उठाए मासूम बच्चे का नहीं लगा सुराग

Bilaspur Updated Mon, 30 Jul 2012 12:00 PM IST
नयनादेवी (बिलासपुर)। नयनादेवी के कोलांवाला टोबा से गत शुक्रवार रात धर्मशाला(सराय) से उठाए गए मासूम बच्चे का अभी तक कोई सुराग नहीं मिला। पुलिस मामले की गहन छानबीन कर रही है। मासूम बच्चे के माता-पिता द्वारा दिए गए बयान पर संदिग्ध दंपत्ति का स्कैच तैयार करने के लिए पंजाब के अमृतसर से स्कैच एक्सपर्ट बुलाने पर विचार कर रही है।
प्रसिद्ध शक्तिपीठ श्री नयनादेवी क्षेत्र के कोलांवाला टोबा से गत शुक्रवार रात को एक धर्मशाला से उत्तराखंड के कनखल जिला हरिद्वार के रहने वाले राम विलास का पांच माह का मासूम बच्चा चोरी हो गया था। मासूम बच्चा अपनी मां के साथ सो रहा था। लेकिन अभी तक बच्चे के बारे में पुलिस को कोई सुराग नहीं मिला।
मासूम बच्चे के पिता राम विलास ने पुलिस को बयान दिया कि बच्चा चोरी होने से दो दिन पहले ही एक अधेड़ दपत्ति उनके परिवार से मित्रता बनाने की कोशिश कर रहा था। साथ ही बच्चे के प्रति स्नेह व्यक्त कर रहे थे। बच्चा चोरी के बाद से यह दंपत्ति भी गायब है। राम विलास के अनुसार उक्त दंपत्ति परिवार ने खुद को पंजाब के संगरूर जिले के रहने वाला बताया। पुलिस ने राम विलास के बयान के मुताबिक संदिग्ध दंपत्ति का स्कैच बनाने की तैयारी में जुट गई है। इसके लिए अमृतसर से स्कैच एक्सपर्ट भी बुलाने पर विचार चल रहा है।
पुलिस अधीक्षक संतोष पटियाल ने बताया कि मासूम बच्चे के गायब होने मामले की पुलिस गहन छानबीन कर रही है। बच्चे के माता-पिता ने संगरूर के रहने वाले एक दंपत्ति पर शक जताया है। इस बारे में संगरूर के एसएसपी से संपर्क किया जाएगा। कोट थाना के एसएचओ की अगुवाई में पुलिस टीम संगरूर भेजी जाएगी। संदिग्ध दंपत्ति का स्कैच तैयार किया जाएगा।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाले के तीसरे केस में लालू यादव दोषी करार, दोपहर 2 बजे बाद होगा सजा का ऐलान

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

ये वीडियो देखकर आपकी आंखे फटी रह जाएंगी

हिमाचल प्रदेश में एक बड़ा हादसा होते-होते बच गया। यहां एक स्टीमर को पानी में उतारने के लिए लाई गई मशीन ही पानी में गिर गई। देखिए जरा ये तस्वीर।

17 दिसंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls