पहले कार्तिक का चेला पार करता है डल झील

Chamba Updated Sat, 22 Sep 2012 12:00 PM IST
भरमौर (चंबा)। सचूंई गांव के त्रिलोचन महादेव के वशंज एवं शिव के चेले मणिमहेश के लिए रवाना हो गए हैं। शनिवार को चेले धनछो से मणिमहेश के लिए रवाना होंगे। ये चेले डल झील को पार करने के बाद आम श्रद्धालुओं के स्नान के लिए डल झील को खोलते हैं। मान्यता है कि पवित्र डल झील पर सबसे पहले कार्तिक का चेला पार करता है उसके बाद शिव के चेले डल झील को पार करते हैं। जब ये चेले डल झील में जाते तो उस समय नजारा काफी भक्तिमय हो जाता है। सभी श्रद्धालु भोले बाबा के जय जयकार करते हैं। इन जयकारों से चेलों को उत्साह मिलता है। भगत उन्हें झील से निकलने के बाद उन्हें अपने कंधों में उठाकर ले जाते हैं। उनसे फिर वाक प्राप्त करते हैं। ऐसा भी माना जाता है कि जिन घरों में कलह, कलेश और ऐसे दंपति जिनकी संतान नहीं होती है, चेलों से आशीर्वाद लेकर घर की ओर रवाना होते हैं और सुख की प्राप्ति करते हैं। इनका वाक भगवान शंकर का वाक माना जाता है। इस दौरान चेलों की ओर से दिया गया वाक पूरा होता है।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

हिमाचल प्रदेश की जनता ने तोड़े पुराने रिकॉर्ड, हुआ 74.45% मतदान

हिमाचल प्रदेश विधानसभा की 68 सीटों के लिए हुए मतदान में कुल 74% मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। मतगणना 18 दिसंबर को होगी। रिपोर्ट में देखिए हिमाचल प्रदेश में हुए मतदान की सारी जानकारी।

10 नवंबर 2017