नौ मई से संघर्ष का ऐलान

Kangra Updated Mon, 07 May 2012 12:00 PM IST
नगरोटा बगवां (कांगड़ा)। विभिन्न स्कूलों में कार्यरत पैट अध्यापकों का सरकार को दिया अल्टीमेटम खत्म हो गया है। पैट अध्यापकों ने अब सरकार के खिलाफ सीधे जंग का ऐलान कर दिया है। नौ मई से पैट अध्यापक संघर्ष का बिगुल फूंक देंगे।
नगरोटा बगवां खंड के अध्यक्ष रणजीत सिंह सियाल की अध्यक्षता में रविवार को पैट अध्यापकों की बैठक हुई। उन्होंने कहा कि साढ़े चार साल से प्रदेश सरकार से इस वर्ग को जेबीटी का मूल वेतन देने के अलावा आठ वर्ष का कार्यकाल पूरा करने पर नियमित करने की मांग की जा रही है। प्रदेश सरकार ने 28 मार्च को शिमला में भी ग्रामीण विद्या उपासकों की भांति नीति बनाने का आश्वासन दिया था। संघ के प्रतिनिधिमंडल ने पांच मई तक का सरकार को मांगों को पूरा करने का अल्टीमेटम दिया था। लेकिन, दुख की बात है कि अल्टीमेटम की अवधि खत्म हो गई है और सरकार ने इस वर्ग के साथ न्याय नहीं किया है। लिहाजा अब पैट अध्यापकों के पास सरकार से आर पार की लड़ाई लड़ने के अलावा कोई दूसरा विकल्प शेष नहीं बचा है। इसलिए बैठक में सर्व सम्मति से नौ मई से संघर्ष का बिगुल बजाने का निर्णय लिया है। संघ के अध्यक्ष ने बताया कि महंगाई के इस दौर में 4500-6000 रुपए में पैट अध्यापकों को परिवार का भरणपोषण करना मुश्किल हो गया है।
बैठक में इकाई सचिव रणजीत कौशल, कोषाध्यक्ष रविंद्र, प्रेस सचिव, जगदीश्वर सिंह, मुख्य सलाहकार बलवंत चौधरी, उत्तम सिंह, कमलजीत, सुरेंद्र सिंह तथा विजय समेत अनेक पैट अध्यापक मौजूद थे।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाले के तीसरे केस में लालू यादव दोषी करार, दोपहर 2 बजे बाद होगा सजा का ऐलान

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: अब ये खास अंडरवियर बचाएगी बहू-बेटियों की आबरू

साल 2016 में देश में सबसे ज्यादा रेप के मामले उत्तर प्रदेश से सामने आए। अब यूपी की ही एक बेटी ने एक महिलाओं की इज्जत-आबरू को बचाने का बेड़ा उठाया है। इस बेटी ने एक ऐसा अंडरवियर बनाया है जो रेप प्रूफ है। देखिए क्या है इसकी खासियत।

11 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls