कांग्रेस के बागियों ने तोड़ा रामलाल का सपना!

Bilaspur Updated Fri, 21 Dec 2012 05:32 AM IST
बिलासपुर। पिछले चुनाव में नयनादेवी विधानसभा क्षेत्र के इतिहास में पहली बार ‘कमल’ खिलाने वाले रणधीर शर्मा इस दुर्ग पर इस बार भी भगवा फहराने में सफल रहे हैं। पांच साल पहले तक कांग्रेस का मजबूत किला माने जाने वाले नयनादेवी क्षेत्र में कांग्रेस के दिग्गज नेता एवं पूर्व मंत्री रामलाल ठाकुर को इस बार भी शिकस्त झेलनी पड़ी है। विस चुनाव में लगातार दूसरी बार मिली यह हार उनके राजनीतिक भविष्य के लिए खतरे की घंटी मानी जा सकती है।
पूर्व में कांग्रेस का गढ़ माने जाने वाले नयनादेवी विस क्षेत्र में पिछले चुनाव में रणधीर शर्मा ने पहली बार भगवा फहराकर इतिहास रचा था। उन्हाेंने वर्ष 1993, 1998 व 2003 के चुनाव में जीत की हैट्रिक बनाने वाले कांग्रेस के रामलाल ठाकुर को अपनी सियासी ‘गुगली’ पर बोल्ड करके विजय का चौका लगाने से रोका था। पिछली बार 4954 मतों से हार का मुंह देखने वाले रामलाल के लिए यह चुनाव जहां प्रतिष्ठा का सवाल बना हुआ था। रणधीर के सामने जीत का सिलसिला बरकरार रखने की चुनौती थी। आखिर इस जंग में भी बाजी रणधीर ने मार ली।
वीरवार को मतगणना के पहले राउंड में रणधीर शर्मा ने करीब 300 मतों की बढ़त हासिल की, लेकिन दूसरे, तीसरे व चौथे राउंड में उनसे आगे निकलते हुए रामलाल ठाकुर ने साढ़े सोलह सौ से अधिक मतों की बढ़त बना ली। अलबत्ता, पांचवें राऊंड से वापसी करते हुए रणधीर ने नौवें व आखिरी राउंड तक अपना दबदबा कायम रखा। पिछली बार की तुलना में उनकी बढ़त सिमटकर 1385 रह गई, लेकिन वह जीत का सेहरा अपने सिर बांधने में कामयाब रहे। कांग्रेस से बगावत करके निर्दलीय चुनाव लड़ने वाले होशियार सिंह ठाकुर व पूर्ण चंद भाटिया कुल 1313 वोट बटोर ले गए। ऐसे में रामलाल की हार में उनका भी ‘योगदान’ माना जा रहा है। लंबे अंतराल के बाद भाकपा में वापसी करके चुनावी समर में उतरे पूर्व विधायक केके कौशल भी महज 1117 वोट ही हासिल कर पाए।

Spotlight

Most Read

Lucknow

21 साल का साहिल बना पीजीआई थाने का एसओ, टोपी न पहने सिपाहियों की लगाई क्लास

राजधानी के पीजीआई थाने का नजारा शुक्रवार को दो घंटे के लिए बदल गया। शिकायत लिए आए लोग सामने बैठे 21 साल के एसओ को देखकर कुछ देर के लिए ठिठक गए।

19 जनवरी 2018

Related Videos

ये वीडियो देखकर आपकी आंखे फटी रह जाएंगी

हिमाचल प्रदेश में एक बड़ा हादसा होते-होते बच गया। यहां एक स्टीमर को पानी में उतारने के लिए लाई गई मशीन ही पानी में गिर गई। देखिए जरा ये तस्वीर।

17 दिसंबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper