उड़नपरी कमलेश की विदाई कर गई गमगीन

Bilaspur Updated Sat, 04 Aug 2012 12:00 PM IST
बिलासपुर। एथलेटिक्स में राष्ट्रीय स्तर पर कई बार स्वर्णिम प्रदर्शन करने के साथ ही अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत का प्रतिनिधित्व कर चुकी बिलासपुर की उड़नपरी कमलेश ठाकुर के निधन से खेल प्रेमियों समेत हर कोई स्तब्ध है। किसी को विश्वास ही नहीं हो रहा है कि बिलासपुर समेत पूरे हिमाचल का नाम रोशन करने वाली उड़नपरी अब इस दुनिया में नहीं है।
बिलासपुर के मरहाणा में ब्याही गई शाहतलाई की कमलेश ठाकुर द्वारा खेल जगत में हासिल किए गए मुकाम अविस्मरणीय हैं। परशुराम अवार्ड, हिमाचल केसरी अवार्ड व हिमोत्कर्ष अवार्ड से विभूषित लंबी दूरी की दौड़ स्पर्धाओं की इस धाविका ने राष्ट्रीय स्तर पर कई बार स्वर्ण व अन्य पदक बटोरे थे। वर्ष 1990 में चंडीगढ़ में आल इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स में उन्होंने 1500 मीटर दौड़ में नया राष्ट्रीय रिकार्ड भी बनाया था। इसके अलावा उन्होंने वर्ष 1989 में लंदन में ट्रेनिंग-कम-कंपीटिशन टुअर, 1990 में हांगकांग में हांगकांग गोल्डन माइल रेस तथा 1995 में सियोल (दक्षिण कोरिया) में इंटरनेशनल रोड रिले रेस में भारत का प्रतिनिधित्व भी किया था।
पूर्व मंत्री एवं हिमाचल कबड्डी एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष रामलाल ठाकुर, घुमारवीं के विधायक राजेश धर्माणी, जिला खेल अधिकारी अरुण शर्मा, कबड्डी संघ के महासचिव नंदलाल ठाकुर, हिमाचल हाकी एसोसिएशन के प्रदेश महासचिव एसपी दास, वरिष्ठ उपाध्यक्ष एडीजीपी पृथ्वीराज, धर्मवीर धामी, उपाध्यक्ष योगेश राणा, आरएस चंबयाल, सुरेश हांडा, सुशील दत्त डोगरा, कोषाध्यक्ष दलीप ठाकुर, सचिव परमजीत सिंह, संयुक्त सचिव अनिल कुमार व जीबी डंगवाल, हाकी प्रशिक्षकों अशोक कुमार, योधराज शर्मा व प्रदीप कालिया, डा. भारत भूषण चब्बा, हैंडबाल संघ के प्रदेश महासचिव नंदकिशोर शर्मा, संजय कौशल, कर्ण चंदेल, खेल प्रशिक्षक अशोक गौतम, मुनीम खान, सरित शर्मा, बैडमिंटन संघ के अध्यक्ष सुनील गुप्ता, विभोर शर्मा, निशांत शर्मा, बिलासपुर कालेज के डीपीई डा. प्रवेश शर्मा, घुमारवीं के प्रवीण रनौट, डीपीई संघ के जिला अध्यक्ष राजकुमार राणा व महासचिव विजय पाल चंदेल तथा नगर परिषद बिलासपुर की अध्यक्ष रजनी शर्मा आदि ने कमलेश ठाकुर के निधन पर गहरा दुख प्रकट करते हुए इसे खेल जगत के लिए अपूरणीय क्षति करार दिया है।

Spotlight

Most Read

Delhi NCR

फुल ड्रेस रिहर्सल आज, यातायात में होगी दिक्कत, कई जगह मिल सकता है जाम

सुबह 10:30 से दोपहर 12 बजे तक ट्रेनों का संचालन नहीं किया जाएगा। कई ट्रेनें मार्ग में रोककर चलाई जाएंगी तो कई आंशिक रूप से निरस्त रहेंगी।

23 जनवरी 2018

Related Videos

ये वीडियो देखकर आपकी आंखे फटी रह जाएंगी

हिमाचल प्रदेश में एक बड़ा हादसा होते-होते बच गया। यहां एक स्टीमर को पानी में उतारने के लिए लाई गई मशीन ही पानी में गिर गई। देखिए जरा ये तस्वीर।

17 दिसंबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper