मिलावटी खाने से बीमार हुए तो मिलेगा मुआवजा

Kangra Updated Mon, 03 Dec 2012 05:30 AM IST
धर्मशाला। मिलावट पर अब न केवल दुकानदार व संबंधित कंपनी को जुर्माना और कारावास होगा, बल्कि मिलावटी खाद्य पदार्थ के सेवन से मृत्यु होने या बीमार होने पर पीड़ित को मुआवजा भी देना पड़ेगा। स्वास्थ्य विभाग ने खाद्य वस्तुओं में मिलावट के बढ़ते मामलों पर अंकुश लगाने को यह कड़ा कदम उठाया है।
नकली एवं मिलावटी खाद्य वस्तुओं के सेवन से उपभोक्ता की मृत्यु होने पर पांच लाख तथा बीमार होने पर तीन लाख रुपए मुआवजा मिलेगा। इससे पहले मिलावटखोरी पर कंपनसेशन का कोई प्रावधान नहीं था। स्वास्थ्य महकमे के अधिकारी पूर्व में व्यापारिक प्रतिष्ठानों में खाद्य वस्तुओं के केवल सैंपल लेकर जांच के लिए कंपोजिट टेस्टिंग लैब कंडाघाट भेजते थे। वहीं सैंपल के फेल होने पर दोषी से महज जुर्माना वसूला जाता था। फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड एक्ट के सख्ती से हो रहे पालन से उपभोक्ताओं को काफी राहत मिल रही है। मिलावटखोर पर इस एक्ट के तहत एक से दस लाख जुर्माने के साथ कारावास का प्रावधान है।
कांगड़ा जिला खाद्य सुरक्षा अधिकारी मनजीत सिंह जरियाल ने मिलावटी खाद्य वस्तुओं के सेवन से उपभोक्ता के बीमार होने पर मुआवजा मिलने की पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड एक्ट के तहत अब मिलावटखोर का बचना मुश्किल है। जिला खाद्य सुरक्षा अधिकारी ने बताया कि मिलावटी खाद्य वस्तुएं बेचने पर अब न केवल जुर्माना और कारावास होगा। बल्कि नकली खाद्य वस्तुओं के सेवन से उपभोक्ता के बीमार होने पर दोषी दुकानदार व कंपनी को बीमारी के इलाज के लिए व मृत्यु होने पर मुआवजा भी देना पड़ेगा। उन्होंने बताया कि इस एक्ट के लागू होने से उपभोक्ताओं को काफी राहत मिली है।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: अब ये खास अंडरवियर बचाएगी बहू-बेटियों की आबरू

साल 2016 में देश में सबसे ज्यादा रेप के मामले उत्तर प्रदेश से सामने आए। अब यूपी की ही एक बेटी ने एक महिलाओं की इज्जत-आबरू को बचाने का बेड़ा उठाया है। इस बेटी ने एक ऐसा अंडरवियर बनाया है जो रेप प्रूफ है। देखिए क्या है इसकी खासियत।

11 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls