नप उपाध्यक्ष ने डीसी पर जड़ा दुर्व्यवहार का आरोप

Chamba Updated Tue, 18 Sep 2012 12:00 PM IST
चंबा। नप के उपाध्यक्ष जितेंद्र सूर्या ने उपायुक्त डा. सुनील चौधरी के व्यवहार पर रोष जाहिर किया है। उन्होंने बताया कि वह जब समस्त पार्षदों के साथ उपायुक्त से शहर के विकास कार्य को लेकर मिलने पहुंचे तो उनके साथ दुर्व्यवहार किया गया। उन्होंने इस पर रोष जाहिर करते हुए इस व्यवहार पर माफी न मांगे जाने पर डीसी कार्यालय के बाहर प्रदर्शन करने की धमकी दी है।
नप के उपाध्यक्ष जितेंद्र सूर्या ने कहा कि इससे पहले भी उपायुक्त नप की अध्यक्ष से इसी तरह का व्यवहार कर चुके हैं। आम जनता जो भी उपायुक्त के पास अपनी समस्या को लेकर आती है, तो उपायुक्त का उनके साथ भी ऐसा ही व्यवहार करते हैं। डीसी चंबा लोगों की समस्याएं सुनने की बजाए उनके साथ ऐसा व्यवहार करते हैं। इस तरह से उनके साथ भी ऐसा व्यवहार किया गया है। इसकी शिकायत मुख्यमंत्री प्रो. प्रेम कुमार धूमल व प्रदेश के मुख्य सचिव से की जाएगी। अगर उपायुक्त चंबा ने अपने इस व्यवहार के लिए नगर परिषद से माफी नहीं मांगी तो समस्त नप सदस्य उपायुक्त कार्यालय के बाहर प्रदर्शन करेंगे। इस मौके पर पवन नैय्यर, योगेंद्र शर्मा, महिंद्र हांडा, अंजू देवी, रवि कुमार, अमृता, तीर्थ सिंह, अमीन मलिक व अन्य उपस्थित थे।

इंसेट......
उपायुक्त डा. सुनील चौधरी ने बताया कि जिस समय नप उपाध्यक्ष उनसे मिलने पहुंचे, कुछ लोग उन्हें अपनी समस्या के बारे में बता रहे थे। उन्होंने कहा इस पर उन्होंने नप उपाध्यक्ष को थोड़ी देर बाहर इंतजार करने को कहा था। उपायुक्त ने कहा कि वह नप उपाध्यक्ष को व्यक्तिगत तौर पर नहीं जानते हैं। इस समय वह कार्यालय में आए, उन्हें लगा कि कोई रूटीन में उनसे मिलने आया है। इसलिए उन्हें पहले से मौजूद लोगों की बात सुनने तक इंतजार करने को कहा गया था। उन्होंने 13 सितंबर को एक पत्र जारी करके नगर परिषद के पार्षदों से दो साल के कार्यकाल में किए गए विकास कार्यों का ब्यौरा तलब किया था। साथ ही उनसे प्लानिंग के तहत जारी किए गए धन का हिसाब भी मांगा गया था। पार्षदों के आने की सूचना नहीं है।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

हिमाचल प्रदेश की जनता ने तोड़े पुराने रिकॉर्ड, हुआ 74.45% मतदान

हिमाचल प्रदेश विधानसभा की 68 सीटों के लिए हुए मतदान में कुल 74% मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। मतगणना 18 दिसंबर को होगी। रिपोर्ट में देखिए हिमाचल प्रदेश में हुए मतदान की सारी जानकारी।

10 नवंबर 2017