युवा तुर्कों ने शुरू की ‘कसरत’

Bilaspur Updated Fri, 28 Dec 2012 05:30 AM IST
ख़बर सुनें
बिलासपुर। विपक्ष में रहते हुए जनहित से जुड़े जिन मुद्दों को लेकर आवाज बुलंद की जा रही थी, सत्ता में आने के फौरन बाद कांग्रेस के युवा विधायकों ने उन पर संज्ञान लेने के लिए ‘कसरत’ तेज कर दी है। वीरवार सुबह सदर के विधायक बंबर ठाकुर ने बिलासपुर अस्पताल का आकस्मिक दौरा किया। मरीजों से व्यवस्थाओं का जायजा लेकर उन्होंने अस्पताल प्रबंधन को आवश्यक दिशा-निर्देश भी दिए। वहीं, दोपहर के समय मुख्य संसदीय सचिव राजेश धर्माणी ने भी अस्पताल का औचक निरीक्षण किया।
सदर के विधायक बंबर ठाकुर वीरवार सुबह करीब साढ़े नौ बजे अचानक अस्पताल जा पहुंचे। अस्पताल प्रबंधन को इसकी सूचना उनके पहुंचने के बाद मिली। जब तक अधिकारी पहुंचते, बंबर ने क्रमबद्ध रूप से सभी वार्डों में जाकर मरीजों का कुशलक्षेम पूछने के साथ ही उनसे व्यवस्थाओं के बारे में जानकारी जुटाना शुरू कर दिया था। अधिकांश मरीजों ने व्यवस्थाआें पर संतोष जताया। अलबत्ता डाक्टरों और अन्य स्टाफ की कमी की बात अवश्य सामने आई। बंबर ठाकुर ने नर्सों को हिदायत दी कि वे मरीजों के साथ सही व्यवहार करें। उनके मधुर व्यवहार से ही रोगियों की आधी बीमारी ठीक हो जाती है। इस तरह की शिकायतें अक्सर सुनने को मिलती रहती हैं कि रात के समय मरीजों के तीमारदारों को नर्सों को ढूंढने के लिए भटकना पड़ता है। वह न केवल दिन, बल्कि आधी रात के समय भी व्यवस्थाओं का जायजा लेने के लिए अस्पताल पहुंच सकते हैं। इस तरह की कोई शिकायत नहीं मिलनी चाहिए। विभिन्न मुद्दों को लेकर उन्होंने कई आंदोलन किए हैं। जनता ने मौका दिया है। उन कमियों को दूर करने में कोई कसर बाकी नहीं छोड़ी जाएगी। पर्याप्त चिकित्सकों और अन्य स्टाफ की समुचित व्यवस्था की जाएगी। उन्होंने अस्पताल प्रबंधन व स्टाफ के साथ बैठक करने के लिए 3 जनवरी का दिन भी तय किया। उसमें सभी मुद्दों पर चरचा की जाएगी।
उधर, मुख्य संसदीय सचिव पद पर ताजपोशी के बाद वीरवार को बिलासपुर पहुंचे घुमारवीं के विधायक राजेश धर्माणी ने भी दोपहर के समय अस्पताल का रुख किया। मरीजों से बातचीत करने के साथ ही उन्हाेंने सफाई व्यवस्था का जायजा लिया। उन्होंने अस्पताल में मिलने वाली सभी दवाइयों की सूची अंगरेजी और हिंदी में प्रदर्शित करने के लिए कहा। उन्हाेंने अस्पताल में नजर आई खामियों में सुधार के लिए अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश भी दिए। इससे पहले उन्होंने सर्किट हाउस में डीसी और एसपी के साथ बंद कमरे में गुफ्तगू करते हुए जन हित से जुडे़ मसलों पर चरचा भी की।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Chandigarh

फैसले से पहले आसाराम केस के अहम गवाह महेंद्र ने बताया जान का खतरा, मांगी सुरक्षा

आसाराम व इसके पुत्र नारायण साईं के खिलाफ चल रहे केसों में अहम गवाह पानीपत के गांव सनौली निवासी महेंद्र चावला ने एक बार फिर दोनों से अपनी व अपने परिवार की जान को खतरा बताया है।

25 अप्रैल 2018

Related Videos

ये वीडियो देखकर आपकी आंखे फटी रह जाएंगी

हिमाचल प्रदेश में एक बड़ा हादसा होते-होते बच गया। यहां एक स्टीमर को पानी में उतारने के लिए लाई गई मशीन ही पानी में गिर गई। देखिए जरा ये तस्वीर।

17 दिसंबर 2017

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen