राष्ट्रीय मुद्दों में दब गई स्थानीय समस्याएं

Bilaspur Updated Sat, 03 Nov 2012 12:00 PM IST
घुमारवीं (बिलासपुर)। सत्ता में आया तो फलां काम करूंगा। पूर्व विधायक ने यह नहीं किया या वोह नहीं किया। चुनावी फिजा के शुरूआती दौर में इस तरह के वक्तव्य जरूर सुनने को मिले, लेकिन अब प्रचार अभियान महंगाई, भ्रष्टाचार तक सिमट कर गया। आरोप-प्रत्यारोप की राजनीति में स्थानीय मुद्दे एक तरह से दबकर रह गए हैं।
राजनीतिक दलों ने भले ही स्थानीय समस्याओं, विकास के मुद्दों को लेकर की। लेकिन, ज्यों-ज्यों प्रचार बढ़ता गया स्थानीय मुद्दे दबते चले गए। विधानसभा चुनाव के प्रचार में स्थानीय मुद्दों पर राष्ट्र स्तर के मुद्दे एक तरह से हावी रहे। नेताओं ने परचों के माध्यम से घुमारवीं में औद्योगिक क्षेत्र स्थापित करने, पिछड़ी पंचायतों के लिए सिविल अस्पताल स्थापित करने, सब्जी मंडी, टैक्सी स्टैंड, नया बस स्टैंड, शापिंग कांपलेक्स स्थापित करने, घुमारवीं के लोगों को पूरा वर्ष शुद्ध पेयजल उपलब्ध करवाना व घुमारवीं को एजुकेशन हब बनाने का प्रचार किया है। अब चुनाव प्रचार के चरम तक पहुंचते-पहुंचते महंगाई व भ्रष्टाचार के मुद्दों तक ही प्रचार सीमित हो गया है। पार्टी प्रत्याशियों व स्थानीय नेताओं का फोकस भी स्थानीय मुद्दों से हटकर भ्रष्टाचार और महंगाई पर हो गया है।

किसकी किस्मत चमकाएगा ‘र’
घुमारवीं चुनाव क्षेत्र से मुख्य राजनीतिक दलों द्वारा मैदान में उतारे के प्रत्याशियों के नाम रा से शुरू होते हैं। बल्कि निर्दलीय तौर पर चुनाव लड़ रहे एक प्रत्याशी का नाम भी इसी अक्षर से शुरू होता है। यही नहीं, चुनाव क्षेत्र में दोनों राजनीतिक दलों के स्टार प्रचारक राहुल गांधी व राजनाथ सिंह के नाम भी रा अक्षर से ही शुरू होते हैं। इन सभी अक्षरों की राशि तुला है, जिसका स्वामी शुक्र माना जाता है।
उधर, घुमारवीं से कभी दोनों प्रमुख राजनीतिक दलों के अगुवा रहे कश्मीर सिंह ठाकुर व कर्म देव धर्माणी की राहें अब जुदा-जुदा है। दोनों की राशि मिथुन है। इसका स्वामी बुध को माना जाता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार शुक्र व बुध आपस में परम मित्र ग्रह माने जाते हैं। यहां इन दोनों राशियों के नेता आमने-सामने हैं।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

ये वीडियो देखकर आपकी आंखे फटी रह जाएंगी

हिमाचल प्रदेश में एक बड़ा हादसा होते-होते बच गया। यहां एक स्टीमर को पानी में उतारने के लिए लाई गई मशीन ही पानी में गिर गई। देखिए जरा ये तस्वीर।

17 दिसंबर 2017