नमी से मुरझाने लगे सेब के फूल

Chamba Updated Wed, 02 May 2012 12:00 PM IST
भरमौर (चंबा)। भरमौर में मौसम ठंडा होने से सेब के पौधों में फूलों की सेटिंग न होने के कारण बागवानों के चेहरे मुरझा गए हैं। इस बार सेब की फ्लावरिंग के समय से ही रोजाना सुबह धूप और दोपहर के बाद अचानक मौसम ठंडा हो जाने के कारण पौधों से सेब के फूल मुरझा से गए हैं। भरमौर से हर साल करोड़ों रुपये का सेब भरमौर से बाहर भेजा जाता है। हर साल मणिमहेश मेले के दौरान हड़सर से लेकर गैहरा तक जगह-जगह सड़कों पर करोड़ों रुपये का सेब बागवान बेचते हैं। इस बार मौसम के बेरुखी के कारण बागवानों को दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। उपमंडल में सेब की पैदावार से ही बागवानों के घर का खर्चा चलता है। सेब की पैदावार अच्छी हो तो बागवानों के घर का साल भर का खर्चा निकल जाता है। बाहर से आने वाले कामगाराें को रोजगार और गाड़ी मालिकों को भी रोजगार मिलता है।
बागवानाें फगण राम, छांगा राम, तिलक राज, नरेश कुमार, प्रताप चंद, कृष्ण, प्रहलाद, ओम प्रकाश, चतरो, नानक, सुनील चंद, दौलत राम, बलदेव और संसार का कहना है कि दिसंबर माह में अच्छी बर्फबारी होने के कारण अच्छी पैदावार की उम्मीद जगी थी। अब सेब के फूलाें की सेटिंग के समय मौसम की मार ने बागवानों की उम्मीदों पर पानी फेर दिया है। गौर रहे कि उपमंडल भरमौर के उलांसा, खणी, मलकोता आदि गांवाें के सेब की विदेश भर में अलग पहचान है। उधर, उपनिदेशक डा. दीपक वर्मा का कहना है कि तूफान और मौसम में नमी के कारण सेब में फूल की सेटिंग पर असर पड़ रहा है।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

हिमाचल प्रदेश की जनता ने तोड़े पुराने रिकॉर्ड, हुआ 74.45% मतदान

हिमाचल प्रदेश विधानसभा की 68 सीटों के लिए हुए मतदान में कुल 74% मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। मतगणना 18 दिसंबर को होगी। रिपोर्ट में देखिए हिमाचल प्रदेश में हुए मतदान की सारी जानकारी।

10 नवंबर 2017