल कर मौजूदा विधायक एवं मंत्री सरवीण चौधरी से 3123 मतों से हार गए। बहरहाल, सत्ता विरोधी लहर और भाजपा के कथित गलत टिकट आवंटन की चूक का कांग्रेस ने कांगड़ा में भरपूर फायदा उठाया। कई सीटों पर भाजपा के बागियों ने ही सरकार की लुटिया डुबोई। जबकि भाजपा टिकट के दो प्रबल दावेदार कांगड़ा से पवन काजल और इंदौरा से मनोहर धीमान जीत हासिल करने में कामयाब रहे हैं। भाजपा ने इन्हें अगर टिकट दी होती तो दो भाजपा की झोली में दो और सीटें होतीं।

जनादेश स्वीकार : किशन कपूर
भाजपा की सरकार में उद्योग मंत्री रहे किशन कपूर ने हार को स्वीकारते हुए कहा कि भाजपा ने पांच साल में प्रदेश में अहम विकास करवाया है। इसमें कोई शक नहीं। लेकिन जनादेश के आगे कोई कुछ नहीं कर सकता। उन्होंने कहा कि उन्हें जनादेश स्वीकार्य है। विपक्ष में भी विस क्षेत्र धर्मशाला और प्रदेश के हितों की आवाज को बुलंद रखा जाएगा।

मुझे समय कम मिला : मनकोटिया
शाहपुर से कांग्रेस की टिकट पर चुनाव लड़े पूर्व मंत्री विजय सिंह मनकोटिया ने खुद की हार की मुख्य वजह समय कम मिलना बताया। उन्होंने कहा कि अचानक सियासी समीकरण बदले और उन्हें कांग्रेस ने टिकट से नवाजा, जिसके लिए वह सदैव आभारी हैं। लेकिन इतने कम समय में वह हर मतदाता के पास नहीं पहुंच सके। लेकिन कांग्रेस को बढ़त पर वह शाहपुर समेत प्रदेश के तमाम मतदाताओं का आभार व्यक्त करते हैं।

हार की जिम्मेवारी लेते हैं : राकेश
कांगड़ा-चंबा संसदीय क्षेत्र के भाजपा मीडिया प्रभारी राकेश शर्मा ने हार की नैतिक जिम्मेवारी लेते हुए कहा कि लोकतंत्र में जनादेश सर्वोपरि है। उन्होंने कहा कि जिला की जनता ने हिमाचल में सत्ता परिवर्तन की रिवायत को आगे बढ़ाया है। भाजपा के विकास पर कोई संदेह नहीं।

Spotlight

Most Read

Varanasi

बिरहा प्रतियोगिता के चयन पर उठ रहे सवाल

बिरहा प्रतियोगिता के चयन पर उठ रहे सवाल

22 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: अब ये खास अंडरवियर बचाएगी बहू-बेटियों की आबरू

साल 2016 में देश में सबसे ज्यादा रेप के मामले उत्तर प्रदेश से सामने आए। अब यूपी की ही एक बेटी ने एक महिलाओं की इज्जत-आबरू को बचाने का बेड़ा उठाया है। इस बेटी ने एक ऐसा अंडरवियर बनाया है जो रेप प्रूफ है। देखिए क्या है इसकी खासियत।

11 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper