एफआईआर वापस न ली तो होगा चक्का जाम

Chamba Updated Wed, 29 Aug 2012 12:00 PM IST
चंबा। धुलाड़ा रोड पर हुए बस हादसे के दौरान विधायक की गाड़ी तोड़ने के मामले में की गई गिरफ्तारियों को ग्रामीणों ने राजनीतिक ईर्ष्या से की गई कार्रवाई करार देते हुए मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल से गुहार लगाई है। इस मामले में पुलिस ने आधा दर्जन लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। इनमें तीन सरकारी कर्मचारी भी शामिल हैं। एक को तो संगीन धाराओं के तहत गिरफ्तार किया गया था। उसे कोर्ट से जमानत मिल गई है। इस संबंध में ग्रामीणों का एक प्रतिनिधिमंडल उपायुक्त डा. सुनील चौधरी से मिला और उनके माध्यम से मुख्यमंत्री को पत्र भेजा। इसमें कहा गया है कि 11 अगस्त को हुई दुर्घटना में सरकारी बस बंद किए जाने के चलते 53 लोगों की जान चली गई थी और 46 लोग घायल हुए थे। इस दौरान कुछ लोगों ने गुस्से में आकर विधायक बीके चौहान की गाड़ी से तोड़ फोड़ की थी। ग्रामीणों ने कहा कि जहां इस हादसे के शिकार लोगों के घरों में शौक छाया हुआ है, वहीं, विधायक की गाड़ी तोड़ने के मामले में बेकसूर लोगों पर झूठी एफआईआर लिखवाकर उन्हें और परेशान किया जा रहा है। पुलिस की इस कार्रवाई से भड़के ग्रामीणों ने चेतावनी दी है कि अगर झूठी एफआईआर वापस न ली गई तो चक्का जाम कर विरोध प्रदर्शन किया जाएगा।
मंगलवार को गुवाड़ से दिनेश कुमार और अनिल कुमार, दल्ली से विपिन, डाबरा से रविंद्र कुमार, पंचायत उपप्रधान गागला नरेश, सवांर से जोगिंद्र, अनु और योगराज, गागला से कल्याण सिंह, नूर हुसैन, थरेड़ से कालू राम, देशराज और पवन कुमार, परोह से अनिल कुमार सहित काफी संख्या में ग्रामीण उपायुक्त कार्यालय पहुंचे और उनके माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजा। ग्रामीणों ने बताया कि विधायक को अपनी गाड़ी के नुकसान की चिंता पड़ी है, मगर जो दर्जनों घर बर्बाद हुए, उनके लिए शोक जताने तक नहीं जा पाए हैं। उन्होंने कहा कि विधायक की गाड़ी को लेकर दर्ज एफआईआर में पुलिस ने जानबूझ कर सरकारी कर्मियों और लोगों को गिरफ्तार किया है। इतना ही नहीं कर्मचारियों को सस्पेंड करवाने के लिए भी दबाव बनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जब सरकारी बस को बंद किया गया था, तो ग्रामीणों ने विधायक और आरएम से काफी फरियाद की थी। तब वे इतने सक्रिय नहीं हुए थे, अब गाड़ी टूटी है तो इसका बदला लेने के लिए चुनिंदा लोगों को फंसाया जा रहा है।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

हिमाचल प्रदेश की जनता ने तोड़े पुराने रिकॉर्ड, हुआ 74.45% मतदान

हिमाचल प्रदेश विधानसभा की 68 सीटों के लिए हुए मतदान में कुल 74% मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। मतगणना 18 दिसंबर को होगी। रिपोर्ट में देखिए हिमाचल प्रदेश में हुए मतदान की सारी जानकारी।

10 नवंबर 2017